Loading...    
   


पात्रता परीक्षा पास शिक्षक मुख्यमंत्री से मिलने आए, पुलिस ने रोका, धरना दिया / MP NEWS

भोपाल। मध्यप्रदेश के सरकारी स्कूलों में रिक्त पड़े शिक्षकों के पद भरने के लिए 2018 में शुरू हुई प्रक्रिया सितंबर 2020 तक पूरी नहीं हुई है। सरकार ने शिक्षक पात्रता परीक्षा की घोषणा तो कर दी परंतु नियुक्ति नहीं दी। रिजल्ट के 1 साल बाद जिन उम्मीदवारों को भी स्कूलों में पढ़ाना चाहिए था वह आंदोलन कर रहे हैं। आज शिक्षक दिवस के अवसर पर पात्रता परीक्षा पास शिक्षक मुख्यमंत्री से मिलने आए लेकिन पुलिस ने रोक लिया। प्रदर्शनकारी शिक्षकों ने वहीं पर धरना देना शुरू कर दिया। उनका कहना है कि यदि तत्काल न्याय नहीं मिला तो आंदोलन तेज किया जाएगा।

1 साल में परीक्षा का रिजल्ट आया था, 1 साल हो गया नियुक्ति आदेश जारी नहीं कर रहे

मध्य प्रदेश में शिक्षक पात्रता परीक्षा का रिजल्ट जारी हुए एक साल पूरा हो रहा है। इसके बाद भी अब तक किसी भी चयनित उम्मीदवार को ज्वाइनिंग नहीं दी गई है। स्कूल शिक्षा विभाग और आदिम जाति कल्याण विभाग के तहत 30,594 से अधिक शिक्षकों की ज्वाइनिंग होनी है। कई चयनित उम्मीदवारों ने राज्यपाल को पत्र लिखकर इच्छामृत्यु मांगी थी। उनका यही कहना है कि एक साल से इंतजार कर रहे हैं और इसके पहले एक साल परीक्षा और रिजल्ट में व्यस्त रहे। इस तरह से दो साल गुजर गए।

पात्रता परीक्षा पास शिक्षकों को सीएम हाउस में जल्दी नियुक्ति देने का आश्वासन दिया

चयनित उम्मीदवारों का कहना है कि हम सीएम हाउस गए थे, उन्होंने हमारा ज्ञापन रख लिया है और आश्वासन दिया है कि हमें जल्द ज्वाइनिंग देंगे लेकिन, ऐसे ज्ञापन हम कई मंत्रियों और अफसरों को दे चुके हैं। हमारी केवल एक ही मांग है कि हमारी नियुक्ति का तय समय हमें बताया जाए। अब अगर नहीं सुना गया तो आंदोलन को और तेज करेंगे। उपचुनाव का भी विरोध करेंगे।

कोरोना काल में परिवहन के नाम पर शिक्षकों का डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन रोक दिया था

लोक शिक्षण संचालनालय द्वारा उच्च माध्यमिक शिक्षक भर्ती के 15 हजार पदों के लिए 1 जुलाई से सत्यापन प्रक्रिया शुरू की थी, लेकिन परिवहन की समस्या बताकर इस प्रक्रिया को तीन दिन बाद ही रोक दिया गया। आदिम जाति कल्याण विभाग ने भी उच्च माध्यमिक शिक्षक 2220 का पूरा शेड्यूल जारी कर दिया था, लेकिन यह प्रक्रिया भी रोक दी गई। इसके चलते उम्मीदवारों ने प्रदेशभर के जिला कलेक्टर कार्यालय में जाकर भर्ती प्रक्रिया शुरू कराने का अभियान चला रखा है।

सोशल मीडिया पर #GiveMPTETjoiningOrAllowToDie हैशटैग कैंपेन

सोशल मीडिया पर #GiveMPTETjoiningOrAllowToDie हैशटैग के साथ लाखों ट्वीट कर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान तक अपनी मांग पहुंचाई। कोरोना संक्रमण के प्रोटोकॉल का पालन कर उनसे मिलने की कोशिश भी की गई।

शिक्षक पात्रता परीक्षा के लिए धरना दिया था अब नियुक्ति के लिए आंदोलन करना पड़ रहा है

शिक्षक भर्ती के लिए चयनित हो चुके एक उम्मीदवार आनंद मिश्रा ने बताया कि सितंबर 2018 में भर्ती का नोटिफिकेशन जारी हो चुका है। परीक्षा समय पर नहीं हुई तो उम्मीदवारों ने धरना प्रदर्शन किए। इसके बाद करीब 6 महीने बाद फरवरी-मार्च 2019 में प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (पीईबी) ने पात्रता परीक्षा कराई। इसके बाद लोकसभा चुनाव का बहाना बनाकर 6 महीने तक रिजल्ट अटकाकर रखा।

शिक्षक पात्रता परीक्षा का रिजल्ट 26 अक्टूबर 2019 को आया था

उच्च माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा का रिजल्ट 28 अगस्त 2019 को आया और माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा का रिजल्ट 26 अक्टूबर 2019 को आया। अब रिजल्ट आए हुए 1 साल हो गया है, लेकिन चयनित उम्मीदवारों को नियुक्ति नहीं दी जा रही है।

मध्य प्रदेश शिक्षक भर्ती के मामले में मुख्यमंत्री बयान क्यों नहीं देते

उम्मीदवारों ने बताया कि मप्र में अंतिम बार वर्ष 2011 में हुई संविदा तौर पर शिक्षकों की नियुक्ति की गई थी। इसके बाद वर्ष 2018 में नियमित रूप में शिक्षक भर्ती शुरू की गई जो आज तक पूरी नहीं हो सकी है। उम्मीदवारों ने काेराेना काल में जारी गाइडलाइन का पालन करते हुए पुरजोर तरीके से अपना पक्ष रखा है लेकिन अभी तक स्कूल शिक्षा मंत्री व मुख्यमंत्री द्वारा भर्ती को लेकर मौन हैं। यदि वे सार्वजनिक प्लेटफार्म पर आश्वासन देते हैं तो वे आंदोलन को वापस ले सकते हैं।

05 सितम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

BF ने GF से कैंसर पीड़ित पिता के लिए खून बदले आबरू ले ली
यदि रेल की पटरी में करंट का तार लगा दें तो क्या होगा
वेटिकन सिटी में बच्चे पैदा क्यों नहीं होते?
यदि ब्रांच मैनेजर BANK ACCOUNT CLOSE करने से मना कर दे तो क्या करें
ग्वालियर से माहेश्वरी दंपत्ति फरार, 52 लाख की ठगी का आरोप
JABALPUR- INDORE से 4 प्रमुख ट्रेनों शुरू करने की मंजूरी मिली
SHALBY HOSPITAL ने आधी रात में भर्ती अधिकारी को बाहर निकाला, मौत
MADHYA PRADESH में नई शिक्षा नीति के तहत नया शिक्षा सत्र कब से शुरू होगा, क्या खास होगा, राधेश्याम जुलानिया ने बताया
MP में बसों का 5 महीने का व्हीकल टैक्स माफ किया जाएगा: शिवराज सिंह
मध्य प्रदेश विधान सभा उप चुनाव कब होंगे, चुनाव आयोग ने बताया
BHOPAL NEWS: महिला ग्राहक को पुरुष ट्रायल रूम में भेज दिया फिर ताक-झांक करने लगा
फिक्स डिपॉजिट पर 8% ब्याज देने वाले चार बैंक
BHOPAL: प्रदर्शन कर रहे बेरोजगार को पुलिस ने पीटा, लड़कियों सहित कई गिरफ्तार
CM के खिलाफ नारेबाजी कर रहे 1000 से ज्यादा कर्मचारियों को पुलिस ने खदेड़ा
BHOPAL में पूर्व मंत्री सज्जन वर्मा को सरकारी बंगले से खदेड़ा, स्टोर रूम आवंटित
MP CORONA: 70000 के पार, 30 मौतों के साथ 4 शहरों में हाहाकार, एक पीड़ित ने आत्महत्या कर ली
भाजपा नेता राजपूत की रोड एक्सीडेंट में मौत
BHIND के TDS स्कूल बम मिला, दहशत, 7 अन्य स्कूलों में रखने की धमकी
मध्यप्रदेश में शिक्षकों के 10 लाख से ज्यादा पद खाली, फिर भी नियुक्तियां बंद: सांसद दिग्विजय सिंह
BHOPAL: महिला को लॉकडाउन में मदद करके फंसाया, अनलॉक 4 तक रेप करता रहा
ग्वालियर नगर निगम में नामांतरण विज्ञापन के नाम पर 30 लाख का गबन
शिक्षक दिवस पर सीएम शिवराज सिंह चौहान का संदेश
फसलों के सर्वे में पंचायत के 5 सदस्य भी रखे जाएंगे: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here