INDORE NEWS- बहरूपिया कोरोना के नए वेरिएंट का पता 24 घंटे में चल जाएगा

इंदौर।
मध्य प्रदेश में इंदौर एक ऐसा शहर है जहां सबसे ज्यादा कोरोनावायरस के मरीज पाए जाते हैं। पहली लहर और दूसरी लहर में इंदौर में मरीजों की संख्या सबसे ज्यादा रही। कोरोनावायरस बहरूपिया है और बार-बार नए रूप में लोगों को संक्रमित करता है। इसका पता लगाने में काफी देर हो जाती थी परंतु अब ऐसा नहीं होगा।

एमजीएम मेडिकल कॉलेज में शीघ्र ही जीनोम सिक्वेंसिंग की प्रयोगशाला स्थापित होने जा रही है। इसके लिये जल्द ही जरूरी मशीन और उपकरण स्थापित किये जाएंगे। इसके लिये संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा ने टेंडर प्रक्रिया शीघ्र शुरू करने के निर्देश दिए हैं।डॉ. पवन कुमार शर्मा ने आज यहाँ संभाग स्तरीय बैठक में कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के मद्देनजर विभिन्न तैयारियों की समीक्षा की। बैठक में एमजीएम मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. संजय दीक्षित सहित मेडिकल कॉलेज से जुड़े विभिन्न विभागों के विभागाध्यक्ष, संभाग के जिलों के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी तथा विभिन्न चिकित्सा विशेषज्ञ आदि उपस्थित थे।

बैठक में संभागायुक्त डॉ. शर्मा ने कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के मद्देनजर विशेषज्ञों से कोरोना वायरस के स्वरूप के संबंध में चर्चा की। चर्चा के दौरान बताया गया कि अभी विभिन्न स्तरों पर इसका अध्ययन हो रहा है। संभागायुक्त डॉ. शर्मा ने निर्देश दिए कि आगामी बैठक में अध्ययन रिपोर्ट विस्तार से प्रस्तुत की जाये, जिससे कि समय रहते उससे निपटने के लिये आवश्यक तैयारियां की जा सके। बैठक में बताया गया कि इंदौर के एमजीएम मेडिकल कॉलेज में जीनोम सिक्वेंसिंग की प्रयोगशाला बनाई जाना है। इसके लिये नई मशीन और उपकरणों की आवश्यकता है।

डॉ. शर्मा ने निर्देश दिए कि मशीन और उपकरण की खरीदी की प्रक्रिया शीघ्र शुरू करें। टेंडर प्रक्रिया तुरन्त प्रारंभ करें। यह प्रयोगशाला बन जाने से अब इंदौर में ही कोरोना के नये वेरिएंट का पता चल सकेगा। बैठक में बताया गया कि निजी क्षेत्र की लैबों में भी इस तरह की प्रयोगशाला जल्द इंदौर में शुरू होने वाली है। डॉ. शर्मा ने संभाग के सभी जिलों के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देश दिए कि तीसरी लहर के आशंका के मद्देनजर गर्भवती माताओं, नवजात शिशुओं, बच्चों आदि के कोरोना संबंधी उपचार के लिये डॉक्टर्स और पैरामेडिकल स्टाफ को प्रशिक्षित किया जाये। बताया गया कि अधिकांश जिलों में प्रशिक्षण कार्यक्रम प्रारंभ हो गये हैं।

14 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

MP NEWS- मुख्यमंत्री ने स्कूल-कॉलेज खोलने की अनुमति दे दी
मध्यप्रदेश का मानसून गुजरात चला गया, यहां बिजली गिरी वहां बारिश होगी
MP NEWS- सभी अधिकारी कर्मचारी ध्यान दें, राज्यपाल का नाम कैसे लिखना है
MP OBC और EWS आरक्षण को लेकर हाईकोर्ट का अंतरिम आदेश जारी
MP NEWS- मंत्री: होशियार मत बन नहीं तो दूंगा, युवक: प्रचार करने आना तब बताऊंगा
MP HED NEWS- ट्रांसफर, भर्ती और अतिथि विद्वानों के मुद्दे पर समीक्षा बैठक में बात होगी
MP-CPCT EXAM ONLINE APPLICATION शुरू, लास्ट डेट 20 जुलाई

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiगाय को माता क्यों मानते हैं, दूध तो भैंस भी देती है 
GK in HindiDISC BRAKE बाइक के अगले पहिए में क्यों लगाते हैं, पिछले में क्यों नहीं
GK in Hindiकैसे पता करें TV-AC फ्रिज ने 1 महीने में कितनी यूनिट बिजली खर्च की 
GK in Hindiउपहार के लिफाफे में एक रुपया क्यों जोड़ा जाता है, लॉजिक क्या है
GK in Hindi- हिटलर की मूछें टूथब्रश जैसी क्यों थी, योद्धाओं जैसी क्यों नहीं, पढ़िए
GK in Hindiभारत के किस रेलवे स्टेशन का नाम, सबसे बड़ा है, इसमें अंग्रेजी के कुल कितने अक्षर आते हैं 
GK in Hindiसड़क किनारे वृक्षों पर सफेद पेंट क्यों किया जाता है, वैज्ञानिक कारण 
GK in Hindiबर्फ का टुकड़ा पानी में तैरता है तो फिर शराब में क्यों डूब जाता है 
GK in Hindiमुर्गा सूर्योदय से पहले बांग क्यों देता है, कभी लेट क्यों नहीं होता
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here