Loading...    
   


दलित राजनीति: कमलनाथ के मुद्दे पर नरोत्तम मिश्रा का ट्वीट बैकफायर कर गया / MP NEWS

भोपाल। मध्य प्रदेश में उपचुनाव का मौसम चल रहा है। हर चिंगारी को हवा देने की कोशिश की जा रही है तो दूसरी तरफ हर भड़कते शोले पर ठंडा पानी उड़ेलने का अभियान का अभियान भी जारी है। शिवराज सिंह सरकार की तरफ से इन दिनों गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने मोर्चा संभाल रखा है। डॉ मिश्रा कांग्रेस के हर हमले का जवाब दे रहे हैं लेकिन आज कमलनाथ के मुद्दे पर नरोत्तम मिश्रा का एक ट्वीट बैक फायर कर गया।

पहला मामला क्या है जिसमें शिवराज सरकार बैकफुट पर आई

पिछले दिनों गुना में सरकारी जमीन को खेती के लिए बटाई पर लेने वाले व्यक्ति की पुलिस द्वारा निर्मम मारपीट के मामले को कमलनाथ सहित कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने बड़ी ही चतुराई के साथ जातिवाद से जोड़ दिया था। जबकि यदि पीड़ित ब्राह्मण/क्षत्रिय होता है तब भी पुलिस इतनी ही बेरहमी से मारती। हालात यह बने कि कलेक्टर/एसपी भू माफिया की साजिश में जकड़ कर रह गए और दोनों अधिकारियों को पद से हटा दिया गया। इसके अलावा एक सब इंस्पेक्टर सहित छह पुलिस कर्मचारी भी सस्पेंड हुए हैं। 

आज कमलनाथ ने क्या मुद्दा उठाया

आज एक बार फिर सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ। एक व्यक्ति को कुछ लोग घेरकर पीट रहे थे। कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने इस घटना को मुद्दा बनाने की कोशिश की। अपने बयान में उन्होंने लिखा कि 'जब से प्रदेश में भाजपा सरकार आयी है। दलित, आदिवासियों पर दमन की घटनाएँ निरंतर बढ़ती जा रही है। गुना में दलित किसान दंपत्ति से मारपीट की घटना के बाद अब गुना में ही महूगढ़ा निवासी धर्मेन्द्र वाल्मीकि नाम के एक दलित युवक से सार्वजनिक रूप से बर्बर तरीके से पिटाई की घटना सामने आयी है।

फिर कमलनाथ ने दूसरा मुद्दा उठाया

वहीं अब सागर के ग्राम पंचायत बेलईमाफ़ी के सरपंच पति श्री मनीराम गौड़ जो कि आदिवासी वर्ग से थे,के ट्रेक्टर को वन विभाग के अधिकारियों द्वारा पिछले दिनो ज़ब्त किया गया था और ट्रेक्टर छोड़ने के बदले उनसे रिश्वत माँगी जा रही थी और इसके लिये उन्हें जमकर प्रताड़ित भी किया जा रहा था, जिसके सदमे में उनकी जान चली गयी।

गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने क्या जवाब दिया 

इसके जवाब में गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने लिखा कि 'बिना तथ्यों की जानकारी के दलितों के नाम पर राजनीति करना और घड़ियाली आंसू बहाना कांग्रेस का शगल बन गया है। गुना में जिस धर्मेंद्र वाल्मीकि की पुलिस पिटाई से मौत की बात आप कह रहे हैं, दरअसल वो बाइक चोरी के आरोप में पकड़ा गया था और रिहा भी हो चुका है।' 

बैक फायर कैसे कर गया, गड़बड़ क्या हुई 

दरअसल, गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ पर तथ्यों की जानकारी के बिना हमला करने का आरोप लगाया जबकि उनके अपने बयान में तथ्यों की जानकारी का अभाव है। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष श्री कमलनाथ ने सागर जिले के सरपंच श्री मनीराम गौड़ की मृत्यु को मुद्दा बनाया था परंतु डॉक्टर नरोत्तम मिश्रा ने धर्मेंद्र बाल्मीकि की डिस्चार्ज रिपोर्ट ट्विटर में भरकर कमलनाथ पर फायर कर दी।

19 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here