Loading...    
   


शरीर में कोरोना के लक्षण नहीं फिर भी रिपोर्ट में पॉजीटिव आया / GWALIOR NEWS

ग्वालियर। लोगों के शरीर में कोरोना वायरस पहुंच चुका है, लेकिन बाहर से ऐसे व्यक्ति में किसी भी प्रकार का कोरोना रोग संबंधी लक्षण नहीं दिखाई दे रहा है। साथ ही न सर्दी, न खांसी और न ही बार-बार बुखार आ रहा है लेकिन फिर भी सत्तर फीसदी लोग कोरोना पॉजीटिव मिल रहे हैं, शहर में भी तीन दर्जन से अधिक ऐसे ही मरीज अब तक मिल चुके हैं जो कि कोरोना पॉजीटिव मिले हैं लेकिन उनमें कोरोना रोग संबंधी कोई सिस्टम नहीं है। लेकिन डॉक्टरों का कहना है कि हमें अभी सावधानी बरतने की जरुरत है जरा सी लापरवाही जान को भारी पड़ सकती है।

शहर में अब जो भी कोरोना पॉजीटिव मरीज सामने आ रहे हैं उन मरीजों में कोरोना के सिस्टम दिखाई ही नहीं दे रहे हैं जिससे इलाज कर रहे चिकित्सक भी हतप्रभ हैं। शहर में अभी तक 74 मरीज कोरोना संक्रमित मिल चुके हैं इनमें से 27 फीसदी मरीज कोरोना से जंग जीतकर पूर्णत: स्वस्थ हो चुके हैं इन सभी मरीजों में भी कोरोना संक्रमण के लक्षण भर्ती होने के दौरान नहीं दिखे थे।

बेहतर इम्यूनिटी वायरस पर भारी

कई लोग कोरोना संक्रमित होने के बाद इलाज लेने के बाद पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं। रिकवरी रेट सौ फीसदी होने का कारण इन मरीजों की प्रतिरोधात्मक क्षमता मजबूत होना है। शरीर की बेहतर इम्यूनिटी होने के कारण ही कोरोना से पीडि़त होने के बाद बेहतर इलाज लेने पर मरीज ठीक हो रहे हैं। इस मामले में डॉक्टरों का कहना है कि संतुलित भोजन व योग व शारीरिक व्यायाम नियमित करने से भी इस वायरस से जंग जीती जा सकती है।

जागरुक नागरिक की निभाएं भूमिका

इस मामले में जेएएच में एसोसिऐट प्रोफेसर डॉ. अजय पाल का कहना है कि निश्चित तौर पर नहीं कहा जा सकता है कि लोगों में सामू्रहिक प्रतिरोधक क्षमता विकसित हो रही है। लेकिन यह सही है कि कई मरीज ऐसे हंै जो बिना लक्षण के ही पॉजीटिव सामने आ रहे हैं। ऐसे में यह किसके संपर्क आए मिलने वालों की सूची तैयार कर पता लगाया जा सकता है। इसके लिए लोग स्वयं ही जागरुक नागरिक की भूमिका निभाकर आगे आएं और बताएं कि वे किस पॉजीटिव के संपर्क में आने के कारण संक्रमित हुए हैं।

20 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

सिंधिया के समर्थन में इस्तीफा देने वाले विधायकों के टिकट खतरे में
सरकार बिजली बचाने क्यों कहती है जब उसे स्टोर ही नहीं किया जा सकता
विधायक कमलनाथ और सांसद नकुल नाथ लापता, छिंदवाड़ा में पोस्टर लगे
कंप्यूटर को टीवी की तरह डायरेक्ट स्विच ऑफ क्यों नहीं कर सकते
सीएम शिवराज सिंह व प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा को क्वारंटाइन किया जाए: कमलनाथ
मप्र उपचुनाव: दिग्विजय सिंह के सेनापतियों ने कमलनाथ को घेरा
लॉक डाउन 4.0 भोपाल में क्या कर सकते है क्या नहीं पढ़िए
मध्य प्रदेश में 22 मई से कोई नहीं रहेगा बेरोजगार: शिवराज सिंह चौहान
सिंधिया समर्थक पूर्व मंत्री ने टिकट के लिए लॉकडाउन तोड़ जुलूस निकाला
सीएम सर, शिक्षक भर्ती के मुद्दे को गंभीरता से क्यों नहीं लेते
मध्य प्रदेश कांग्रेस में सबसे बड़े 'दुष्ट' की तलाश, जो दिग्विजय सिंह को निचोड़ रहा है
बस की सीट पर न्यूजपेपर रखकर बैठने से क्या जी-मिचलाना बंद हो जाता है
लॉकडाउन 4.0 जबलपुर में एक दिन छोड़ कर दुकानें खुलेंगी
मध्य प्रदेश: 2 नए जिलों में कोरोना, 8 जिले 100 से ऊपर, 13 जिलों में 50 प्लस


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here