Loading...    
   


मध्यप्रदेश में सुबह से त्राहि-त्राहि मची है, गृहमंत्री जी ने शाम को बयान जारी किया / MP NEWS

भोपाल। भारत के मौसम विभाग ने गुरुवार को चेतावनी जारी कर दी थी। सरकारी और गैर सरकारी मौसम विशेषज्ञों ने स्पष्ट कहा था कि हालात काफी खराब हो सकते हैं। शुक्रवार यानी रात 00:00 से बारिश शुरू हुई और शनिवार सुबह तक प्रदेशभर की नदी नालों में बाढ़ आ चुकी थी। चारों तरफ त्राहि-त्राहि मची हुई है और हर रोज सुबह-सुबह मीडिया के कैमरे बुलाकर कांग्रेस पार्टी पर तंज कसने वाले माननीय गृह मंत्री जी ने कोई बयान जारी नहीं किया। शाम करीब 7:37 बजे बयान जारी किया।

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा द्वारा शनिवार शाम 7:37 बजे जारी किया बयान

भोपाल, होशंगाबाद, जबलपुर संभाग में लगातार बारिश के चलते बाढ़ जैसे हालात निर्मित हो रहे है। बांधों से लगातार पानी छोड़े जाने के कारण निचले इलाको में जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है। मेरी आप से प्रार्थना है कि सड़क, पुल, पुलिया पर बाढ़ का पानी होने की स्थिति में आप उसे पार करने से बचें। संकट की इस घड़ी में सरकार पूरी तरह मुस्तैद है। राहत और बचाव कार्य के लिए SDRF और NDRF की टीमें सक्रिय है। किसी भी प्रकार की सहायता के लिए या आपात स्थिति में सूचना देने के लिए डायल-100 और 1079 पर कॉल करें। 

मध्य प्रदेश के संकटमोचक मंत्री सुबह से कर क्या रहे थे 

  1. शिवराज-4 में मध्य प्रदेश में भाजपा सरकार के संकटमोचक मंत्री एवं ऑपरेशन लोटस के कमांडर डॉ नरोत्तम मिश्रा सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव हो चुके हैं। लगभग हर बात और हर मुलाकात तत्काल सोशल मीडिया पर अपलोड कर देते हैं। आइए देखते हैं आज दिन भर उन्होंने क्या किया:- 
  2. सुबह सूर्योदय के समय जब नदियों में बाढ़ आ चुकी थी, नेशनल स्पोर्ट्स डे के अवसर पर मेजर ध्यानचंद को श्रद्धांजलि दी। 
  3. शायद स्नान ध्यान के बाद जब बाढ़ में बर्बाद हुए नागरिक सुरक्षित स्थानों पर आने लगे थे, मध्यप्रदेश के राज्य खेल मलखंभ के प्रशिक्षक श्री योगेश मालवीय जी को द्रोणाचार्य अवार्ड के लिए बधाइयां दी। 
  4. दोपहर 12:00 बजे जब बाढ़ की खबरों ने मुख्यमंत्री कार्यालय को विचलित कर दिया था, डॉ मिश्रा ने मध्य प्रदेश के नागरिकों को डोल ग्यारस पर्व की शुभकामनाएं दी और उनके जीवन में मान-सम्मान और सुख-सौभाग्य में वृद्धि की कामना की। 
  5. दोपहर करीब 3:00 बजे जब बाढ़ में फंसे लोगों को बचाने के लिए सेना बुलाई जा रही थी, ग्वालियर के अंतरराष्ट्रीय दिव्यांग तैराक श्री सतेन्द्र सिंह जी को प्रतिष्ठित तेनजिंग नॉरगे राष्ट्रीय साहसिक सम्मान मिलने पर शुभकामनाएं दी। 
  6. शाम 5:00 बजे जब लगातार बारिश के कारण प्रभावित इलाकों से संबंधित सभी ब्यूरोक्रेट्स और जनप्रतिनिधियों के माथे पर चिंता की लकीरें बढ़ती जा रही थी, डॉ नरोत्तम मिश्रा दतिया के वृंदावन धाम में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत हितग्राहियों को चेक सौंप रहे थे। जबकि उन्हें बाढ़ प्रभावित इलाकों में होना चाहिए था। 60 करोड़ का हेलीकॉप्टर श्री शिवराज सिंह जी के निजी इस्तेमाल के लिए नहीं है। 
  7. कार्यक्रम आनंद पूर्वक संपन्न होने के 2 घंटे बाद मध्य प्रदेश के गृहमंत्री श्री नरोत्तम मिश्रा ने इस के संदर्भ में बयान जारी किया। 


डॉक्टर नरोत्तम मिश्रा पर ही सवाल क्यों 

क्योंकि डॉक्टर नरोत्तम मिश्रा मध्यप्रदेश के गृहमंत्री हैं। 
क्योंकि डॉक्टर नरोत्तम मिश्रा मध्य प्रदेश की सरकार के दूसरे सबसे प्रभावशाली मंत्री हैं। 
क्योंकि डॉक्टर नरोत्तम मिश्रा प्रतिदिन आम जनता के बीच आकर सरकार का पक्ष रखते हैं। 
क्योंकि डॉक्टर नरोत्तम मिश्रा को सरकार में संकटमोचक कहा जाता है और संकटमोचक जनता के संकट हरने के लिए होता है। 
क्योंकि डॉक्टर नरोत्तम मिश्रा से मध्य प्रदेश की जनता उम्मीद करती है। 
क्योंकि डॉक्टर नरोत्तम मिश्रा में मध्य प्रदेश की जनता का एक समूह भविष्य देख रहा है।

29 अगस्त को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार 

क्या आप एक शब्द में भारत की सभी विश्व सुंदरियों के नाम बता सकते हैं
BF ने शादी से मना किया, रेप केस दर्ज / लड़का बोला ब्लैकमेल कर रही है
सऊदी अरब में बारिश क्यों नहीं होती है
ग्वालियर में बिजली कंपनी ने ऊर्जा मंत्री की भाभी को एक करोड़ का फायदा पहुंचाया
मध्य प्रदेश के 6 जिलों में वज्रपात की संभावना, नागरिक सावधान रहें
2 से अधिक बच्चों वाले कर्मचारियों के खिलाफ कार्यवाही के लिए सुप्रीम कोर्ट की हरी झंडी
जब यह इमारत जमीन पर खड़ी है तो इसे 'हवामहल' क्यों कहते हैं
ज्योतिरादित्य सिंधिया के नागपुर प्रवास के बाद कमलनाथ और शिवराज सिंह मिले
इंदौर में पति-पत्नी ने मिलकर किसान को हनीट्रैप का शिकार बनाया
1 सितंबर से स्कूल/कॉलेज खुलेंगे या नहीं, भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया
दूध को दही बनाने वाले चमत्कारी पत्थर में क्या खास है, कहां मिलता है, नाम क्या है
सोयाबीन की फसल को पीली पड़ने से बचाने क्या करें, वैज्ञानिकों की सलाह
जबलपुर मेडिकल हॉस्पिटल में आज दूसरे मरीज ने आत्महत्या की कोशिश की
इंदौर से पटना, भोपाल सहित चार ट्रेनें चलाने की तैयारी
सिंधिया के मोदी कैबिनेट में शामिल होने के आसार
मध्य प्रदेश के 6 जिलों में रेड अलर्ट, 14 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here