Loading...    
   


क्या इंसान के दिमाग में कंप्यूटर जैसे डीलिट और रिसाइकिल बिन फीचर्स होते हैं / GK IN HINDI

कहते हैं कंप्यूटर को दिमाग की तरह बनाया गया है। जैसे दिमाग काम करता है वैसे ही कंप्यूटर भी काम करता है। जैसे दिमाग कैलकुलेट करता है वैसे ही कंप्यूटर भी कैलकुलेट करता है। जैसे दिमाग किसी चीज को याद रखता है वैसे ही कंप्यूटर भी किसी जानकारी को याद रखता है अब प्रश्न यह है कि जैसे कंप्यूटर में किसी फोटो/वीडियो (घटना/ यादें) को डिलीट किया जा सकता है और रीसायकल बिन से रीस्टोर किया जा सकता है क्या ऐसा कोई फीचर इंसान के दिमाग में होता है। 

सिक्किम मणिपाल यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएट औरैया उत्तर प्रदेश के विजय सिंह जो पेशे से शिक्षक हैं, बताते हैं कि न्यूरोसाइंस के अनुसार मानव मस्तिष्क में एक न्यूरो सर्किट होता है जिसे आप जितना इस्तेमाल करते हैं यह उतना ही मजबूत हो जाता है। शायद इसीलिए पूर्वजों ने यह दोहा कहा है:
दोहा- करत करत अभ्यास ते जड मत होत सुजान, रसरी आवत जात ते सिल पर पडत निशान।

मानव मस्तिष्क में न्यूरॉन्स के बीच अन्तर्ग्रथनी कनेक्शन को बढ़ा सकते हैं। ग्लियल कोशिकाएं आपके मस्तिष्क में एक माली का काम करती हैं। वे न्यूरॉन्स के बीच सिग्नल को तेज करने के लिए कार्य करती हैं और अन्य ग्लियल कोशिकाएं कचरे को हटाती हैं। आपके मस्तिष्क के कचरे की छंटाई वाली कोशिकाओं को माइक्रोग्लियल कोशिकाएं कहते हैं।

माइक्रो ग्लियल कोशिकाएं उस निशान या चिन्ह का पता लगा लेती हैं तो वे प्रोटीन के साथ बंधकर उसको नष्ट कर देती हैं। इस प्रकार से छंटनी या डिलीट की प्रक्रिया होती है। इसी से एक इंसान नई बातों को सीख पाता है और याद रख पाता है।

कई बार जब हम कई चीजों को याद करते हैं तो पुरानी चीजों को भूल जाते हैं या कई बार कोई चीज हमें याद आती है और थोड़ी देर के बाद हम उसे भूल जाते हैं इससे मतलब साफ हो जाता है कि वह चीजें आपके मस्तिष्क में उपस्थित ग्लियल कोशिकाएं उसे कचरा समझ कर डिलीट कर देती हैं।

इसके बाद जब वे दोबारा से आपको याद आ जाती हैं तो इससे साफ हो जाता है कि वह डिलीट हो जानें के बाद रिसाइकल बिन में सेव हो गई थीं जब यह ग्लियल कोशिकाएं दोबारा संदेश भेजती हैं तो उसे रीसाइकिल बिन से उठाकर दोबारा मस्तिष्क में फिर से सेव कर देती हैं तो वह बात याद आ जाती है। Notice: this is the copyright protected post. do not try to copy of this article
(current affairs in hindi, gk question in hindi, current affairs 2019 in hindi, current affairs 2018 in hindi, today current affairs in hindi, general knowledge in hindi, gk ke question, gktoday in hindi, gk question answer in hindi,)



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here