Loading...    
   


स्वामित्व योजना क्या है, इससे क्या फायदा होगा, यहां पढ़िए / What is swamitva Yojana


नई दिल्ली। पंचायत राज दिवस के अवसर पर भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने भारत के ग्रामीण क्षेत्रों के लिए 'स्वामित्व योजना' की घोषणा की है। इसी के साथ दावा किया है कि इस योजना के कारण ग्रामीण क्षेत्रों में होने वाले जमीनी विवाद लगभग खत्म हो जाएंगे। आइए जानते हैं स्वामित्व योजना क्या है और इस योजना से ग्रामीणों को क्या लाभ होगा। 

संपत्ति का मालिकाना प्रमाणपत्र दिया जाएगा

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि गांवों में संपत्ति को लेकर जो स्थिति रहती है वो आप जानते हैं। 'स्वामित्व योजना' इसी को ठीक करने का प्रयास है। इसके तहत देश के सभी गांवों में ड्रोन के माध्यम से गांव की हर संपत्ति की मैपिंग की जाएगी। इसके बाद गांव के लोगों को उस संपत्ति का मालिकाना प्रमाणपत्र दिया जाएगा। 

इसके बाद फिर किसी भी प्रकार का विवाद नहीं होगा

कार्यक्रम में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के उद्बोधन से पहले एक सरकारी रिपोर्ट दिखाई गई जिसमें बताया गया कि भारत की 60% आबादी ग्रामीण क्षेत्रों में रहती है। ज्यादातर लोगों के पास उनकी संपत्ति के स्वामित्व के दस्तावेज नहीं हैं। अंग्रेजों के समय से ग्रामीण क्षेत्रों में जमीनों का बंदोबस्त होता आया है। यही बंदोबस्त ग्राम विवाद का मुख्य कारण होता है। स्वामित्व योजना के माध्यम से ग्रामीणों को उनकी संपत्ति का मालिकाना हक मिल जाएगा। इसके बाद फिर किसी भी प्रकार का विवाद नहीं होगा।

स्वामित्व योजना के बाद संपत्ति पर लोन मिल सकता है

PM श्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि गांवों में संपत्ति को लेकर जो स्थिति रहती है वो आप जानते हैं। 'स्वामित्व योजना' इसी को ठीक करने का प्रयास है। इसके तहत देश के सभी गांवों में ड्रोन के माध्यम से गांव की हर संपत्ति की मैपिंग की जाएगी। इसके बाद गांव के लोगों को उस संपत्ति का मालिकाना प्रमाणपत्र दिया जाएगा।

स्वामित्व योजना सबसे पहले किन राज्यों में शुरू होगी 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बताया कि इससे शहरों की ही तरह गांवों में भी लोन ले सकते हैं। जब आपके पास स्वामित्व होगा तो उस सं​पत्ति के आधार पर आप बैंक से लोन ले सकते हैं। अभी उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, कर्नाटक, हरियाणा, मध्यप्रदेश और उत्तराखंड में इस योजना को प्रारंभिक तौर पर शुरू कर रहे हैं।

24 अप्रैल को सबसे ज्यादा पढ़ी जा रही खबरें

दो इलेक्ट्रिक पोल के बीच तार ढीला क्यों होता है, सीधा क्यों नहीं होता, आइए जानते हैं 
लॉक डाउन में अमूल ने दाम घटाए, बिक्री बढ़ी, आइसक्रीम नहीं पनीर खा रहे हैं लोग 
रेलवे स्टेशन और रेलवे जंक्शन में क्या अंतर है, एक स्टेशन कब जंक्शन बन जाता है 
बेईमान राशन विक्रेता का वीडियो बनाकर भेजें: कलेक्टर 
मध्यप्रदेश कोरोना बुलेटिन: आज नए 100, कुल पॉजिटिव 1687, मृत्यु 83, स्वास्थ 203, सबसे गंभीर उज्जैन
मध्य प्रदेश: स्कूलों में छुट्टी एवं online class के नए आदेश
RGPV ने ऑनलाइन परीक्षाओं की तैयारियां शुरू की, EXAM DATE FIX
तकिए के पीछे न्यूड नेहा कक्कड़, फैंस ने जमकर ट्रोल किया
ज्योतिरादित्य सिंधिया: बीजेपी ज्वाइन करने के बाद भी कांग्रेस के कनेक्शन में क्यों हैं
कोरोनावायरस के कारण कर्मचारियों व पेंशनर्स के महंगाई भत्ता पर रोक
कमलनाथ के प्रिय IAS सभाजीत यादव रिटायरमेंट के 10 दिन पहले सस्पेंड
कोरोना पॉजिटिव के शव को कब्रिस्तान की जगह सीधे घर ले गए परिजन
DAMOH: 6 साल की मासूम का रेप, आंख फोड़ी, बोरे में बंद कर जंगल में फेंका
मंत्रिमंडल : जब कुछ न बन सका तो तमाशा बना लिया
मध्यप्रदेश में कॉलेज प्रोफेसरों के ग्रीष्मकालीन अवकाश निरस्त
जीतू पटवारी द्वारा फॉलेन आउट किए अतिथि विद्वानों को शिवराज सिंह सेवा में लेंगे: संघर्ष मोर्चा को उम्मीद


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here