Loading...    
   


चूहों के दातों में कितना दम होता है, क्या वह सचमुच पहाड़ कुतर सकते हैं / #सरलSCIENCE

श्रीमती शैली शर्मा। दाँतों का सभी के जीवन में बहुत महत्व है। दाँत-भोजन को पकड़ने, चीरने, फाड़ने, पीसने, चबाने आदि के काम आते हैं। (कभी-कभी दुश्मन को काटने और प्रतिस्पर्धी को दिखाने के काम भी आते हैं)। मनुष्य के जीवन में दाँत दो बार आते हैं इसलिए मनुष्य  द्विबारदंती यानी (Diphyodent)कहलाते हैं। पहले जब शिशु, शैशवावस्था यानी (Infancy) 6 से 12 महीने की उम्र में होता है तो उस समय जो दांत निकलते हैं उन्हें दूध के दांत या (milkteeth) कहते हैं। इनकी संख्या 20 होती है जो लगभग 5 साल तक आते रहते हैं। 

जब दूध के दांतों की मज्जा यानी (pulp) समाप्त हो जाती है तो इनके स्थान पर स्थाई दांत या (permanent teeth) आ जाते हैं। इनमें 20 पुरानी जगह पर होते हैं तथा 12 नये आ जाते हैं। इस प्रकार मनुष्य में कुल दाँतों की संख्या 32 हो जाती है। किसी- किसी मनुष्य में इस संख्या में अंतर भी होता है।

चूहों के दांत निरंतर बढ़ते रहते हैं। आप जानकर चौंक सकते हैं कि चूहों के दांत इसलिए निरंतर नहीं बढ़ते क्योंकि वह चीजों को कुतरते रहते हैं बल्कि चीजों को कुतरना चूहों की मजबूरी होती है, यदि वह ऐसा नहीं करेंगे तो उनके दांत उनके मुंह से बाहर निकल आएंगे। यदि आप उन्हें कुतरने से रोक दें तो चूहों के दांत 2 इंच तक बड़े हो जाते हैं।

दातों के बारे में कुछ रोचक तथ्य

मनुष्य तथा अन्य स्तनीयों (mammals) मैं चार प्रकार के दांत पाए जाते हैं। इन सभी दांतो का अपना विशेष काम तथा क्रम होता है। इनका क्रम दंत सूत्र (dental formula) कहलाता है। 
मनुष्य के शरीर का सबसे कठोरतम पदार्थ इनेमल (enamal) दातों के ऊपर ही पाया जाता है। इसी आवरण के कारण मृत्यु के पश्चात दाह संस्कार होने के बाद केवल दांत ही बचते हैं। (हड्डियों की कहानी फिर कभी)
लेखक श्रीमती शैली शर्मा मध्यप्रदेश के विदिशा में साइंस की टीचर हैं। (Notice: this is the copyright protected post. do not try to copy of this article)

विज्ञान से संबंधित सबसे ज्यादा पढ़ी गईं जानकारियां



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here