Loading...    
   


कंटेनमेंट जोन में दुकान नहीं खोलने दी, व्यापारी ने आत्महत्या कर ली / MP NEWS

भोपाल। मध्य प्रदेश के खंडवा शहर में एक व्यापारी ने इसलिए आत्महत्या कर ली क्योंकि उसकी दुकान कंटेनमेंट जोन में आ गई थी। घर पर पत्नी बीमार थी। पैसों की सख्त जरूरत थी। व्यापारी अपनी दुकान खोलना चाहता था परंतु प्रशासन उसकी बात सुनने के लिए तैयार नहीं था। तंग आकर व्यापारी ने आत्महत्या कर ली।

मृतक व्यापारी के भाई सुभाष झामवानी ने बताया कि उनके भाई का कारोबार इलाके को कंटेनमेंट जोन बनाए जाने की वजह से चौपट हो गया था। इसकी वजह से वे काफी परेशान रहते थे। सुभाष झामवानी ने बताया कि दुकान नहीं खुलने की वजह से उनके सामने रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया था। साथ ही वे अपनी पत्नी का इलाज भी नहीं करा पा रहे थे। इससे परेशान हो कर उन्होंने आत्महत्या कर ली। परिवार का खर्च चल सके और बेटियों की परवरिश हो सके इसलिए हम सरकार से आर्थिक मदद की गुजारिश करते हैं।

खंडवा पुलिस अधीक्षक विवेक सिंह ने बताया कि जिले के टैगोर कलोनी निवासी 42 वर्षीय बालचंद झामवानी ने बीती रात आत्महत्या कर ली। व्यापारी ने आत्महत्या क्यों कि अभी तक इसके सही कारणों का पता नहीं चल पाया है। फिलहाल मामला दर्ज कर जांच की जा रही है। जांच के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी।

टेगौर कलोनी वार्ड की पार्षद सागर आरतानी ने व्यापारी की मौत का आरोप जिला प्रशासन पर लगाया। उन्होंने कहा कि इलाके के कोरोना मरीज ठीक चुके हैं। फिर भी जिला प्रशासन इलाके को कंटेनमेंट जोन में रखा है। इससे कलोनी वासियों को काफी दिक्कत हो रही हैं। उन्होंने कहा कि बाकी कलोनियों में कंटेनमेंट जोन छोटे बनाए जा रहे हैं, लेकिन यहां पर पूरी कलोनी को कंटेनमेंट जोन बनाया गया है। पार्षद ने कहा कि जिला प्रशासन को मृतक के घर के हालात का जायजा लेकर आर्थिक मदद करनी चाहिए।

09 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

ज्योतिरादित्य सिंधिया और राजमाता कोरोना पॉजिटिव
नरोत्तम मिश्रा, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह से बदतमीजी कर रहे हैं: पूर्व मुख्यमंत्री
इंदौर में कोरोना से एक और डॉक्टर की मौत
दिग्विजय सिंह किस हैसियत से बयान दे रहे हैं: चौधरी राकेश सिंह
RGPV: परीक्षाओं के लिए नई नए नियम जारी
कंप्यूटर के पॉवर स्विच पर बना निशान, बाकी सभी से अलग क्यों होता है
एक व्यक्ति की असावधानी के कारण दूसरे की मृत्यु हो जाए तो FIR दर्ज होगी या नहीं


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here