Loading...    
   


भाषणबाजी में माहिर शिवराज सिंह, गुटबाजी में फंसकर रह गए, मंत्रियों के बीच विभागों का बंटवारा और कैबिनेट मीटिंग स्थगित / MP NEWS

भोपाल। 45 मिनट तक जनता को बांधे रखने वाला नॉन स्टॉप भाषण देने में माहिर श्री शिवराज सिंह चौहान इस बार मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री तो बन गए परंतु गुटबाजी में फंसकर रह गए। आज गुरुवार को फिर तमाशा बना। कैबिनेट की मीटिंग सुबह 10:00 बजे फिर शाम को तय की गई और अंत में स्थगित कर दी गई। मंत्रियों के बीच विभागों का विभाजन अटक रह गया है।

केंद्रीय नेतृत्व और ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीच आकर खड़े हो गए हैं शिवराज सिंह

भारतीय जनता पार्टी के शिवराज सिंह विरोधी सूत्रों का कहना है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बेवजह समस्या को बड़ा करते जा रहे हैं। इस बार मंत्रिमंडल के सभी फैसले केंद्रीय नेतृत्व को ही करने हैं। मध्यप्रदेश में सत्ता परिवर्तन से पहले केंद्रीय नेतृत्व और ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीच बातचीत हुई थी, सिंह चौहान को इसकी जानकारी तक नहीं थी। सत्ता परिवर्तन में शिवराज सिंह चौहान ने कोई महत्वपूर्ण भूमिका नहीं निभाई, फिर भी मुख्यमंत्री पद मिल गया। अब शिवराज सिंह चौहान बार-बार केंद्रीय नेतृत्व और ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीच बातचीत को बदलने की कोशिश कर रहे हैं।

सिंधिया और शिवराज के बीच तलवारें खिचेंगी

यदि भाजपा सूत्रों के द्वारा प्राप्त हो रही सूचनाओं में थोड़ी भी सत्यता है तो यह सुनिश्चित है कि आने वाले दिनों में मध्य प्रदेश की राजनीति में ज्योतिरादित्य सिंधिया और शिवराज सिंह चौहान के बीच खुली तलवारे लहराती हुई नजर आएंगी। फिलहाल ज्योतिरादित्य सिंधिया निश्चिंत है क्योंकि केंद्रीय नेतृत्व ढाल बनकर उनके साथ खड़ा है परंतु इस खेल में यदि शिवराज सिंह चौहान हार गए तो पूरी भारतीय जनता पार्टी जानती है कि आने वाले दिनों में वह अपनी चाल चलने से झुकेंगे नहीं। कभी-कभी तो शिवराज सिंह चौहान के प्रशंसक भी गर्व के साथ बताते हैं कि उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के कितने नेताओं की फोटो स्टोर रूम में पहुंचा दी है।

09 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

भोपाल में होटल, कार्यालय, दुकान व धर्मस्थल को बंद किया जाएगा: कलेक्टर
इंदौर में 17 साल छोटे बॉयफ्रेंड ने 45 साल की ब्यूटी पार्लर संचालिका की हत्या की
साबुन कई कलर्स में आते हैं लेकिन उनका झाग हमेशा सफेद क्यों होता है
मेष, मकर और कुंभ राशि वालों के लिए विशेष उपाय, ध्यान से पढ़िए
RGPV EXAM DATE घोषित, UGC की गाइडलाइन के बाद परीक्षा कराने का फैसला
शिवराज सिंह फेल: बाबूलाल गौर को हटाना और कमलनाथ सरकार गिराना, में अंतर समझना चाहिए था
चुम्बक केवल लोहे को ही क्यों खींचता है, पीतल, सोना या चांदी भी तो धातु हैं
संदेशवाहक कबूतर प्राप्तकर्ता का पता कैसे खोज लेते थे, पढ़िए मजेदार रहस्य की बात
यदि कोई मर्जी के बिना नशीली या जहरीली चीज खिला दे तो क्या उसके खिलाफ भी FIR हो सकती है, पढ़िए
विकास दुबे ने गन पॉइंट पर रिचा से लव मैरिज की थी, जान बचाने रिचा का परिवार UP से MP आ गया
विधायकों ने पार्टी छोड़ने से पहले कमलनाथ को बहुत समझाया था: शिवराज सिंह चौहान
रीवा को मंत्री पद नहीं मिला तो क्या एशिया की सबसे बड़ी सौर ऊर्जा परियोजना मिल गई
भोपाल में गाय के साथ दुष्कर्म करने वाला साबिर अली गिरफ्तार
इंदौर में एक ही परिवार के 27 कोरोना पॉजिटिव मिले, पूरा मोहल्ला सील
कैलाश विजयवर्गीय: कार्यकर्ताओं को मोटिवेट करने आए थे, दर्द बयां करके चले गए


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here