Loading...    
   


मध्यप्रदेश: प्राथमिक कक्षाओं में संस्कृत अनिवार्य, आयुर्वेद में डिप्लोमा कोर्स - MP EDUCATION NEWS

भोपाल
। मध्य प्रदेश की राजधानी की राजधानी भोपाल में स्कूल शिक्षा राज्यमंत्री इंदर सिंह परमार ने सोमवार को महर्षि पतंजलि संस्कृत संस्थान का मुआयना करने के दौरान निर्देश दिए कि अब कक्षा पहली से चौथी तक संस्कृत भी पढ़ाई जाएगी।

उन्होंने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि संस्कृत को जन-जन की भाषा की भाषा बनाने के लिए कार्य करना होगा। भोपाल के पंचशील नगर को संस्कृत भाषा बोलने वाला क्षेत्र बनाया जाए।  हालांकि इसके पीछे वजह क्या है यह स्पष्ट नहीं किया गया। प्रदेश के सभी जिलों में एक नगर को संस्कृत नगर बनाया जाएगा। 

आयुर्वेद में डिप्लोमा कोर्स शुरू किया जाएगा

स्कूल राज्य शिक्षा मंत्री श्री इंदर सिंह परमार ने कहा कि अब प्रदेश में आयुर्वेद में डिप्लोमा कोर्स भी शुरू किया जाएगा।

24 दिसम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here