Loading...    
   


GWALIOR NEWS- प्रभारी एसडीओ के यहां छापा, काले धन का कुबेर निकला

EOW raid at Ravindra Kushwaha in charge SDO of PWD Gwalior

ग्वालियर। मध्यप्रदेश शासन की आर्थिक अपराध शाखा ने शुक्रवार सूर्योदय से पहले लोक निर्माण विभाग के प्रभारी एसडीओ रविंद्र कुशवाहा के यहां छापामार कार्रवाई कर डाली। शाम तक कार्रवाई लगातार जारी है। EOW के सूत्रों का कहना है कि अब तक ₹200000000 से ज्यादा का काला धन मिल चुका है। अभी बहुत कुछ मिलना बाकी है।

प्रभारी एसडीओ रविंद्र कुशवाहा के यहां से क्या-क्या मिला

ईओडब्ल्यू की टीम काे जांच के दाैरान इनके निवास से कराेड़ाें की बेनामी संपत्ति मिलने की बात कही है। इसमें 3 लाख 70 हजार नगद, ढाई साै ग्राम साेना, पीएचई कालाेनी में प्लाट, बसंत कुंज ग्वालियर में दाे फ्लैट, गुड़ा गुड़ी का नाका पर प्लाट, डबरा बालाजी काम्पलेक्स में दुकान, भाेपाल में फ्लैट के दस्तावेज शामिल है। इसके अलावा बिलाैआ, समूदन डबरा और अकबई मेंं खेती की जमीन के कागज भी टीम काे मिली है।

मकान तोड़कर दोबारा बनाया, क्या दीवारों में कुछ छुपाया है

प्रभारी एसडीओ के यहां छापे में अन्य कई जानकारियां भी सामने आई हैं। सूत्राें की माने ताे डीबी सिटी में बने मकान ताे हाल ही में ताेड़कर दाेबारा लग्जरी सुविधायुक्त बनवाया था। यह जांच का विषय है कि क्या इस मकान की दीवारों में कुछ छुपाया गया है। संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता क्योंकि कई छापामार कार्रवाई के दौरान दीवारों और पिलर के अंदर से, यहां तक कि छत के अंदर से भी बेहिसाब गोल्ड निकला है। 

रेस्ट हाउस में मंत्रियों का स्वागत करते-करते करोड़पति बन गया 

लोक निर्माण विभाग के लोगों का कहना है कि रविंद्र सिंह कुशवाहा की मूल नियुक्ति तृतीय श्रेणी वर्ग में है। मूल स्थापना के अनुसार वह सब इंजीनियर है लेकिन लंबे समय तक उसके पास ओल्ड गेस्ट हाउस का प्रभार रहा है। यहां पर ठहरने वाले मंत्रियों और राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों की सेवा करके रविंद्र सिंह कुशवाहा ने उनसे संबंध बनाए और इन संबंधों का उपयोग काले धन की कमाई में किया। डिपार्टमेंट में कोई शिकायत नहीं कर सके इसलिए कर्मचारी नेता बन बैठा था। बताया तो यह भी जा रहा है कि रविंद्र कुशवाहा मध्य प्रदेश के कई आईएएस, आईपीएस एवं मंत्रियों के साथ मिलकर काम कर चुका है।

09 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

MP BOARD 2021-22 EXAM के लिए परीक्षा फॉर्म भरने की तारीख घोषित
GWALIOR NEWS- हालात बदले तो शेजवलकर ने सिंधिया को पत्र लिखा
GWALIOR NEWS- ज्योतिरादित्य सिंधिया ने इमरती देवी को गले लगाकर कद बढ़ाया
ATITHI SHIKSHAK NEWS- अस्थाई शिक्षकों के पक्ष में सुप्रीम कोर्ट का फैसला, नियमितीकरण पर मुहर
MP RSK- संविदा कर्मचारियों को नियमितीकरण के लिए स्कूल शिक्षामंत्री से मुलाकात
MP NEWS- कक्षा एक से आठवीं तक पढ़ाने वाले शिक्षकों के लिए प्रशिक्षण शृंखला शुरू
MP NEWS- 60 हजार कॉलेज स्टूडेंट्स को रोजगार देने की योजना
MP NEWS- शिक्षक पति ने शिक्षक पत्नी को गोली मारी
मध्य प्रदेश मानसून- हवाएं आ गई हैं, बादल आने वाले हैं - MP WEATHER FORECAST
MP NEWS- पढ़िए ग्राम सभा ने कलेक्टर पर 25 लाख का जुर्माना किस कानून के तहत ठोका
BHOPAL NEWS- विधायक के घर आए नगर निगम इंजीनियर को पीटा
BOLLYWOOD STORY- मधुबाला के पिता ने उन्हे मध्यप्रदेश क्यों नहीं भेजा, बुदनी के जंगलों में शूटिंग होनी थी
MP BOARD- 12वीं का रिजल्ट नहीं अटकेगा, प्रॉब्लम सॉल्व

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindi- एक देश जहां PHOTO EDIT करके वायरल करने पर जेल का प्रावधान है 
GK in Hindi- हिटलर की मूछें टूथब्रश जैसी क्यों थी, योद्धाओं जैसी क्यों नहीं, पढ़िए
GK in Hindiभारत के किस रेलवे स्टेशन का नाम, सबसे बड़ा है, इसमें अंग्रेजी के कुल कितने अक्षर आते हैं 
GK in Hindiपानी डालने पर आग क्यों बुझ जाती है जबकि फार्मूला के हिसाब से भड़कना चाहिए
GK in Hindi मोर अपना घोंसला कहां बनाता है, पेड़ के ऊपर या किसी गुफा में 
GK in Hindiसड़क किनारे वृक्षों पर सफेद पेंट क्यों किया जाता है, वैज्ञानिक कारण 
GK in Hindiबर्फ का टुकड़ा पानी में तैरता है तो फिर शराब में क्यों डूब जाता है 
GK in Hindiमुर्गा सूर्योदय से पहले बांग क्यों देता है, कभी लेट क्यों नहीं होता
GK IN HINDI- BIKE का इंजन CC में क्यों होता है, हॉर्स पावर में क्यों नहीं होता
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here