डंडे के डर से दी गई अपराध की स्वीकृति कोर्ट में कब मान्य की जा सकती है, पढ़िए Evidence Act 1872 Section 27

हमनें आपको बताया था कि साक्ष्य अधिनियम, 1872 की धारा-24, 25 एवं 26 के संदर्भ में ली गई स्वीकृति न्यायालय या मजिस्ट्रेट के समक्ष सबूत के तौर पर पेश की गई है तब उसे मान्य नहीं करता है क्योंकि स्वीकृति मात्र से आरोपी व्यक्ति को अपराधी नहीं कहा जा सकता है। जब तक कोई ठोस वस्तु या अपराध के ठोस तथ्य का पता नहीं चलता है। पुलिस को आरोपी की स्वीकृति से ज्यादा ठोस तथ्यो की छानवीन करना बहुत जरूरी होता है। यही बात आज की धारा-27 बताती है जानिए।

साक्ष्य अधिनियम, 1872 की धारा-27 की परिभाषा:-

अगर पुलिस अधिकारी अपराधी द्वारा की गई अपराध की स्वीकृति के अलावा ऐसा कोई ठोस सबूत पेश करता है जिससे स्पष्ट दिखाई दे कि लगाया गया आरोप बिल्कुल उचित एवं सत्य है तब न्यायालय या मजिस्ट्रेट को इस बात से कोई मतलब नहीं होता कि पुलिस ने आरोपी से स्वीकृति उत्प्रेणा द्वारा, धमाकी द्वारा, मारपीट द्वारा किसी भी तरह से ली है। 

वह धारा 27 के अंतर्गत वैध ही मानी जाएगी। लेकिन न्यायालय को स्वीकृति के अलावा दिए गए तथ्यों पर किसी भी प्रकार का संदेह नहीं लगाना चाहिए अर्थात किसी भी प्रकार के बनाबटी तथ्य नहीं होना चाहिए अगर ऐसा हुआ तो मजिस्ट्रेट उनको साक्ष्य मानने से इनकार भी कर सकता है और आरोपी बरी भी हो सकता है।

24 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

MP NEWS- सिंधिया कोटे के मंत्री प्रभु राम चौधरी भाजपा कार्यालय तलब
EMPLOYEE NEWS- शिक्षाकर्मी का तीसरी संतान के बाद संविलियन वैध या अवैध
GWALIOR NEWS- चुनाव हारे 4 सिंधिया समर्थकों को मंत्री का दर्जा मंजूर
INDORE NEWS- किसान की बेटी का वीडियो बनाकर 16 लाख की ब्लैकमेलिंग 916
मध्य प्रदेश मानसून- 4 जिलों में रेड अलर्ट, 7 में अति भारी और 18 में भारी वर्षा की चेतावनी
DAVV CET NEWS- ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, एडमिट कार्ड और परीक्षा केंद्र
MP NEWS- 52000 गांव, 312 जनपद और 52 जिलों में पंचायत का काम ठप, कर्मचारी हड़ताल पर
EMPLOYEE NEWS- पेंशनभोगियों को 28% महंगाई राहत के आदेश जारी
गुरु पूर्णिमा: राशि के अनुसार मंत्र एवं गुरु को किस रंग के वस्त्र भेंट करें, यहां पढ़िए
MP BOARD NEWS - कक्षा 12 के रिजल्ट की तारीख निर्धारित
MP CORONA NEWS- शिवपुरी में 2 तहसीलों की सीमाएं सील

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiइंसान को शेर कहना शान और गधा कहना अपमान क्यों माना जाता है 
गुरु पूर्णिमा: राशि के अनुसार मंत्र एवं गुरु को किस रंग के वस्त्र भेंट करें, यहां पढ़िए
GK in HindiRefresh करने पर क्या कंप्यूटर फिर से तरोताजा हो जाता है
GK in Hindi- खतरे का रंग लाल क्यों होता है काला क्यों नहीं
GK in Hindiपुष्पक विमान किस ईंधन से चलता था, पेट्रोल और बैटरी तो उस समय होते नहीं थे
GK in Hindiआवारा गाय सड़क के बीच क्यों बैठतीं हैं, क्या सुसाइड करना चाहतीं हैं 
GK in Hindi- मादा कोयल की आवाज मधुर नहीं होती, वह तो अपराधी होती है
GK in Hindi- हिटलर की मूछें टूथब्रश जैसी क्यों थी, योद्धाओं जैसी क्यों नहीं, पढ़िए
GK in Hindiबर्फ का टुकड़ा पानी में तैरता है तो फिर शराब में क्यों डूब जाता है 
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here