Loading...    
   


आलिया भट्ट की मां ने नेपोटिज्म को वंश परंपरा बताने की कोशिश की / BOLLYWOOD NEWS

मुंबई। बॉलीवुड में इन दिनों नेपोटिज्म के तीव्र विरोध के बीच फेल हो गए प्रायोजित समर्थन के बाद अब स्टार किड्स के फैमिली मेंबर मोर्चा संभाल रहे हैं। स्टार किड आलिया भट्ट की मां सोनी राजदान ने नेपोटिज्म को वंश परंपरा बताने की कोशिश की है।

नेपोटिज्म का विरोध करने वालों से आलिया भट्ट की मां का सवाल

नेपोटिज्म के मामले पर हाल ही में 'अलीगढ़' और 'सिटीलाइट' फिल्म के डायरेक्टर हंसल मेहता ने बेटे को इंडस्ट्री में लाने पर अपने विचार सामने रखे थे। इसका जवाब देते हुए सोनी राजदान ने लिखा, 'आप किसके बेटे या बेटी हैं लोगों को इससे काफी ज्यादा उम्मीद रहती है। और जो लोग आज नेपोटिज्म पर हल्ला कर रहे हैं और जो खुद से बने हुए हैं उनके भी एक दिन बच्चे होंगे। और तब क्या जब वो भी बॉलीवुड में आना चाहेंगे। क्या आप उन्हें ऐसा करने से रोकेंगे'?

मेरिट काफी अहमियत रखती है: हंसल मेहता

नेपोटिज्म पर ट्वीट करते हुए हंसल मेहता ने लिखा था, 'इस नेपोटिज्म की बहस को और बढ़ाना चाहिए, मेरिट काफी अहमियत रखती है। मेरे बेटे को मेरी वजह से इस दरवाजे में कदम रखने का मौका मिला, और क्यों नहीं लेकिन वो मेरे शानदार काम का हिस्सा रहा है क्योंकि वो टैलेंटेड, अनुशासित और कड़ी मेहनत करने वाला है और मेरी तरह ही वैल्यूज शेयर करता है। ना कि मेरा बेटा है इस वजह से'। इसके आगे डायरेक्टर ने लिखा, 'वो फिल्म इसीलिए नहीं बनाएगा क्योंकि मैं उन्हें प्रोड्यूस करुंगा। मैं शायद ना भी करूं। मगर वो फिल्में बनाना डिसर्व करता है। उसका करियर तभी होगा अगर वो सर्वाइव करेगा। सिर्फ वही है ना कि उसके पिता जिन्होंने उसका करियर बनाया। मेरी परछाई उसके लिए सबसे बड़ा आशीर्वाद है तो बीमारी भी है'। 

नेपोटिज्म क्या है, इसका विरोध क्या हो रहा है 

हर बेटा चाहता है कि उसका पुत्र उसकी जगह पर आकर अपने करियर की शुरुआत करें। एक डॉक्टर अपने बेटे को डॉक्टर बनाना चाहता है और एक वकील अपने बेटे को वकील। एक एक्टर यदि अपने बेटे को एक्टर बनाना चाहता है तो इसमें कोई बुराई नहीं है लेकिन यदि एक एक्टर अपने बेटे को एक्टर बनाने के लिए एक टैलेंटेड एक्टर का काम छीन ले तो इसे नेपोटिज्म कहते हैं। बॉलीवुड में नेपोटिज्म का विरोध हो रहा है, वंश परंपरा का नहीं। जैसा कि डायरेक्टर हंसल मेहता ने कहा मेरिट काफी अहमियत रखती है। किसी अच्छे एक्टर का रोल छीन कर किसी घटिया एक्टर को सिर्फ इसलिए नहीं दिया जाना चाहिए क्योंकि वह सलमान खान का भाई है। फिर भले ही क्यों ना सलमान खान फिल्म फ्लॉप हो जाने पर प्रोड्यूसर के पैसे वापस करने की शर्त रखे।

24 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

इस लड़की से कोई शादी करने को तैयार नहीं था, आज मिलने के लिए अपॉइंटमेंट लेना पड़ता है
कार की विंडशील्ड तिरछी क्यों होती है, जबकि बस में सीधी होती है
जीभ पर कड़वा स्वाद थोड़ी देर से क्यों आता है जबकि मीठा पहले
ग्वालियर में बैरल में फंसी गोली प्रॉपर्टी डीलर के पेट को चीरते हुए पड़ोसी की दीवार में धंसी, मौत
मध्यप्रदेश में क्या 1 जुलाई से स्कूल खुलेंगे, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने बताया
जबलपुर विधायक के दो बैंक खाते खाली कर गए साइबर चोर, माननीय को पता तक नहीं चला
SIHORA: खुले में शौच को गई महिला की हत्या
MPPEB जुलाई में होने वाली परीक्षाएं रद्द, ऑफिशल नोटिफिकेशन का इंतजार
यदि इंटरनेट बैंकिंग के बाद लॉगआउट करना भूल जाएं तो क्या होगा
100% काला रंग क्या सामान्य आंखों से देखा जा सकता है, आइए जानते हैं दुनिया की सबसे काली चीज क्या है
मध्यप्रदेश: शादी के बाद प्यार की सजा, पति को कंधे पर बिठाकर गांव में घुमाया
कमलनाथ नहीं चाहते डॉक्टर गोविंद सिंह नेता प्रतिपक्ष बने
RAISEN से BF संग भागी नाबालिग को इंदौर पुलिस ने पकड़ा तो एसिड पी लिया
NRI लड़की को FB पर लाइक करने की कीमत, 1 क्लिक पर बैंक खाता खाली
मध्य प्रदेश कोरोना: 1100 से ज्यादा इलाकों में संक्रमण, एक्टिव केस 2400 से ज्यादा
जो उपभोक्ता पूरा बिजली बिल जमा कर चुके उनका क्या होगा, यहां पढ़िए
मंत्रिमंडल विस्तार के लिए भाजपा की बैठक के बाद सीएम शिवराज सिंह का बयान
एसबीआई में बंपर नौकरियां, 444 रिक्त पद, तत्काल आवेदन करें
शुक्र ग्रह 25 जून से मार्गी: पढ़िए आपकी राशि पर क्या असर पड़ेगा
BHOPAL: धारा 144 का संशोधित आदेश, पढ़िए क्या राहत मिली, कितने प्रतिबंध लगे
मध्यप्रदेश में कोरोना कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here