Loading...    
   


REWA: पिता ने पेड़ नहीं काटने दिया तो बेटे ने पिता को ही काट डाला, हत्या ​- MP NEWS

रीवा। मध्यप्रदेश के रीवा जिले में एक बेटे ने मामूली विवाद पर पिता की तलवार से काट कर हत्या कर दी। विवाद आंधी में गिरे एक बबूल के पेड़ की डाल काटने को लेकर हुआ था। आरोपी को डाल काटने से पिता और उसके छोटे भाई ने मना किया था। उसी समय सेे आरोपी आक्रोशित था। उसने भाई की पत्नी पर पहले तलवार से हमला किया, बचाने आए पिता की जान ले ली। परिवार के अन्य सदस्य डर के मारे घर में छिप गए। गंभीर रूप से घायल बहू का उपचार चल रहा है।    

रीवा शहर के समीप चोरहटा थाना क्षेत्र के टिकिया गांव में यह खूनी खेल रामयश कुशवाहा(47) ने खेला। वह तलवार लेकर सबसे पहले बर्तन साफ कर रही अपनी बहू रामरती कुशवाहा पर हमला कर दिया। रामरती घायल होकर वहीं पर गिर पड़ी। घटना देखकर पिता रामदास कुशवाहा (70) अपनी बहू को बचाने आए। इस पर रामयश ने अपने पिता पर हमला कर दिया। घटना देखकर परिवार के अन्य सदस्यों ने बचाने का प्रयास किया लेकिन आरोपी ने उन पर भी हमला करने का प्रयास किया। इससे डर कर सभी लोग घर में कैद हो गए।

पीड़ितों ने किसी तरह रात 8 बजे के बाद पुलिस को सूचना दी। जिस पर चोरहटा पुलिस मौके पर पहुंच गई। खून से लथपथ पड़े घायलों को सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल लाया गया। यहां रामदास कुशवाहा को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। वहीं महिला की हालत नाजुक बनी है। शनिवार की सुबह आरोपी को पुलिस ने​ गिरफ्तार कर लिया है।

दोनों परिवारों के बीच बबूल काटने को लेकर विवाद शुरू हुआ था। शुक्रवार की दोपहर आए तूफान में बबूल का पेड़ टूटकर गिर गया था। आरोपी उसे काटने लगा था। पीड़ित परिवार ने उसको मना किया तो वह चला गया लेकिन आरोपी शाम को एक बार फिर पेड़ काटने आया। दोबारा परिवार के सदस्यों ने विरोध किया तो आरोपी अपने घर चला गया। इसके बाद तलवार लेकर अपने घर से पीड़ित परिवार के घर पर पहुंच और हमला बोल दिया।

पुलिस ने बताया कि मृतक के दो पुत्र हैं। हत्या बड़े बेटे ने की है, जबकि पिता छोटे बेटे के साथ रहता था। ऐसे में दोनों परिवार के बीच बंटवारे को लेकर पुराना विवाद चल रहा था। ​ पिता ने अपनी ​जमीन को दोनों बेटों में बांट दी थी। ​अपनी रोजी रोटी के लिए कुछ जमीन स्वयं के पास रखी थी। इस बात को लेकर पहले भी आरोपी विवाद कर चुका था। जिसका मामला पहले से थाने में दर्ज था।

08 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here