Loading...    
   


CM शिवराज सिंह ने मध्य प्रदेश से माफी मांगी, कहा लंबी लड़ाई बाकी है

भोपाल
। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज मध्य प्रदेश के नागरिकों को संबोधित करते हुए कहा कि हम चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराने की पूरी कोशिश कर रहे हैं परंतु यदि कहीं कोई कमी रह जाती है तो इसके लिए मैं क्षमा चाहता हूं। बताने की जरूरत नहीं कि मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल सहित लगभग सभी जिलों (जहां पॉजिटिविटी रेट 10% से अधिक है) के सरकारी अस्पतालों में मरीजों को भर्ती करना बंद कर दिया गया है। ऑक्सीजन की कमी के समाचार हर रोज आ रहे हैं। इंजेक्शन की कालाबाजारी अब पुलिस डिपार्टमेंट के FIR रजिस्टर प्रमाणित देखी जा सकती है।

अभी लंबी लड़ाई बाकी है: कोरोना कर्फ्यू पर मुख्यमंत्री ने कहा

आंकड़े प्रस्तुत करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि पिछले 3 दिनों से संक्रमित नागरिकों की संख्या स्थिर बनी हुई है जबकि स्वस्थ होने वाले नागरिकों की संख्या बढ़ती जा रही है। यानी पॉजिटिविटी रेट स्थिर है और रिकवरी रेट बढ़ रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अभी लंबी लड़ाई बाकी है। यह लड़ाई हम घर पर रहकर ही जीत सकते हैं।

छोटे-छोटे कंटेनमेंट जोन बनाएं 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ग्राम पंचायतों और ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों से अपील की है कि यदि किसी के घर में कोरोनावायरस से संक्रमित लोग पाए जाते हैं तो उनके साथ अच्छा व्यवहार करें। उनके घर के आसपास छोटा सा कंटेनमेंट जोन बना दें। उनके भोजन और दवाइयों की व्यवस्था करें। इसी तरह शहरों में भी छोटे-छोटे कंटेनमेंट जोन बनाए जाएं। ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। 

डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ से अच्छा व्यवहार करें: मुख्यमंत्री की अपील 

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने जनता से अपील की है कि कोरोनावायरस के संक्रमण को दूर करने के लिए और संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए काम करने वाले डॉक्टर एवं मेडिकल स्टाफ के साथ अच्छा व्यवहार करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि संकट काल में यही लोग हमारी जिंदगी को बचा रहे हैं। इनके प्रति विनम्र रहना चाहिए।

25 अप्रैल को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here