Loading...    
   


भोपाल की पॉश कॉलोनी इंडस एंपायर बारिश के पानी में डूब गई, 8 फीट तक पानी भरा / BHOPAL NEWS

भोपाल। राजधानी के शाहपुरा इलाके में बनी पॉश कॉलोनी इंडस एंपायर में बाढ़ के हालात बन गए। बरसात का पानी यहां स्थित 60 घरों में घुस गया। कॉलोनी के घरों में वाटर लेवल 8 फीट तक था। लोगों ने सामान्य से अधिक दाम देकर यहां लग्जरी डुप्लेक्स खरीदे थे। आप सभी अपना माथा पकड़े बैठे हैं। बताया जा रहा है कि पास की कॉलोनी का पानी बहकर इस कॉलोनी में भर रहा है।

SDM आए और आश्वासन देकर चले गए, घरों में रखा पूरा सामान खराब हो गया

शाहपुरा थाने से कुछ दूरी पर बनी पोस्ट कॉलोनी इंडस एंपायर में शनिवार को 8 फीट तक बरसाती पानी भर गया। कॉलोनी में आई बरसाती बाढ़ में 60 परिवार फंस गए। सुबह 11.30 बजे कोलार एसडीएम राजेश गुप्ता और उनकी टीम मौके पर पहुंची। रहवासियों को आश्वस्त किया और वहां से चले गए। रविवार की सुबह जब पानी कम हुआ तो घरों में कीचड़ भरा था। घरों के सोफे, बेड, फ्रिज, कूलर और यहां तक की ड्रेसिंग टेबल तक में पानी भर गया था। 

भोपाल की पोस्ट कॉलोनी इंडस एंपायर में छतों पर फंसे थे लोग, प्रशासन ने नाव भेजकर बचाया

डॉ. संजय दीवान ने बताया कि मैं दोपहर बाद 2 बजे घर आया तो हमारी काॅलोनी में रास्ते से आना संभव नहीं था तो मैं पीछे की काॅलोनी से आया था। साढ़े 9 बजे तक इंतजार करते रहे कि पानी उतर जाएगा, लेकिन जब पानी नहीं कम हुआ तो हमने प्रशासन को फोन किया और यहां पर बोट आईं और हम किसी तरह से छतों से कूदकर बोट में बैठे और रात में दोस्त के यहां शरण ली। अब लौटे हैं तो घर का बुरा हाल है।

पिछले सप्ताह भी 8 फीट तक पानी भर गया था

डॉक्टर दीवान ने बताया कि ये लगातार दूसरा हफ्ता है, जब हमारे घर में पानी 7-8 फीट तक भर गया। पिछले शनिवार और रविवार को भी ऐसा ही हाल हुआ था, एक हफ्ते तक हम घर ठीक करते रहे और अब फिर से पूरे घर में पानी और कीचड़ हो गया है। पत्नी-बच्चे सब परेशान हैं।

पड़ोस की कॉलोनी का एड्रेस के कारण इंडस एंपायर में पानी भरा: दीपेश मेहता

दीपेश मोहता के घर में 7-8 फीट पानी भर गया था। हमारे पड़ोस की एक कालोनी है, जिसका नाम द एड्रेस है। उन्होंने अपनी कॉलोनी का बेस ऊंचा कर लिया है और पानी के निकासी के लिए पाइप भी ऊंचा लगाया है। जिससे हमारी कालोनी में पानी भर गया। 25-26 घरों में पानी ही पानी था। एसडीआरएफ की टीम आई और उनके साथ बोट में बैठकर जाना पड़ा। 

इंडस अंपायर निवासियों का सामान बारिश के पानी में बह गया

परिवार और बच्चों के साथ वह पूरे समय घर का सामान बचाने और उसे दूसरी जगह शिफ्ट करने में जुटे रहे। बारिश रुकने के बाद रविवार को पानी कम हुआ, तो घर की हालत देख सभी ने माथा पकड़ लिया। सड़कों से लेकर घर के अंदर तक कीचड़ ही कीचड़ हो गया। सामान को पलंग और बेड पर रखा गया। जो बचा सकते थे, उसे पहली मंजिल पर शिफ्ट किया गया, जबकि अन्य सामान पानी में बह गया।

रेस्क्यू टीम ने बचाया नहीं तो पता नहीं क्या होता

डॉ. अतुल अग्रवाल ने बताया कि छह महीने में हमारी पड़ोस में एक कालोनी डेवलप हो रही है। उन्होंने अपना बेस इतना ऊंचा कर लिया है कि हमारी कालोनी का ग्राउंड फ्लोर में पानी भर गया, जिससे रेस्क्यू टीम ने बोट में जंप कराके यहां फंसे लोगों को बाहर निकाला गया। यहां पर बुजुर्ग रहते हैं, बच्चे रहते हैं। गली में पानी भरा, इसके बाद घरों में पानी भर गया। अब सुबह हुई तो यहां पर घरों में सामान कीचड़ और पानी सना हुआ है।

सारी रात बाढ़ के पानी से सामान बचाने की कोशिश करते रहे

रहवासियों ने बताया कि इंडस एंपायर में करीब 60 परिवार रहते हैं। बारिश के कारण यहां पर पूरी कॉलोनी के अंदर पानी भर गया। सड़के तो लबालब थी हीं, घरों में भी पानी घुस गया था। पानी बढ़ने पर छोटे-मोटे और पानी में खराब होने वाले सामान को किसी तरह पहली मंजिल पर शिफ्ट किया। कुर्सी-टेबल को पलंग के ऊपर रखा, जबकि भारी सामान को यूं ही छोड़ना पड़ा।

30 अगस्त को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

मध्यप्रदेश कर्मचारियों के इलाज के लिए 93 प्राइवेट अस्पतालों की लिस्ट
संपत्ति की सुरक्षा का अधिकार कब प्रारंभ होता है और कब तक बना रहता है
कपूर आइस्क्रीम की तरह बनाया जाता है या पेड़ पर लगा होता है, हवा में उड़ क्यों जाता है
मध्यप्रदेश में भीषण बाढ़ के बाद 6 जिलों के लिए रेड अलर्ट, 20 जिलों में भारी वर्षा की चेतावनी


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here