Loading...    
   


भोपाल की निचली बस्तियों में फिर बाढ़, आधी रात को इलाके खाली करवाए / BHOPAL NEWS

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के निचले इलाकों की स्थिति समुद्र किनारे किसी बस्ती जैसी हो गई है। इसी सप्ताह मूसलाधार बारिश के कारण आई बाढ़ से बचने के लिए लोग अपने घरों को छोड़कर सरकारी स्कूलों में आ गए थे लेकिन जैसे ही वर्षा बंद हुई, लोगों ने फिर से तिरपाल तान दिए। बीती रात एक बार फिर बाढ़ आ गई। आधी रात को लोग अपने घरों को तबाह होता छोड़कर जान बचाने के लिए ऊपर की तरफ भागे।

भोपाल में बाढ़ से लोगों को बचाने के लिए प्रशासन ने क्या किया

बीते 24 घण्टे से लगातार हो रही तेज़ बारिश से भोपाल में निचली बस्तियों में पानी भर गया है। जिला प्रशासन ने एक दिन पहले ही निचली बस्तियों में मुनादी कर बस्तियों खाली करा दिया है। लोगों को सुरक्षित जगह पर शिफ्ट करा दिया गया है। तेज़ बारिश के चलते जिला प्रशासन अलर्ट पर है। नगर निगम, एनडीआरएफ एसटीआरएफ की टीम अलर्ट है। लगातार बारिश के बाद भदभदा का 1 व कलियासोत के 3 गेट खोल दिए गए हैं। सीहोर की कोलांस नदी के जल स्तर को देखते हुए डेम के गेट खोले गए हैं। 

भोपाल में भारी बारिश कब तक होती रहेगी

मौसम विभाग का कहना है कि मानसून की विदाई में अभी 24 दिन बाकी है। बंगाल की खाड़ी में बना कम दबाव का क्षेत्र वेलमार्क लो यानी अति कम दबाव के क्षेत्र के रूप में और स्ट्रांग हो गया है। इनकी फ्रीक्वेंसी भी बहुत अच्छी है। ऐसे में दो और तीन सिस्टम अब एक बार फिर से सक्रिय हो गए हैं, जो भोपाल के साथ ही पूरे प्रदेश में बारिश करा रहे हैं। 2 से 3 दिनों तक लगातार प्रदेश भर में तेज बारिश होने के आसार है।

29 अगस्त को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

1 सितंबर से स्कूल/कॉलेज खुलेंगे या नहीं, भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया
सऊदी अरब में बारिश क्यों नहीं होती है 
BF ने शादी से मना किया, रेप केस दर्ज / लड़का बोला ब्लैकमेल कर रही है
मध्य प्रदेश के 6 जिलों में वज्रपात की संभावना, नागरिक सावधान रहें
ज्योतिरादित्य सिंधिया के नागपुर प्रवास के बाद कमलनाथ और शिवराज सिंह मिले
दूध को दही बनाने वाले चमत्कारी पत्थर में क्या खास है, कहां मिलता है, नाम क्या है
सिंधिया के मोदी कैबिनेट में शामिल होने के आसार
स्कूल फीस मामले में CBSE ने मध्यप्रदेश हाईकोर्ट में जवाब पेश किया
क्या आप एक शब्द में भारत की सभी विश्व सुंदरियों के नाम बता सकते हैं, यहां पढ़िए
MPPEB द्वारा स्थगित प्रवेश परीक्षाएं कब से आयोजित की जाएंगी, यहां पढ़िए
पेट में गुटर गुटर क्यों होती है ?
मोबाइल फोन में नंबर डायल करने का सुपर फास्ट तरीका कौन सा है, यहां पढ़िए
भोपाल में ऑनलाइन गेम में हारने पर नाबालिग ने सुसाइड कर लिया
MP IAS TRANSFER LIST / मप्र आईएएस अफसरों के तबादले
इंदौर के 37 कॉलेजों में 50 करोड़ का स्कॉलरशिप फ्रॉड
मध्यप्रदेश में छोटे उपभोक्ताओं का 31 अगस्त तक बिजली बिल माफ
COLLEGE EXAM: जनरल प्रमोशन पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला पढ़िए
ग्वालियर में बिजली कंपनी ने ऊर्जा मंत्री की भाभी को एक करोड़ का फायदा पहुंचाया!
मध्यप्रदेश में महिला कर्मचारियों से नाइट ड्यूटी कराई जाएगी
कर्मचारी को तंग करने जारी अटैचमेंट आदेश पर हाईकोर्ट का स्टे
आरक्षण BREAKING / राज्य सरकार को SC/ST में क्रीमी लेयर बनाने का अधिकार: सुप्रीम कोर्ट


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here