Loading...    
   


JEE ADVANCE तीसरा चांस मिलेगा, ज्वाइंट एडमिशन बोर्ड ने नियम बदले

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (Indian Institutes of Technology) के इतिहास में पहली बार JEE ADVANCE के लिए उम्मीदवारों को तीसरा चांस मिलेगा। COVID-19 महामारी के कारण ज्वाइंट एडमिशन बोर्ड ने नियमों में परिवर्तन कर दिया है। इसके अलावा जो उम्मीदवार JEE ADVANCE-2020 की परीक्षा नहीं दे पाए वह JEE ADVANCE-2021 में शामिल हो सकते हैं।

यह सुविधा सिर्फ उन्हीं सफल छात्रों को मिलेगी, जिन्होंने जेईई एडवांस्ड -2020 में रजिस्ट्रेशन किया था, लेकिन किसी कारण से परीक्षा में भाग नहीं ले सके थे। छात्रों की मांग पर ज्वाइंट एडमिशन बोर्ड की मंगलवार को एक विशेष बैठक हुई थी, जिसमें जेईई एडवांस्ड 2021 में एक अतिरिक्त मौका देने का प्रस्ताव रखा गया था।

इस बैठक में जेईई मेन्स 2020 से जेईई एडवांस्ड 2020 के लिए सफल ऐसे छात्र, जिन्होंने रजिस्ट्रेशन करवा लिया था, लेकिन कंटेनमेंट जोन, कोरोना पॉजिटिव या किसी अन्य कारण से परीक्षा नहीं दे पाए, उन्हें जेईई एडवांस्ड 2021 में एक अन्य मौका दिए जाने का फैसला लिया गया। जेईई एडवांस्ड 2020 में रजिस्ट्रेशन नहीं करवाने वाले सफल छात्रों को यह लाभ नहीं मिलेगा। हालांकि, यह अतिरिक्त तीसरा मौका सिर्फ कोविड-19 के चलते इसी वर्ष के छात्रों को दिया जा रहा है। 

आईआईटी प्रबंधन के मुताबिक, इस फैसले से पांच हजार से अधिक छात्रों को लाभ मिलेगा। दरअसल जेईई मेन्स-2020 में से टॉप 2.50 लाख छात्रों ने जेईई एडवांस्ड के लिए क्वालिफाइड किया था। हालांकि उसमें से 1,60, 864 छात्रों ने ही रजिस्ट्रेशन करवाया था। इसमें से 1,55, 551 छात्रों ने ही परीक्षा दी थी। जिन छात्रों ने एडवांस्ड पोटर्ल पर रजिस्ट्रेशन करवा लिया था, बेशक फीस नहीं दी थी, वे भी इस नए फैसले के लिए योग्य उम्मीदवार होंगे।

14 अक्टूबर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here