Loading...    
   


देवगुराड़िया शिव मंदिर: ज्योतिर्लिंग की तरह स्वयंभू है यहां का शिवलिंग / INDORE NEWS

इंदौर। दिनांक 6 जुलाई 2020 भगवान शिव का सबसे प्रिय महिना पवित्र श्रावण मास शुरू होने जा रहा है। हम आपको इंदौर के प्राचीन शिव मंदिर के दर्शन करा रहे हैं। देवगुराड़िया स्थित शिव मंदिर अपनी प्राचीनता के साथ ही अपनी मान्यताओं के लिए है ख्यात है। सबसे खास बात यह है कि यहां स्थित शिवलिंग, ज्योतिर्लिंग की तरह स्वयंभू शिवलिंग है। इस शिवलिंग की स्थापना किसी ने नहीं की बल्कि यह अपने आप प्रकट हुआ।

एक हजार साल से भी ज्यादा पुराना

इंदौर बायपास से एनएच 59 बैतूल मार्ग पर देवगुराड़िया पहाड़ी पर भगवान शिव का अद्भुत मंदिर है। यह एक हजार साल से भी ज्यादा पुराना है। माना जाता है, देवगुराड़िया शिव मंदिर और शिवलिंग पूर्व समय में जमीन में दब गया था। बाद में ऊपर से एक मंदिर बनवा दिया गया था।

गरुड़ देव ने यहां कठिन तपस्या की थी

मान्यता है, गरुड़ देव ने यहां कठिन तपस्या की थी, जिसके बाद यहां शिव प्रकट हुए थे और शिवलिंग के रूप में यहीं रह गए। होल्कर रियासत की देवी अहिल्या शिव भक्त थीं, उन्होंने 18वीं सदी में इस प्राचीन शिव मंदिर का जीर्णोद्धार कराया था।

पहाड़ी जल से शिवलिंग का प्राकृतिक जलाभिषेक

हजार साल पुराने इस मंदिर की सबसे खास बात यह है कि यहां हर साल सावन में पहाड़ी जल से शिवजी का प्राकृतिक जलाभिषेक होता है। शिवलिंग के ऊपर की तरफ बने नंदी के मुख से सावन-भादौ में प्राकृतिक जल निकलता है, जो सीधे शिवलिंग पर गिरता है और मंदिर के दरवाजे के बाहर बने अमृतकुंड में भर जाता है। यह सिलसिला जब मंदिर बना था तब से चल रहा है।

सोलह पीढ़ियों से मंदिर की पूजा

पुरी परिवार यहां सोलह पीढ़ियों से मंदिर की पूजा कर रहा है। अब सत्रहवीं पीढ़ी यह दायित्व संभालने के लिए तैयार है। यहां हर साल शिवरात्रि पर भव्य मेला लगता है। मंदिर में पांच कुंड हैं, जिनमें दो कुंडों में लोग स्नान करते हैं। इनमें हमेशा पानी रहता है। मान्यता है, इनका पानी कभी नहीं सूखता है और पूरे गांव की प्यास इसी कुंड से बुझती है।

नाग-नागिन भक्तों को दर्शन देते हैं

मंदिर में भगवान शिव के गण माना जाने वाला नाग का जोड़ा भी रहता है। कभी कुंड में तो कभी शिवालय में ये नाग-नागिन भक्तों को दर्शन देते हैं। मान्यता है, जिस भक्त को इनके दर्शन होते हैं, उसकी सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। 
आप से कितनी दूर है और कैसे पहुंचे जानने के लिए यहां क्लिक करें

05 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

ये खूब रही, शिक्षा मंत्री ने सरकार गिरा दी और हाई स्कूल रिजल्ट का क्रेडिट कमलनाथ को
मध्य प्रदेश: शादी के लिए सज रही दुल्हन की हत्या, बेरहमी से गला काट डाला
CM Sir, हमने विभाग को अवार्ड दिलवाया, हमें ही नौकरी से निकाल दिया
कोर्ट में यूज होने वाला पेपर हरा और थोड़ा ज्यादा बड़ा क्यों होता है
यदि किसी व्यक्ति को आवेदन देने से रोका जाए तो क्या FIR दर्ज हो सकती है
मंत्रिमंडल विस्तार से नाराज अजय विश्नोई ने सीएम शिवराज सिंह को पत्र लिखा
MPTET: कोरोना के नाम पर डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन स्थगित, कहीं कोई साजिश तो नहीं
बहती नदी पर इंजीनियर पुल कैसे बनाते हैं, लोग बरसात में घर नहीं बना पाते
सीएम शिवराज सिंह दिल्ली तलब किए गए, मामला विभागों के बंटवारे का
मध्य प्रदेश के 5 लाख शासकीय कर्मचारियों की वेतन वृद्धि
MP BOARD 10th DISTRICT LEVEL TOPPERS (MERIT) LIST | एमपी बोर्ड 10वीं जिलस्तरीय टॉपर्स की लिस्ट
प्राचीन काल में क्या राजा-महाराजा भी खुले में शौच के लिए जाते थे
ऐसे में लड़कियां TikToker बन जाती हैं लेकिन भोपाल की कर्णिका मिश्रा 10th टॉपर बनी है 
MP IPS TRANSFER LIST 04 JULY 2020 / मध्य प्रदेश आईपीएस अफसरों की तबादला सूची
RGPV: परीक्षा हो ना हो, फीस वसूली पूरी
हत्यारे को बचाने की किसी भी प्रकार की कोशिश अपराध है, पढ़िए FIR में कौन सी धारा दर्ज होगी 
MP BOARD 10th TOPPERS LIST 2020 / State Level Combined Merit List / राज्य स्तरीय टॉपर्स की पूरी लिस्ट
MP Bord 10th TOP 10 में 15 स्टूडेंट्स के नाम
मध्य प्रदेश कोरोना: मुरैना 78, भोपाल 51, इंदौर 34, ग्वालियर 28 चारों तरफ संक्रमण


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here