Loading...    
   


मध्य प्रदेश के सरकारी स्कूलों में स्टीम एजुकेशन सिस्टम, 11th की तरह 6th से सब्जेक्ट / MP EDUCATION NEWS

भोपाल। मध्य प्रदेश का स्कूल शिक्षा विभाग एक तरफ 15000 स्कूल बंद करने की योजना पर काम कर रहा है और दूसरी तरफ पहली से लेकर आठवीं तक के बच्चों को दक्षिण कोरिया की तर्ज पर स्टीम मॉडल ((STEAM FULL FORM: SCIENCE, TECHNOLOGY, ENGINEERING, ARTS, MATHS)) से पढ़ाई कराने की तैयारी भी कर रहा है। स्टीम मॉडल का मतलब होता है बच्चों को बचपन से ही प्रोफेशनल स्टडी की शुरुआत करना। मध्यप्रदेश में इसके तहत पहली से आठवीं तक के बच्चों को साइंस, इंजीनियरिंग, मैथ्स, टेक्नोलॉजी और आर्ट के स्पेशल सब्जेक्ट पढ़ाई जायेंगे।

मध्य प्रदेश के 1500 प्राइमरी/मिडिल स्कूल्स में स्टीम मॉडल पायलट प्रोजेक्ट

राष्ट्रीय शिक्षा नीति आने से मप्र स्कूल शिक्षा विभाग ने पढ़ाने की पद्धति में बदलाव लाने की तैयारी शुरू कर दी है। स्टीम मॉडल के जरिए स्कूलों में नैतिक शिक्षा, आर्ट, साइंस, म्यूजिक, पर्सनालिटी डेवलपमेंट, योगा, टेक्नोलॉजी और स्किल डेवलपमेंट की शिक्षा दी जाएगी। इस सत्र से प्रदेश के 1500 प्रायमरी व मिडिल स्कूलों में पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर स्टीम मॉडल को लागू किया जा रहा है। इस संबंध में राज्य शिक्षा केंद्र ने आदेश जारी कर दिए हैं। 

स्टीम मॉडल के लिए टीचर्स को ट्रेनिंग दी जा रही है

पहली से आठवीं कक्षा के लिए सभी विषयों को समायोजित कर वर्कशीट तैयार की जा रही है। इसमें उन स्कूलों का चयन किया गया है, जो मिशन-10,000 के तहत चुने गए हैं। साथ ही जिन स्कूलों के प्राचार्य इस पद्धति को समझने के लिए दक्षिण कोरिया गए थे। इस पद्धति को पढ़ाने के लिए शिक्षकों को ऑनलाइन प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है।

मिडिल क्लास लेवल में स्टीम एजुकेशन सिस्टम क्या है

स्टीम मॉडल में दक्षिण कोरिया की तरह स्टूडेंट्स को सभी विषयों को आपस में समायोजित कर पढ़ाया जाएगा, जिससे बच्चों का समग्र विकास हो सके। उदाहरण के तौर पर हिंदी विषय में कला को समाहित करते हुए स्वर व व्यंजन को गीतों में पिरोकर पढ़ाया जाएगा। इसके लिए विभाग ने शंकर महादेवन अकादमी से एक वीडियो तैयार कराया है।

मध्य प्रदेश के सरकारी स्कूलों में कक्षा 6 से स्टूडेंट्स को सब्जेक्ट चुनना होगा

स्कूलों में पहली से पांचवीं तक हिंदी, अंग्रेजी, गणित के साथ नैतिक, संस्कृति व संस्कार की शिक्षा दी जाएगी। छठवीं से विद्यार्थियों की रुचि के अनुरूप कौशल विकास का प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसमें कम्प्यूटर, तकनीक, कला, अभियांत्रिकी आधारित शिक्षा रहेगी।

कमिश्नर राज्य शिक्षा केंद्र का ऑफिशल स्टेटमेंट

प्रथम चरण में 1500 स्कूलों में स्टीम एजुकेशन सिस्टम लागू क जा रही है। इसमें एक साथ कई विषयों को समायोजित कर पढ़ाया जाएगा। पढ़ाने के लिए किताब और गतिविधि पर आधारित एक वर्कशीट तैयार की जा रही है।
लोकेश कुमार जाटव, आयुक्त, राज्य शिक्षा केंद्र

29 अगस्त को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार 

क्या आप एक शब्द में भारत की सभी विश्व सुंदरियों के नाम बता सकते हैं
BF ने शादी से मना किया, रेप केस दर्ज / लड़का बोला ब्लैकमेल कर रही है
सऊदी अरब में बारिश क्यों नहीं होती है
ग्वालियर में बिजली कंपनी ने ऊर्जा मंत्री की भाभी को एक करोड़ का फायदा पहुंचाया
मध्य प्रदेश के 6 जिलों में वज्रपात की संभावना, नागरिक सावधान रहें
2 से अधिक बच्चों वाले कर्मचारियों के खिलाफ कार्यवाही के लिए सुप्रीम कोर्ट की हरी झंडी
जब यह इमारत जमीन पर खड़ी है तो इसे 'हवामहल' क्यों कहते हैं
ज्योतिरादित्य सिंधिया के नागपुर प्रवास के बाद कमलनाथ और शिवराज सिंह मिले
इंदौर में पति-पत्नी ने मिलकर किसान को हनीट्रैप का शिकार बनाया
1 सितंबर से स्कूल/कॉलेज खुलेंगे या नहीं, भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया
दूध को दही बनाने वाले चमत्कारी पत्थर में क्या खास है, कहां मिलता है, नाम क्या है
सोयाबीन की फसल को पीली पड़ने से बचाने क्या करें, वैज्ञानिकों की सलाह
जबलपुर मेडिकल हॉस्पिटल में आज दूसरे मरीज ने आत्महत्या की कोशिश की
इंदौर से पटना, भोपाल सहित चार ट्रेनें चलाने की तैयारी
सिंधिया के मोदी कैबिनेट में शामिल होने के आसार
मध्य प्रदेश के 6 जिलों में रेड अलर्ट, 14 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here