Loading...    
   


अतिथि विद्वानों को BJP शासित सभी राज्यों ने नियमित कर दिया फिर मध्यप्रदेश में क्यों नहीं - MP NEWS

भोपाल
। मध्य प्रदेश के सरकारी महाविद्यालयों में लगभग 26 वर्षों से लगातार सेवा देते आ रहे अतिथि विद्वानों की मांग आज भी अधूरी है जबकि इन्हीं अतिथि विद्वानों के नियमितीकरण मुद्दे पर कांग्रेस की सरकार गिरी और भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनी। 

हिमाचल प्रदेश,हरियाणा,उत्तर प्रदेश,उत्तराखंड आदि राज्यों में जहां बीजेपी की सरकार है व दिल्ली में भी अतिथि विद्वानों के जैसे लगातार 3 वर्ष से सेवा देने वालों को वहां की सरकारें नियमित कर चुकीं हैं लेकिन मध्य प्रदेश में आज तक नियमितीकरण की तरफ़ एक भी कदम सरकार ने नहीं उठाया है।अतिथि विद्वानों की मांग विपक्ष में रहते हुए हर नेताओं ने पूरे जोर शोर से उठाते हुए आए हैं,सड़क से लेकर सदन तक ज़ोरदार आवाज़ बुलंद किए लेकिन जैसे ही सत्ता की कुर्सी मिलती है तो किनारा करते हुए नजर आते हैं।आज अतिथि विद्वान अपने आप को ठगा हुआ महसूस करते हैं। 

कांग्रेस ने वचन दिया तो शिवराज, सिंधिया, नरोत्तम, भार्गव ने आंदोलन में जाकर नियमितीकरण का वादा किए तो खुद वीडी शर्मा ने कई बार मीडिया में बयान देकर कहा की अतिथि विद्वानों की मांग जायज है हम रास्ता साफ करेंगे।लेकिन आज तक अतिथि विद्वान सिर्फ़ सियासत के मोहरा बनकर रह गए।

सूबे के मुखिया आदरणीय शिवराज सिंह चौहान ने सैकड़ों मीडियाकर्मियों के सामने व लाखों जनता के सामने अतिथि विद्वानों के नियमितीकरण का वादा किया था।हम उनसे एक ही निवेदन करते हैं की अपनी बात को पूरा करें अपना वादा निभाए।उन्होंने जो कहा है हम वहीं मांग करते हैं।अतिथि विद्वानों का भविष्य सुरक्षित करें।
डॉ आशीष पांडेय,मीडिया प्रभारी

आज कई राज्यों में अतिथि विद्वानों जैसे सेवा देने वालों को वहां की सरकारें नियमित कर चुकी हैं लेकिन आज भी 26 वर्षों से सेवा देने वाले अतिथि विद्वानों का वनवास खत्म नहीं हुआ है।सरकार से अनुरोध है की 450 पदों में तत्काल च्वाइस फिलिंग प्रक्रिया शुरू करें और बाहर हुए विद्वानों को व्यवस्था में लेते हुए नियमितीकरण की प्रक्रिया शुरू करें।
डॉ देवराज सिंह,अध्यक्ष

10 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

MP NEWS- शिक्षक भर्ती पद वृद्धि हेतु केंद्रीय मंत्री तोमर ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखा
MP NEWS- दिग्विजय सिंह विधानसभा का चुनाव लड़ेंगे: जीतू पटवारी
MP NEWS- चरित्र प्रमाण पत्र के लिए 8वीं के छात्र की मां को दुष्कर्म सहना पड़ा
MP NEWS- पढ़िए ग्राम सभा ने कलेक्टर पर 25 लाख का जुर्माना किस कानून के तहत ठोका
MP NEWS- कक्षा एक से आठवीं तक पढ़ाने वाले शिक्षकों के लिए प्रशिक्षण शृंखला शुरू
GWALIOR NEWS- ज्योतिरादित्य सिंधिया ने इमरती देवी को गले लगाकर कद बढ़ाया
GWALIOR NEWS- प्रभारी एसडीओ के यहां छापा, काले धन का कुबेर निकला
SDO श्रद्धा पांढ़रे की कार्रवाई- पुलिस थाने और सरकारी तालाब की रेत जप्त
GWALIOR NEWS- दोस्त का सिर काटकर थाने में जमा कराने आ गया
BHOPAL NEWS लिव-इन पार्टनर धोखेबाज निकला, जमकर हुआ हंगामा
BHOPAL NEWS- विधायक के घर आए नगर निगम इंजीनियर को पीटा

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiउपहार के लिफाफे में एक रुपया क्यों जोड़ा जाता है, लॉजिक क्या है
भारतीय संविधान का अनुच्छेद 44: परिभाषा एवं खास बातें - Constitution of india article 44 in Hindi
GK in Hindi- हिटलर की मूछें टूथब्रश जैसी क्यों थी, योद्धाओं जैसी क्यों नहीं, पढ़िए
GK in Hindiभारत के किस रेलवे स्टेशन का नाम, सबसे बड़ा है, इसमें अंग्रेजी के कुल कितने अक्षर आते हैं 
GK in Hindiपानी डालने पर आग क्यों बुझ जाती है जबकि फार्मूला के हिसाब से भड़कना चाहिए
GK in Hindi मोर अपना घोंसला कहां बनाता है, पेड़ के ऊपर या किसी गुफा में 
GK in Hindiसड़क किनारे वृक्षों पर सफेद पेंट क्यों किया जाता है, वैज्ञानिक कारण 
GK in Hindiबर्फ का टुकड़ा पानी में तैरता है तो फिर शराब में क्यों डूब जाता है 
GK in Hindiमुर्गा सूर्योदय से पहले बांग क्यों देता है, कभी लेट क्यों नहीं होता
GK IN HINDI- BIKE का इंजन CC में क्यों होता है, हॉर्स पावर में क्यों नहीं होता
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here