Loading...    
   


मप्र उच्च न्यायिक सेवा के रिजल्ट हाई कोर्ट डिसीजन के अधीन रहेंगे / JABALPUR NEWS

जबलपुर। एडवोकेट श्री मृगेंद्र सिंह की जनहित याचिका पर फैसले से पहले व्यवस्था देते हुए मध्यप्रदेश हाईकोर्ट की मुख्य पीठ ने 18 जुलाई 2020 को परीक्षा आयोजित करने की अनुमति दे दी। कहा कि मध्य प्रदेश उच्च न्यायिक सेवा परीक्षा के परिणाम विचाराधीन याचिका के अंतिम निर्णय के अधीन किए जाने की व्यवस्था दी है।

बुधवार दिनांक 15 जुलाई 2020 को मुख्य न्यायाधीश अजय कुमार मित्तल व जस्टिस विजय कुमार शुक्ला की युगलपीठ के समक्ष मामले की सुनवाई हुई। इस दौरान अंतरिम आदेश के साथ ही हाई कोर्ट प्रशासन को जवाब के लिए 5 अगस्त तक की मोहलत दे दी गई। जबलपुर निवासी वरिष्ठ अधिवक्ता मृगेंद्र सिंह ने यह जनहित याचिका दायर कर कहा कि मध्य प्रदेश उच्च न्यायिक सेवा (भर्ती तथा सेवा शर्तें) नियम 2017 की धारा (5) (डी) का प्रावधान असंवैधानिक है। 

दरअसल, मप्र उच्च न्यायिक सेवा की भर्ती में 75 फीसदी पद सेवारत न्यायिक अधिकारियों के लिए व शेष 25 प्रतिशत पद वकीलों से भरे जाने हैं लेकिन सेवा नियम 2017 के नियम (5) (डी ) के प्रावधान के तहत व्यवस्था की गई है कि वकीलों के 25 फीसदी पद किसी कारण से न भरे जाने की दशा में बचे हुए पदों पर सेवारत न्यायिक अधिकारियों को भर्ती किया जाएगा।

वरिष्ठ अधिवक्ता सिंह व अधिवक्ता विकास महावर ने दलील दी कि धीरज मोर विरुद्घ दिल्ली हाई कोर्ट के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में दिए गए फैसले में कहा कि अधिवक्ताओं के लिए आरक्षित पद सेवारत अधिकारियों से न भरे जाएं। कर्नाटक व दिल्ली हाई कोर्ट उच्च न्यायिक सेवा की भर्तियों में इस दिशा-निर्देश का परिपालन भी कर चुके हैं। उन्होंने दलील दी कि सेवारत न्यायिक अधिकारियों के लिए आरक्षित 75 प्रतिशत पदों पर किसी भी सूरत में वकीलों को भर्ती नहीं किया जाता। 

ऐसे में वकीलों के कोटे की सीटों पर सेवारत न्यायिक अधिकारियों को नियुक्त करना असंवैधानिक है। आग्रह किया कि इस नियम के तहत वकीलों के आरक्षित 25 फीसदी कोटे में भर्ती किए गए सेवारत न्यायिक अधिकारियों से पद खाली कराए जाएं। सुनवाई के बाद कोर्ट ने उक्त परीक्षा का नियंत्रण करने वाले मप्र हाई कोर्ट प्रशासन को निर्देश दिया कि परीक्षा परिणाम इस याचिका की सुनवाई के दौरान दिए जाने वाले अगले आदेशों के अधीन रहेंगे।

16 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

झूठी शपथ या प्रतिज्ञा लेना किस धारा के अंतर्गत एक दण्डनीय अपराध है जानिए
रेलवे स्टेशन का नाम बताने वाले बोर्ड पर समुद्र तल से ऊंचाई क्यों लिखी रहती है
छींक आने पर मनुष्य की आँखें बंद क्यों हो जातीं हैं
चांद में ऐसा क्या होता है कि उससे टकराकर सूर्य की गर्म किरणें ठंडी चांदनी में बदल जातीं हैं 
प्राधिकृत अधिकारी को प्रश्नों के उत्तर से इनकार करना भी अपराध है, FIR हो सकती है
कथन या वचन पर हस्ताक्षर करने से मना करने पर भी क्या FIR दर्ज हो सकती है
लोहे में जंग क्यों लगती है, पानी में ऐसा क्या होता है जो लोहा गल जाता है
चिंता ना करें मध्य प्रदेश लॉकडाउन नहीं होगा: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान
COLLEGE EXAM के बारे में UGC का नया बयान, राज्य सरकारें जनरल प्रमोशन की घोषणा कर सकती हैं या नहीं
प्यारे मियां गिरफ्तार: भोपाल में हाई प्रोफाइल अय्याशों को लड़कियां सप्लाई करते थे
MPPEB ने सभी परीक्षाओं को रीशेड्यूल करने प्रस्ताव भेजा
DAVV INDORE: 90 कोर्स में एडमिशन शुरू, कोर्स की लिस्ट यहां देखें
जबलपुर अपर आयुक्त की बेटी के विवाह में 21 कोरोना पॉजिटिव, 100 से ज्यादा संदिग्ध
मध्य प्रदेश कोरोना: एक्टिव केस अब तक का सबसे हाई, 5000 से ज्यादा
मंडला नरसंहार: भाजपा नेता सहित परिवार के 6 लोगों को तलवारों से काट डाला
HOTEL GULZAR JABALPUR के मालिक SANJAY BHATIA के खिलाफ मामला दर्ज
MP BOARD 12th: चूक गए छात्रों के लिए विशेष परीक्षा कार्यक्रम
गुना कलेक्टर एवं एसपी हटाए गए, मामला मजदूर की बेरहमी से पिटाई का (वीडियो देखें)


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here