Loading...    
   


नर्मदा ने 1973 के बाद 2020 में ऐसा रौद्र रूप दिखाया / MP NEWS

भोपाल। मध्य प्रदेश में बारिश कहर बरपा रही है। होशंगाबाद लगातार बारिश से नर्मदा नदी पर बने तवा, बरगी बांध के गेट खुल चुके हैं। ऐसे में नर्मदा ने अपना रौद्र रूप धारण कर लिया है। नर्मदा नदी खतरे के निशान से 5 फीट ऊपर बह रही है। हालात को देखकर प्रशासन सेना की मदद ले रहा है। 

सेठानी घाट के ऊपर काले महादेव मंदिर तक में नर्मदा का पानी

बताया जा रहा है कि नर्मदा का यह विकराल रूप इससे पहले 1973 में दिखाई दिया था। करीब 47 साल बाद फिर से एक बार पूरा शहर पानी-पानी है। बाढ़ का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि सेठानी घाट के ऊपर मौजूद काले महादेव मंदिर तक में नर्मदा का पानी प्रवेश कर गया है। हालात को देखते हुए सेठानी घाट पर जाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। 

2020 में नर्मदा नदी में बाढ़ क्यों आई

इंदिरा सागर और ओंकारेश्वर बांध के गेट खोलने के बाद नर्मदा ने अपना रौद्र रूप धारण कर लिया है। लगातार बढ़ रहे जलस्तर के कारण खंडवा, खरगोन, बड़वानी और धार जिलों को रेड अलर्ट पर रखा गया है। खंडवा में प्रशासन नर्मदा के किनारे बसे गांवों पर नजर रखे हुए हैं। दोनों बांधों से करीब 10 हजार क्यूसेक प्रति सेकंड की रफ्तार से पानी छोड़ा जा रहा है। इससे नर्मदा का जलस्तर खतरे के निशान तक पहुंच गया है। वहीं, सरदार सरोवर बांध के बैक वाटर में लगातार इजाफा हो रहा है। लोग नाव की मदद से सामान शिफ्ट कर रहे हैं।

29 अगस्त को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार 

क्या आप एक शब्द में भारत की सभी विश्व सुंदरियों के नाम बता सकते हैं
BF ने शादी से मना किया, रेप केस दर्ज / लड़का बोला ब्लैकमेल कर रही है
सऊदी अरब में बारिश क्यों नहीं होती है
ग्वालियर में बिजली कंपनी ने ऊर्जा मंत्री की भाभी को एक करोड़ का फायदा पहुंचाया
मध्य प्रदेश के 6 जिलों में वज्रपात की संभावना, नागरिक सावधान रहें
2 से अधिक बच्चों वाले कर्मचारियों के खिलाफ कार्यवाही के लिए सुप्रीम कोर्ट की हरी झंडी
जब यह इमारत जमीन पर खड़ी है तो इसे 'हवामहल' क्यों कहते हैं
ज्योतिरादित्य सिंधिया के नागपुर प्रवास के बाद कमलनाथ और शिवराज सिंह मिले
इंदौर में पति-पत्नी ने मिलकर किसान को हनीट्रैप का शिकार बनाया
1 सितंबर से स्कूल/कॉलेज खुलेंगे या नहीं, भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया
दूध को दही बनाने वाले चमत्कारी पत्थर में क्या खास है, कहां मिलता है, नाम क्या है
सोयाबीन की फसल को पीली पड़ने से बचाने क्या करें, वैज्ञानिकों की सलाह
जबलपुर मेडिकल हॉस्पिटल में आज दूसरे मरीज ने आत्महत्या की कोशिश की
इंदौर से पटना, भोपाल सहित चार ट्रेनें चलाने की तैयारी
सिंधिया के मोदी कैबिनेट में शामिल होने के आसार
मध्य प्रदेश के 6 जिलों में रेड अलर्ट, 14 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी
होशंगाबाद में बाढ़, सेना बुलाई, मुख्यमंत्री ने दौरा रद्द कर आपात बैठक बुलाई
कमलनाथ ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को 212 करोड रुपए की सरकारी जमीन ₹100 में दी थी
इंदौर से पटना, भोपाल सहित चार ट्रेनें चलाने की तैयारी
भोपाल की निचली बस्तियों में फिर बाढ़, आधी रात को इलाके खाली करवाए


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here