Loading...    
   


JYOTIRADITYA SCINDIA का विरोध करने टीकमगढ़ से ग्वालियर आए लड़के गिरफ्तार / GWALIOR NEWS

ग्वालियर। राज्यसभा सदस्य और भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया गुरुवार को ग्वालियर में थे। भाजपा में शामिल होने के बाद श्री सिंधिया दूसरी बार ग्वालियर आए थे। इस बार भी उनके खिलाफ विरोध प्रदर्शन हुआ लेकिन एक बात अजीब थी। विरोध प्रदर्शन करने वाले लड़के टीकमगढ़ से ग्वालियर आए थे। गले में 'लोकतंत्र बचाओ' तख्तियां लटकाए हुए थे। उनके पास इस सवाल का कोई जवाब नहीं था कि विरोध प्रदर्शन करने के लिए टीकमगढ़ से ग्वालियर क्यों आए। 

ज्योतिरादित्य सिंधिया का विरोध करने के लिए टीकमगढ़ से आए

भाजपा में शामिल होने के बाद दूसरी बार ग्वालियर पहुंचे राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया के विरोध में गुरुवार को कुछ युवा 22 बागी पूर्व विधायकों के पुतले लेकर यहां पहुंचे। बुंदेलखंड के टीकमगढ़ जिले स्थित ओरछा से यह युवक लोकतंत्र बचाओ बैनर के तले यहां पहुंचे थे जैसे ही पुलिस को यह खबर लगी तो उन्हें तुरंत पकड़ लिया गया। 

ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ भाजपा का कोई बड़ा चेहरा नहीं था

गुरुवार को सिंधिया निजी कार्यक्रम में शामिल होने यहां पहुंचे हैं। उनके स्वागत के लिए मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, इमरती देवी व हाल ही में कांग्रेस से भाजपा में आए कार्यकर्ता तो दिखे परंतु भाजपा का कोई बड़ा नेता या कार्यकर्ता नजर नहीं आया। 

ओरछा से गाड़ी में 22 पुतले भर कर लाए थे विरोध प्रदर्शन करने वाले

बताया जाता है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के यहां पहुंचने से पहले ही गुपचुप उनके विरोध को लेकर रणनीति तैयार की गई थी। इसी के चलते ओरछा से गाड़ी में 22 पुतले लेकर यहां कुछ लोग पहुंचे। इनको चौराहे पर जलाए जाने की तैयारी थी इससे पहले पुलिस को खबर मिल गई और उन्हें रोक लिया। 

टीकमगढ़ से ग्वालियर ज्योतिरादित्य सिंधिया का विरोध करने क्यों आए, जांच का विषय

अर्धनग्न हालात में पुतले लाए इन युवाओं का कहना था कि वह लोकतंत्र बचाने के लिए प्रदर्शन करना चाहते हैं। सिंधिया की ओर इशारा करते हुए कहा कि राजा महाराजाओं को लोकतंत्र और आम जनता की भावनाओं से कोई मतलब नहीं। उधर पुलिस का कहना है कि बिना इजाजत इस तरह का प्रदर्शन करना गैरकानूनी है। इन युवकों को गिरफ्तार किया गया है। यहां कौन लाया इसको लेकर पूछताछ की जा रही है। अभी कोई बड़ा कांग्रेस नेता इन युवाओं के समर्थन में सामने नहीं आया है। 

कांग्रेस से इस्तीफा देने वाले हैं सभी 22 विधायकों के पुतले रस्सी से बांधकर घसीट रहे थे

कांग्रेस छोडक़र बीजेपी में शामिल हुए 22 पूर्व विधायकों के पुतले रस्सी से बांधकर घसीट कर ले जा रहे थे। पड़ाव पुल पर पुलिस ने गिरफ्तार किया और बल प्रयोग करते हुए छुड़ाए।

04 सितम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

मध्यप्रदेश में 10+2 स्कूल खुलेंगे, प्राइमरी और मिडिल बंद रहेंगे, आदेश जारी
IGNOU EXAM: फाइनल ईयर/ सेमेस्टर के लिए नोटिफिकेशन
गर्मी के पसीने और और व्यायाम के पसीने में क्या अंतर है
चीटियां क्या सचमुच अनुशासन में चलतीं है या फिर एक दूसरे के पीछे चलना उनकी मजबूरी है
BF ने GF से कैंसर पीड़ित पिता के लिए खून बदले आबरू ले ली
खनिज अधिकारी की वाइफ के बंगले में मिनी बार, बाथरूम में AC
जौहरी होटल भोपाल में नाबालिग लड़के-लड़कियों की हुक्का पार्टी
INDORE में वेब सीरीज के नाम पर लड़कियों से न्यूड वीडियो मंगवाए जाते थे
भारतीय ट्रेनों में एसी कोच बीच में क्यों होता है
यदि रेल की पटरी में करंट का तार लगा दें तो क्या होगा
BHOPAL NEWS: महिला ग्राहक को पुरुष ट्रायल रूम में भेज दिया फिर ताक-झांक करने लगा
CM ने चुनाव से पहले ब्यूरोक्रेट्स को खुश करने CPF बढ़ाया, कर्मचारियों का अटकाया
सामान्य कर्मचारियों के प्रमोशन में सुप्रीम कोर्ट का आरक्षण वाला स्टे लागू नहीं: हाई कोर्ट
रस्सी के झूले पर खड़े होकर झूलने से पैरों में झनझनाहट क्यों होती है


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here