Loading...    
   


प्रिय शिवराज, मैने संबल योजना बंद नहीं की थी, अधिक प्रभावी बना दी थी / Khula Khat by KAMAL NATH

प्रिय शिवराज सिंह जी, कोरोना महामारी की पीड़ा की घड़ी में हम सब जनता से साथ हैं और अपने प्रदेश के नागरिकों की बेहतरी के लिए हर संभव प्रयत्न कर रहे हैं। हाल ही में आपने पूर्व से प्रचलित संबल नया सवेरा योजना को पुनः प्रारंभ करने की बात कही है, जबकि इस योजना को कभी बंद ही नहीं किया गया था और कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में तो योजना को और अधिक प्रभावी बनाकर वास्तविक श्रमिकों को लाभ दिया गया।

वर्ष 2018 में आपकी सरकार के कार्यकाल में लगभग 2 करोड़ लोगों को श्रमिकों के रूप में पंजीकृत किया गया था । दिसंबर 2018 में जब मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार ने आकार लिया तब मेरे संज्ञान में लाया गया कि बहुत बड़े पैमाने पर श्रमिकों के नाम पर साधन संपन्न लोगों को इस योजना का लाभ दिया जा रहा है । मुझे यह जानकर बेहद दुख हुआ कि कोई सरकार समाज के अंतिम पंक्ति में खड़े आमजन के हक के साथ धोखा कैसे कर सकती है।

इसके दृष्टिगत ही कि कांग्रेस सरकार ने इस योजना को नया सवेरा के रूप में व्यापक और अधिक रूप से लागू किया था । योजना में अपात्र पाए गए व्यक्तियों के नाम हटाए गए, जिन्हें पूर्व सरकार ने जोड़ा था । इस योजना में हुए भ्रष्टाचार को तत्कालीन श्रम मंत्री और आज के भाजपा नेता महेंद्र सिंह सिसोदिया सार्वजनिक रूप से आज भी स्वीकार कर रहे हैं और आपके संज्ञान में भी उक्त तथ्य लाने का कथन भी कर रहे हैं।

आपने हाल ही में इस योजना में मात्र 1903 श्रमिकों को लाभ दिया है जबकि कोरोना महामारी की इस घड़ी में योजना में पंजीबद्ध कुल श्रमिक  करोड़ों से भी अधिक है, वे लाभ की प्रतीक्षा में है।

हमारे देश के प्रधानमंत्री जी ने नारा दिया है जान भी और जहान भी अर्थात हमें नागरिकों के स्वास्थ्य का ध्यान भी रखना है और उनकी आजीविका का भी । आज हमें सबसे ज्यादा हमारे किसान और श्रमिक भाइयों की आजीविका की चिंता करने की आवश्यकता है। मैंने आपसे पूर्व में भी आग्रह किया है कि हमारे श्रमिक भाइयों के पास बीते डेढ़ माह से अधिक समय से कोई काम नहीं है और उनकी आजीविका संकट में है अतः उन्हें तीन माह का 7500 रुपए प्रति माह की राहत दी जाए।

मैं उम्मीद करता हूं कि आप संबल के नाम पर सिर्फ प्रचार की रस्म अदायगी की अपेक्षा श्रमिकों को आज के समय की मांग अनुरूप न्यूनतम तीन माह तक 7500 रुपए प्रति श्रमिक प्रति माह की राहत प्रदान कर वास्तविक संबल प्रदान करेंगे।
शुभकामनाओं सहित 
आपका, कमलनाथ, अध्यक्ष, प्रदेश कांग्रेस कमेटी

08 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

बर्फ कठोर होता है फिर पानी में डूबता क्यों नहीं, यहां पढ़िए
बस 10 दिन और दे दीजिए: इंदौर कलेक्टर की अपील 
जबलपुर कलेक्टर की हेयर कटिंग सोशल मीडिया पर वायरल
मध्य प्रदेश कोरोना 36वें जिले में, 3701 में से 114 पॉजिटिव
इंडक्शन कुकर गर्म क्यों नहीं होता जबकि हीटर गर्म हो जाता है 
मध्यप्रदेश में ई-पास के संबंध में नये निर्देश
ग्वालियर आउट ऑफ कंट्रोल: शराब की दुकानों के साथ पूरा बाजार भी खुल गया
पूरे भारत में आंधी-तूफान और बारिश की चेतावनी, 72 घंटे मौसम खराब रहेगा 
भोपाल के बाद एलजी गैस कांड: अब तक 8 लोगों की मौत 5000 से ज्यादा प्रभावित 
2018 में बंद किए गए शिवराज सिंह के फोटो वाले संबल योजना कार्ड फिर से एक्टिव 
सचिन अतुलकर को उज्जैन एसपी के पद से हटाया, तीन जिलों के एसपी बदले 
अपराधी यदि आपके बच्चे को किडनैप कर आपसे घोटाला या चोरी करवाए, तो दोषी कौन माना जाएगा 
इंदौर के करोड़पति व्यापारी कोरोना से मौत, परिवार के कई सदस्य पॉजिटिव 
इंदौर में गैस सिलेंडर बांटने वाले की कोराेना से मौत 
क्या इंसान के दिमाग में कंप्यूटर जैसे डीलिट और रिसाइकिल बिन फीचर्स होते हैं 
कोरोनावायरस पूरे मध्यप्रदेश में राहत, उज्जैन में आउट ऑफ कंट्रोल 
कोरोना के नाम पर कर्मचारियों का DA रोक लिया लेकिन IAS का क्यों नहीं रोका
लॉक डाउन की लत लग गई, आदेश के बाद भी ऑफिस नहीं खोले
ट्रेन से कटे शहडोल-उमरिया के 16 मजदूरों को कंपनी वाले घर से ले गए थे 
रेल गाड़ी के इंतजार में पटरी पर लेटे थे, मालगाड़ी गुजर गई, 16 मजदूरों की मौत 
यदि कोई बाहरी व्यक्ति धर्मस्थान को अपवित्र करे तो उसके खिलाफ क्या कार्रवाई होगी, पढ़िए


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here