Loading...    
   


मध्यप्रदेश में लौट कर आए लाखों मजदूर वापस नहीं जाएंगे, इनका उपयोग करें: वीडी शर्मा / MP NEWS

भोपाल। कोरोना महामारी के चलते अन्य प्रदेशों में काम कर रहे मध्यप्रदेश के मजदूर बड़ी संख्या में वापस आ रहे हैं। जो कुछ बचे हैं, वे भी किसी भी तरह घर लौटना चाहते हैं। ये लोग इतने आशंकित हैं कि ये अब लंबे समय तक अपना घर छोड़कर वापस नहीं जाएंगे। ऐसे में प्रदेश में इतनी प्रचुर मात्रा में उपलब्ध श्रमशक्ति का उपयोग एक बड़ी चुनौती होगी और MSME उद्यमियों को ऐसे उद्योगों पर विचार करना चाहिए, जो गांव, खेती और श्रमशक्ति के उपयोग पर आधारित हों। यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री विष्णुदत्त शर्मा ने सोमवार को एमएसएमई उद्यमियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान कही। श्री शर्मा ने उद्यमियों को केंद्र और राज्य सरकारों से चर्चा के उपरांत उनकी बताई समस्याओं के समाधान का आश्वासन भी दिया। 

प्रदेश में बड़ी मात्रा में उपलब्ध होगा मानव श्रम 

वीडियो कांफ्रेंसिंग में श्री शर्मा ने कहा कि कोरोना महामारी के चलते अन्य प्रदेशों से मजदूर हर तरह की कठिनाइयां उठाकर वापस आ रहे हैं। कई मजदूर सैकड़ों किलोमीटर की पैदल यात्रा कर रहे हैं। काम धंधे बंद होने से पैदा हुई कठिनाइयों और रास्ते की मुश्किलों ने इन लोगों को इतना भयभीत कर दिया है कि ये अब जल्दी लौटने वाले नहीं हैं। वहींए जो मजदूर किसी वजह से वापस नहीं आ सके हैंए वे भी अपने गांव वापस आना चाहते हैं। ऐसी स्थिति में आने वाले समय में प्रदेश में प्रचुर मात्रा में मानव श्रम उपलब्ध होगाए जिसका समुचित इस्तेमाल एमएसएमई के लिये एक चुनौती होगी। 

अवसर में बदल सकती है चुनौतियां 

श्री शर्मा ने कहा कि प्रदेश में जो परिस्थितियां बनी हैं उसमें एमएसएमई उद्यमियों को इस बात पर विचार करना चाहिए कि कैसे उद्योगों को गांवए कृषि और श्रमशक्ति पर केंद्रित बनाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि हमारे मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चैहान और संबंधित मंत्रियों ने इस बारे में सोचना तथा काम करना शुरू कर दिया है। लेकिन यदि एमएसएमई उद्यमी भी प्रयास करेंए आज जो चीजें चुनौतियों की तरह लग रही हैंए वे आने वाले समय में एक अवसर भी साबित हो सकती हैं। श्री शर्मा ने कहा कि उद्यमों में गांव, कृषि और मानव श्रम का समुचित उपयोग आने वाले समय में गांव आधारित अर्थव्यवस्था का मार्ग प्रशस्त करेगा। श्री शर्मा ने कहा कि कोरोना महामारी से आशंकित और आतंकित देश के लोग आने वाले कुछ समय तक विदेश जाने से भी हिचकेंगे, ऐसे में देश और प्रदेश के पर्यटन उद्योग के लिए अच्छी संभावनाएं हैं। एमएसएमई उद्यमियों को पर्यटन से जुड़े उद्यमों की स्थापना पर भी विचार करना चाहिए। 

11 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

मुख्यमंत्री, अधिकारियों से काम नहीं करवा पा रहे, 4.49 लाख में से मात्र 1.35 लाख को ही ePASS जारी
पन्ना में कोरोना की रिपोर्ट ले जा रहे हैं टीआई का एक्सीडेंट, मौत 
लॉकडाउन में BANK LOAN पर ब्याज माफी के लिए सुप्रीम कोर्ट ने नोटिस जारी किया 
ग्वालियर में लॉकडाउन में बेरोजगार हुए युवक ने सड़क पर खुद को आग लगा ली


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here