Loading...    
   


रक्षित केंद्र मंडला में पदस्थ प्रधान आरक्षक से वसूली पर हाईकोर्ट जबलपुर का स्टे / EMPLOYEE NEWS

जबलपुर। श्री जगदीश प्रसाद तेकाम प्रधान आरक्षक रक्षित केंद्र, मंडला में पदस्थ हैं। आरक्षक पद से प्रधान आरक्षक के पद पर, पद्दोन्नति में विलंब होने के कारण, विभाग की  नीति के अनुसार श्री तेकाम को दिनांक 06.08.1999 से एक वेतन वृद्धि प्रदान की गई थी।  सेवा पुस्तिका की जाँच के समय, संयुक्त संचालक, कोष लेखा जबलपुर संभाग द्वारा, दिनाँक 06.08.1999  से प्रदान की गई वेतन वृद्धि पर, आपत्ति लगाई गई थी।

आपत्ति के पालन में, पुलिस अधीक्षक कार्यालय, द्वारा पूर्व के वेतन निर्धारण को निरस्त कर, वेतन पुनर्निधारण किया गया था, परिणाम स्वरूप  श्री तेकाम के वेतन से 12 प्रतिशत ब्याज सहित रुपये 1,14,320 वसूली मासिक किस्तों से करने के आदेश दिनांक 05/03 /2020 एवं 19/03/2020 जारी किये गये थे। 

कर्मचारी द्वारा लिखित रूप से अभ्यावेदन प्रस्तुत कर, वसूली माफी का अनुरोध किया गया था। श्री तेकाम सेवानिवृत्ति के नज़दीक हैं।  उनके द्वारा, जबलपुर उच्च न्यायालय में याचिका दायर की गई थी। उनके  ओर से पैरवी करने वाले, श्री अमित चतुर्वेदी, अधिवक्ता, उच्च न्यायालय, जबलपुर,  के अनुसार, वेतन वृद्धि निरस्तगी जैसी विपरीत कार्यवाही , विहित प्रक्रिया के अनुसार ही हो सकती है। इसके अलावा कर्मचारियों से या उनके द्वारा , किसी भी दुराव या छिपाव  की , अनुपस्थिति में वसूली नही की जा सकती है। दूसरे शब्दों में, अगर कर्मचारी द्वारा कोई गलती नही की गई हो।   उक्त, सिद्धान्त के अनुसार,  माननीय हाई कोर्ट जबलपुर ने , प्रधान आरक्षक के विरुद्ध निर्देशित वसूली को स्टे कर, वित्त विभाग सहित अन्य को दिनाँक 08/07/2020,  को  नोटिस जारी किए गए हैं।

10 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

भोपाल में होटल, कार्यालय, दुकान व धर्मस्थल को बंद किया जाएगा: कलेक्टर
इंदौर में 17 साल छोटे बॉयफ्रेंड ने 45 साल की ब्यूटी पार्लर संचालिका की हत्या की
साबुन कई कलर्स में आते हैं लेकिन उनका झाग हमेशा सफेद क्यों होता है
मेष, मकर और कुंभ राशि वालों के लिए विशेष उपाय, ध्यान से पढ़िए
RGPV EXAM DATE घोषित, UGC की गाइडलाइन के बाद परीक्षा कराने का फैसला
शिवराज सिंह फेल: बाबूलाल गौर को हटाना और कमलनाथ सरकार गिराना, में अंतर समझना चाहिए था
चुम्बक केवल लोहे को ही क्यों खींचता है, पीतल, सोना या चांदी भी तो धातु हैं
संदेशवाहक कबूतर प्राप्तकर्ता का पता कैसे खोज लेते थे, पढ़िए मजेदार रहस्य की बात
यदि कोई मर्जी के बिना नशीली या जहरीली चीज खिला दे तो क्या उसके खिलाफ भी FIR हो सकती है, पढ़िए
विकास दुबे ने गन पॉइंट पर रिचा से लव मैरिज की थी, जान बचाने रिचा का परिवार UP से MP आ गया
विधायकों ने पार्टी छोड़ने से पहले कमलनाथ को बहुत समझाया था: शिवराज सिंह चौहान
रीवा को मंत्री पद नहीं मिला तो क्या एशिया की सबसे बड़ी सौर ऊर्जा परियोजना मिल गई
भोपाल में गाय के साथ दुष्कर्म करने वाला साबिर अली गिरफ्तार
इंदौर में एक ही परिवार के 27 कोरोना पॉजिटिव मिले, पूरा मोहल्ला सील
कैलाश विजयवर्गीय: कार्यकर्ताओं को मोटिवेट करने आए थे, दर्द बयां करके चले गए


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here