Loading...    
   


थर्मल गन को गच्चा देने मजदूर पैरासिटामोल टेबलेट खा रहे हैं, RPF को अलर्ट किया / GWALIOR NEWS

ग्वालियर। देश के रेड जोन इलाकों से श्रमिक स्पेशल ट्रेन से घर पहुंच रहे मजदूर व उनके परिजन बीमार ना होने पर भी बुखार में ली जाने वाली पैरासिटामोल टेबलेट खा रहे हैं। ताकि गंतव्य स्टेशन पर होने वाली जांच में थर्मल गन को गच्चा दिया जा सके। मजदूरों को यह ट्रिक किसने बताई यह तो पता नहीं लेकिन श्रमि स्पेशल ट्रेनों की खाली बोगियों में दवाइयों के खाली रैपर मिले हैं।

अंचल में रहने वाले हजारों प्रवासी मजदूर जो कि अपने परिवारों के साथ रोजीरोटी कमाने गुजरात, राजस्थान, पंजाब, कर्नाटक, केरला सहित हरियाणा व अन्य प्रदेशो में परिवार सहित जाकर कामधंधा कर रहे थे लेकिन मार्च महीने में कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते देश में लॉकडाउन शुरु होने के बाद ये हजारों प्रवासी कामंधधा बंद होने के कारण बेरोजगार हो गए थे। फैक्ट्री से लेकर बाजार तक बंद होने के कारण ये सभी प्रवासी मजदूर अपने-अपने गांव केन्द्र सरकार द्वारा शुरु की गई श्रमिक स्पेशल ट्रेन से वापस अपने घरों को लौट रहे हैं। 

8 हजार मजदूर आए, एक भी बीमार नहीं

ग्वालियर स्टेशन पर 8 मई से श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का देश के कई प्रदेशों से आना लगातार जारी है। अभी तक ग्वालियर पहुंची 13 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से लगभग 8000 प्रवासी मजदूर अपने परिवार के साथ वापस लौट चुके हैं लेकिन चौंकाने वाली बात यह सामने आई है कि ग्वालियर पहुंचे इन मजदूरों में एक भी मजदूर थर्मल स्क्रीनिंग जांच के दौरान बीमार नहीं मिला है।अभी तक केवल दो बच्चों का ही तापमान हल्का बढ़ा मिला है।

RPF स्क्वाड को अलर्ट किया

मजदूरों द्वारा सफर के दौरान बुखार छिपाने के लिए पैरासिटामोल व क्रोसिन टेबलेट का उपयोग करने का पता चलने के बाद इन श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में सफर करने वाले आरपीएफ के जवानों को सफर के दौरान मजदूरों पर विशेष नजर बनाए रखने के निर्देश दिए हैं। सफर के दौरान यदि कोई श्रमिक दवा का सेवन करता मिलेगा तो उस मजदूर का नाम व पता लेने के साथ ही संबंधित स्टेशन पहुंचने पर डॉक्टरी परीक्षण विशेष तौर पर कराया जाएगा।


20 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

लॉक डाउन 4.0 भोपाल में क्या कर सकते है क्या नहीं पढ़िए
कंप्यूटर को टीवी की तरह डायरेक्ट स्विच ऑफ क्यों नहीं कर सकते
गर्भपात के दौरान यदि महिला की मृत्यु हो गई तो जेल कौन जाएगा डॉक्टर या पति
कमलनाथ को पहला चुनावी झटका, कांग्रेस नेताओं की एक टीम भाजपा में शामिल
तुम डेढ़ साल तक रोते रहे, हमने डेढ महीने में कर दिखाया: शिवराज सिंह का कमलनाथ को जवाब
भारत में परमाणु बम का कोड और हमले का अधिकार किसके पास होता है
ग्वालियर के प्राइवेट डॉक्टरों पर पाबंदी, सर्दी-जुकाम का इलाज नहीं करेंगे
कांग्रेस की गोपनीय लिस्ट ज्योतिरादित्य सिंधिया के पास पहुंच गई
इंदौर लॉक डाउन 4.0 में: किसको कितनी छूट मिली, पढ़िए
मध्य प्रदेश के 43 जिले ग्रीन जोन में, लॉक डाउन 4.0 के लिए सीएम शिवराज सिंह की गाइडलाइन
सीबीएसई 10वीं-12वीं परीक्षा का टाइम टेबल
मप्र आईएएस अफसरों के तबादले
मध्यप्रदेश में कोरोना 5000 के पार, आज 5373 में से 259 पॉजिटिव
इस साल स्कूल नहीं खुलेंगे तो बच्चों को कैसे पढ़ाएंगे, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया
लॉकडाउन 4.0 : जबलपुर में ऑड और ईवन का फॉर्मूला लागू होगा
ग्वालियर में दूध की आड़ में समोसे-कचौड़ी बेच रहा था, गिरफ्तार


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here