Loading...    
   


Ghost light क्या है और कैसे पैदा होती है, यहां पढ़िए - SCIENCE की बातें

भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में कई बार सूखी फसल या जानवरों के चारे आदि में रात के समय अचानक आग लग जाती है। कई बार किसी सूने अंधेरे स्थान पर अचानक रोशनी प्रकट होती है। जब हम उसके पास जाकर देखते हैं तो वहां कुछ दिखाई नहीं देता। साइंस की जानकारी नहीं होने के कारण ज्यादातर लोग ऐसे स्थानों को भूतों का बसेरा मान लेते हैं। आइए पता लगाते हैं कि इस तरह की रोशनी (घोस्ट लाइट) कैसे पैदा होती है।

श्वसन क्या है /  what is respiration 

अपनी रिसर्च को पूरा करने के लिए सबसे पहले विज्ञान के इस सिद्धांत को समझना होगा।यह तो हम सभी जानते हैं कि सभी जीव धारियों को जीवित रहने के लिए कुछ विशेष जैविक क्रियाएं जैसे- श्वसन (Respiration), परिसंचरण (circulation) उत्सर्जन( Excretion), पोषण (Nutriton) आदि परिसंचर आदि करना आवश्यक है। श्वसन एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें कोशिकाओं में उपस्थित जटिल कार्बनिक पदार्थों को ऑक्सीकरण द्वारा सरल कार्बनिक पदार्थों में तोड़ा जाता है तथा इस क्रिया में ऊर्जा मुक्त होती है। 

वह कौन सा जीव है जो बिना ऑक्सीजन के सांस लेते हैं

श्वसन की प्रकृति के आधार पर जीव दो प्रकार के होते हैं। एक ऑक्सीजन की उपस्थिति में श्वसन करने वाले जीव जैसे -अधिकांश जीव - जंतु तथा पेड़- पौधे तथा दूसरे ऑक्सीजन की अनुपस्थिति में श्वसन करने वाले जीव जैसे  -कवक (Fungi), जीवाणु (Bacteria) आदि 

भूत या प्रेत प्रकाश क्या है / what is ghost light

ऑक्सीजन की अनुपस्थिति में होने वाले श्वसन के दौरान कभी-कभी ऊष्मा (light) इतनी अधिक मात्रा में उत्पन्न हो जाती है जिसके कारण खेत- खलिहान में रखी सूखी फसल या चारे के ढेर में आग लग जाती है और अंधविश्वासी गांव वाले लोग समझते हैं कि ये आग भूत-प्रेतों ने लगाई है। मृत शरीर के सड़ने पर सूक्ष्म जीवों द्वारा निकली ऊर्जा प्रकाश में बदल जाती है जिसे भूत या प्रेत प्रकाश (Ghost light) कहा जाता है। Notice: this is the copyright protected post. do not try to copy of this article (science question answer in hindi, साइंस क्वेश्चन आंसर, science questions and answers general knowledge, general science question answer in hindi, science general knowledge question answer,)

विज्ञान से संबंधित सबसे ज्यादा पढ़ी गईं जानकारियां



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here