Hindi News- अमेरिका में COVID के बाद भीषण गर्मी, 116 की मौत, भारत के पास संभलने का आखरी मौका

सेंट्रल डेस्क।
अमेरिका को भारत में विकास का प्रतीक माना जाता है लेकिन इन दिनों अमेरिका में जो हालात हैं, दुनिया का कोई देश ऐसे हालात से जूझना नहीं चाहेगा। कोरोनावायरस से हजारों नागरिकों की मौत के बाद अब भीषण गर्मी के हालात बन गए हैं। सरकारी रिकॉर्ड के अनुसार अब तक 116 लोगों की मौत हो चुकी है। कई इलाकों में आधी रात के बाद भी लू चलती रहती है। भारत के पास समझने का आखरी मौका है। यदि विकास के नाम पर पुराने पेड़ों की कटाई और नदियों के रास्ते बदलने की गतिविधियां बंद नहीं की गई तो भारत में ऐसे हालात से निपटना मुश्किल हो जाएगा।

अमेरिका में जिनके घर में AC नहीं है वह लू से मर रहे हैं

स्‍टेट मेडिकल एग्‍जामिनर ने बुधवार को जो अपडेट लिस्‍ट जारी की है उसके मुताबिक लू की चपेट में आकर मरने वालों में जहां सबसे कम उम्र का व्‍यक्ति 37 वर्षीय था, वहीं सबसे उम्र दराज व्‍यक्ति की उम्र 97 वर्ष थी। पोर्टलैंड के मुल्‍टनोमाह काउंटी में लू का जबरदस्‍त प्रकोप देखा जा रहा है। यहां पर ही इसकी वजह से सबसे अधिक मौतें भी हुई हैं। अधिकारियों का कहना है कि जिन लोगों के पास एयर कंडीशनर नहीं है, वह सबसे ज्यादा प्रभावित हो रहे हैं। अब तक जितने लोगों की मौत हुई है उनमें से एक के भी घर में एयर कंडीशनर नहीं था।

गवर्नर ने एजेंसियों से पूछा: ऐसी इमरजेंसी में क्या करना चाहिए

गवर्नर केट ब्राउन ने सभी एजेंसियों को हालात से मुकाबले के लिए सभी कवायद करने के आदेश दिए हैं। उन्‍होंने एजेंसियों से ये भी पूछा है कि ऑरेगॉन में इस तरह के इमरजेंसी हालात में क्‍या किया जाना चाहिए जिससे हालात सुधर सकें। इसके अलावा उन्‍होंने इस भीषण गर्मी से सरकारी कर्मचारियों और खेतों में काम कर रहे किसानों को बचाने को भी कहा है। 26 जून को यहां पर खेत में काम करने वाले मजदूर की जान भीषण गर्मी की वजह से चली गई थी।

पर्यावरण में परिवर्तन के कारण अमेरिका का मौसम खराब हो गया

पोर्टलैंड का तापमान इस वक्‍त सारे रिकॉर्ड तोड़ रहा है। पिछले तीन दिनों में ही ऑरेगॉन, वाशिंगटन, ब्रिटिश कोलंबिया, कनाडा में हालात काफी खराब हुए हैं। भीषण गर्मी और लू की वजह से अब तक सैकड़ों जानें जा चुकी हैं। मौसम वैज्ञानिकों ने तापमान के इस कदर बढ़ने की वजह क्‍लाइमेट चेंज को माना है। उनका कहना है कि उत्‍तर पश्चिम में तेज दबाव का क्षेत्र बनने की वजह से ऐसा हो रहा है। इसके अलावा क्‍लाइमेट चेंज इसकी एक बड़ी वजह बना है। सिएटल, पोर्टलैंड और दूसरी जगहों पर भी इस वक्‍त पारा पुराने सभी रिकॉर्ड तोड़ रहा है। कई जगहों पर तापमान 115 डिग्री फारेनहाइट तक जा पहुंचा है।

08 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

मध्य प्रदेश मानसून- हवाएं आ गई हैं, बादल आने वाले हैं
MP NEWS- 60 हजार कॉलेज स्टूडेंट्स को रोजगार देने की योजना
MP NEWS- चयनित शिक्षकों ने दस्तावेज सत्यापन प्रक्रिया खत्म करने की मांग की
ज्योतिरादित्य सिंधिया: शपथ ग्रहण के साथ विरोधियों को आलोचना का मौका - MP NEWS
MP NEWS- मंत्री हर्षवर्धन के बाद अब मंत्री प्रभुराम चौधरी पर इस्तीफे का दबाव
DAVV ADMISSION- डिप्लोमा और सर्टिफिकेट सहित UG-PG के 72 से ज्यादा कोर्स में रजिस्ट्रेशन शुरू
MP BOARD- 10th-12th परीक्षा सिस्टम बदलने की तैयारी
MPMSU NEWS- सभी परीक्षाएं निरस्त, पढ़िए अब क्या होगा
MP BOARD- 12वीं का रिजल्ट नहीं अटकेगा, प्रॉब्लम सॉल्व
BHOPAL NEWS- जुबेर मौलाना की गिरफ्तारी के बाद TI लाइन हाजिर SI सस्पेंड
MP NEWS: पति की बेरहमी से हत्या हो गयी, नववधु पास में सोती रही
MP NEWS- भाजपा वाले चाहते हैं जीतू पटवारी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष बने
BHOPAL NEWS- कोरोना मृतकों की राख लोगों की जान बचाएगी

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiभारत के किस रेलवे स्टेशन का नाम, सबसे बड़ा है, इसमें अंग्रेजी के कुल कितने अक्षर आते हैं 
GK in Hindiपानी डालने पर आग क्यों बुझ जाती है जबकि फार्मूला के हिसाब से भड़कना चाहिए
GK in Hindiसौर मंडल के 7 ग्रहों का फायदा ही क्या जब इन पर कोई रह नहीं सकता
GK in Hindi मोर अपना घोंसला कहां बनाता है, पेड़ के ऊपर या किसी गुफा में 
GK in Hindiसड़क किनारे वृक्षों पर सफेद पेंट क्यों किया जाता है, वैज्ञानिक कारण 
GK in Hindiबर्फ का टुकड़ा पानी में तैरता है तो फिर शराब में क्यों डूब जाता है 
GK in Hindiमुर्गा सूर्योदय से पहले बांग क्यों देता है, कभी लेट क्यों नहीं होता
GK in Hindiमनुष्य की दो आंखें क्यों होती है जबकि एक आंख से भी पूरा दिखाई देता है
GK IN HINDI- BIKE का इंजन CC में क्यों होता है, हॉर्स पावर में क्यों नहीं होता
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here