Loading...    
   


सीएम शिवराज सिंह दिल्ली से बैरंग वापस लौटे, केंद्रीय नेतृत्व को विश्वास में नहीं ले पाए / MP NEWS

भोपाल। करीब 3 दिन तक दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी के सभी प्रमुख नेताओं की परिक्रमा लगाने के बाद मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान बेरंग वापस लौट आए हैं। दिल्ली में उन्होंने कहा था कि भोपाल पहुंचते ही मंत्रियों के बीच विभागों का बटवारा कर दूंगा परंतु भोपाल आकर कह रहे हैं कि अभी एक-दो दिन और विचार करूंगा। संकेत स्पष्ट है, एक बार फिर सीएम शिवराज सिंह चौहान की लिस्ट को बीजेपी की सेंट्रल लीडरशिप का अप्रूवल नहीं मिला।

भाजपा में इस बार सारे फैसले दिल्ली से हो रहे हैं

कुछ साल पहले तक जब कांग्रेस के नेता बयान देते थे कि 'हाईकमान का फैसला ही सर्वमान्य होगा' तब मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के नेता काफी चुटिया लेते थे। दावा करते थे कि भारतीय जनता पार्टी में लोकतंत्र मौजूद है। यहां प्रदेश के फैसले प्रदेश स्तर पर ही लिए जाते हैं परंतु अब बात बदल गई है। सारे फैसले केंद्रीय नेतृत्व द्वारा लिए जा रहे हैं। मंत्रियों की लिस्ट भी दिल्ली से आई थी और अब विभागों की लिस्ट भी दिल्ली से ही आएगी।

दिल्ली की दौड़ शिवराज सिंह के लिए हानिकारक तो नहीं

एक सवाल और भी उठता है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान जो बार-बार दिल्ली जाते हैं और फिर बिना नतीजे वापस आ जाते हैं, कहीं उन के लिए नुकसानदायक तो नहीं। मुख्यमंत्री जैसे पद पर बैठे हुए व्यक्ति के साथ साजिश और राजनीति तो होती ही है, गौर करने वाली बात यह है कि शिवराज सिंह चौहान इस बार अपनी मर्जी का मंत्रिमंडल का गठन करवाने में पूरी तरह से नाकाम रहे। विभागों का बंटवारा मुख्यमंत्री का विशेषाधिकार होता है, लेकिन शिवराज सिंह चौहान यह काम भी अपनी मर्जी से नहीं कर पाए। जो नेता केंद्रीय नेतृत्व को अपने विश्वास में नहीं ले पा रहा, क्या आम कार्यकर्ता उस पर विश्वास बनाए रखेगा।

07 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

ये खूब रही, शिक्षा मंत्री ने सरकार गिरा दी और हाई स्कूल रिजल्ट का क्रेडिट कमलनाथ को
रसोई गैस की आग नीली क्यों होती है, क्या इससे खाना गर्म तो होता है लेकिन पकता नहीं
मेष, मकर और कुंभ राशि वालों के लिए विशेष उपाय, ध्यान से पढ़िए
चुम्बक केवल लोहे को ही क्यों खींचता करता है, पीतल, सोना या चांदी भी तो धातू हैं
मध्य प्रदेश के 5 लाख शासकीय कर्मचारियों की वेतन वृद्धि
रीवा को मंत्री पद नहीं मिला तो क्या एशिया की सबसे बड़ी सौर ऊर्जा परियोजना मिल गई
कोर्ट में यूज होने वाला पेपर हरा और थोड़ा ज्यादा बड़ा क्यों होता है
यदि किसी व्यक्ति को आवेदन देने से रोका जाए तो क्या FIR दर्ज हो सकती है
हद कर दी, घरों में स्कूल लगवा दिए, सरकार संक्रमण फैलाएगी!
यदि कोई दबंग धमकी देकर किसी से अवैध काम करवाए तो FIR किसके खिलाफ दर्ज होगी
BSNL: ₹6.66 में 5Gb डाटा और अनलिमिटेड कॉलिंग +100 SMS
मध्य प्रदेश कोरोना: संक्रमित नागरिकों की संख्या 15000 के पार, 9 जिलों में हालत बेकार
ग्वालियर में 'महाराज' के महल के सामने कमलनाथ कैंप लगाएंगे
कॉलेजों में जनरल प्रमोशन नहीं देंगे, परीक्षाएं होंगी: UGC का फैसला


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here