Loading...    
   


HDFC BANK के कथित मैनेजर ने खुद को गोली मार ली, बैंक ने कहा वो हमारे कर्मचारी नहीं थे - GWALIOR NEWS

ग्वालियर।
गुरूवार सुबह हजीरा थाना क्षेत्र स्थित माधवी नगर में एक युवक ने अपनी लायसेंसी बंदूक से स्वयं की गोली मारकर जीवन समाप्त कर लिया। आत्महत्या की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर बंदूक को अपने कब्जे में लिया। इस दौरानएफएएसएल की टीम भी साथ रही। अपडेट: इस मामले में एक नया मोड़ भी आया है। पुलिस का कहना है कि मृतक एचडीएफसी बैंक में ब्रांच मैनेजर थे जबकि एचडीएफसी बैंक का कहना है कि वह हमारे कर्मचारी नहीं थे।

पुलिस के अनुसार वह मानसिक तनाव का जीवन जी रहा था, अस्तु इसी से आजिज आकर उसने आत्मघाती कदम उठाया। हजीरा थाना प्रभारी आलोक परिहार ने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि माधवी नगर निवासी स्व.इन्द्रपाल कुशवाह के 39 वर्षीय पुत्र यशपाल सिंह ने अपनी लायसेंसी बंदूक से स्वयं को गोली मार ली। वह सिटी सेंटर स्थित एचडीएफसी बैंक में मैनेजर की पोस्ट पर था। हमने जांच पड़ताल शुरू कर दी है। 

कई दिनों से था तनाव में, पत्नी समझाती थीं
माधवी नगर में यशपाल की मौत की सूचना जैसे ही क्षेत्र में फैली तो उसके घर पर मित्रों और सगे-संबंधियों के आने का सिलसिला शुरू हो गया। हर कोई इस घटना से अवाक था। जानकारी के अनुसार गुरूवार सुबह 11 बजे यशपाल अपने कमरे में आया और अलमारी में रखी 315 बोर की लायसेंस गन निकाली और स्वयं को गोली मार ली। जैसे ही फायर की आवाज आई तो परिजन कमरे की तरफ भागे, यहां का नजारा देख उनके होश उड़ गए। कमरे में खून फैल रहा था। परिजन तुरंत ही घायल यशपाल को अस्पताल लेकर गए, जहां कुछ देर बाद उसकी मौत हो गई। 

पिता ने भी की थी आत्महत्या
जानकारी में सामने आया कि यशपाल के पिता इन्द्रपाल कुशवाह ने भी करीब 12 साल पहले स्वयं को गोली मारकर स्वयं का जीवन समाप्त कर लिया था। वह पिता के इस प्रकार से जाने से कई साल बाद उबर पाया था। उसकी पत्नी ने भी उसे तनाव से बाहर आने की समझाइस दी थी। वह अपने पिता के असमय जाने से भी परेशान रहता था।

स्वर्गीय यशपाल सिंह हमारे कर्मचारी नहीं थे: HDFC BANK

एचडीएफसी बैंक की ओर से रीजनल हेड कॉरपोरेट कम्युनिकेशन श्री संजय ओझा ने बताया कि श्री यशपाल सिंह के निधन पर हम शोक व्यक्त करते हैं परंतु स्पष्ट करना चाहते हैं कि वह एचडीएफसी बैंक के कर्मचारी नहीं थे।

25 सितम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here