Loading...    
   


जबलपुर कोरोना: प्राइवेट लैब में जांच और प्राइवेट अस्पताल में इलाज / JABALPUR NEWS

जबलपुर। कलेक्टर श्री भरत यादव ने आज शाम आयोजित एक बैठक में शहर के सभी निजी अस्पताल संचालकों से बढ़ती संख्या को देखते हुए अपने अस्पतालों में कोरोना मरीजों का उपचार शीघ्र प्रारंभ करने कहा है। श्री यादव ने बैठक में कहा कि निजी अस्पताल संचालक अपने अस्पताल में ऐसे कोरोना मरीजों के उपचार की सुविधा मुहैय्या करा सकते हैं जो अपने खर्च पर उनके यहां इलाज कराने के इच्छुक हों। उन्होंने कहा कि ऐसे निजी अस्पताल जो स्वयं के खर्च पर ईलाज कराने के इच्छुक कोरोना मरीजों का उपचार करने तैयार हैं उन्हें मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय द्वारा अनुमति तत्काल  दे दी जायेगी।

कलेक्टर ने बैठक में कहा कि ऐसे अस्पतालों को अपने यहां कोरोना मरीजों के उपचार के लिए निश्चित संख्या में बिस्तर आरक्षित करने होंगे और पूरे प्रोटोकॉल का पालन भी करना होगा। कलेक्टर ने बैठक में मौजूद निजी पैथालॉजी लैब संचालकों से कहा कि वे भी आईसीएमआर द्वारा अधिकृत पैथालॉजी लैब से अनुबंध कर स्वयं के खर्च पर कोरोना टेस्ट कराने के इच्छुक लोगों का सेम्पल ले सकते हैं और परीक्षण के लिए अधिकृत पैथालॉजी लैब को भेज सकेंगे।

कलेक्टर ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम में निजी अस्पतालों का अभी तक अच्छा सहयोग मिला है। श्री यादव ने कहा कि वर्तमान स्थितियों को देखते हुए कोरोना टेस्ट और कोरोना के पॉजिटिव मरीजों के उपचार में भी निजी अस्पतालों एवं निजी पैथालॉजी लैब की भागीदारी महत्वपूर्ण हो गई है।

निजी अस्पताल संचालकों एवं पैथालॉजी लैब संचालकों की इस बैठक में अपर कलेक्टर हर्ष दीक्षित, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. रत्नेश कुररिया, डॉ. राजेश धीरावाणी भी मौजूद थे।

18 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

मांसाहारी जानवर हमेशा शाकाहारी जानवरों का शिकार क्यों करते हैं 
SBI खाताधारक सावधान! फर्जी वेबसाइट पर गई है, खातों से पैसे गायब हो रहे हैं 
ग्वालियर किले से महिमा कूदी नहीं थी, बॉयफ्रेंड ने धक्का दिया था 
इंदौर में 10 नए इलाकों में कोरोनावायरस का संक्रमण मिला 
खबर का असर: PHE भिंड के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर सस्पेंड 


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here