Loading...    
   


ऑनलाइन के नाम पर खुला है दाल बाजार | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। किराना कारोबारियों को दुकानें बंद रखने की हिदायत दी गई है लेकिन इसके बाद भी शहर में खेरिज का कारोबार करने वाले किराना कारोबारी अपनी दुकानों के शटर चोरी छिपे खोल रहे हैं। शनिवार को दाल बाजार के शटर खुले थे और दुकानों पर खरीदारी हो रही थी, दुकानदार पुलिस को देखकर शटर डाउन कर रहे थे और जैसे ही पुलिस आगे बढ़ती तो शटर उठा लेते।

जिला प्रशासन और पुलिस कप्तान ने दाल बाजार के कुछ कारोबारियों को दुकानों के शटर उठाने की अनुमति दी है जिससे ऑनलाइन बेचने वालों को और प्रशासन द्वारा गरीबों को जो राशन दिया जा रहा है वह उपलब्ध कराया जा सके। ऑनलाइन की आड़ में दाल बाजार के अधिकांश शटर उठे थे और कारोबारी खेरिज में कारोबार कर रहे थे।

दाल बाजार में कारोबारी कारोबार कर रहे हैं इसकी खबर पुलिस अधिकारियों तक भी पहुंची। सुबह 8.30 बजे के बाद पुलिसकर्मी सक्रिय हो गए और उन्होंने दुकानों के शटर डाउन कराना शुरु कर दिए, जिन लोगों ने कहा कि वह ऑनलाइन डिलेवरी वालों को सामान पहुंचा रहें हैं उन्हें राहत दी गई। 

कुछ दुकानें की हैं अधिकृत

प्रशासन द्वारा घर-घर राशन पहुंचाने के लिए दो दर्जन से ज्यादा दुकानें अधिकृत की गई हैं जो ऑनलाइन डिलेवरी दे रही हैं। इन दुकानों पर राशन की कमी न रहे इसके लिए दाल बाजार में कुछ दुकानों को अनुमति दी गई है कि वह सिर्फ ऑनलाइन कारोबारियों को सामान देंगे, लेकिन यह कारोबारी ऑनलाइन की आड़ में अपना कारोबार चमका रहे हैं।

12 अप्रैल को सबसे ज्यादा पढ़ी जा रहीं खबरें

कीबोर्ड के बटन ABCD (अल्फाबेटिकल) क्यों नहीं होते, क्या कोई रीजन है या गलती 
चेन पुलिंग करने पर बोगी का नंबर रेल पुलिस को कैसे पता चल जाता है 
इंदौर में मुसलमानों ने एडवांस में कब्रें खुदवा लीं, कब्रिस्तान में वेटिंग चल रही थी 
ग्वालियर बाजार अब 3 पार्ट में खोलने की तैयारी 
24 घंटे खुलेगी सब्जी की दुकान, किसानों के लिए भी नया प्लान: शिवराज सिंह चौहान 
पत्नी को धर्मपत्नी क्यों कहते हैं, क्या कोई लॉजिक है या बस मान-सम्मान के लिए 
शिक्षकों को कोरोना ड्यूटी पर लगाया, PPE और INSURANCE की मांग 
मध्य प्रदेश: 78 नए पॉजिटिव, कुल 529, 22 जिले, 14 गंभीर, 437 स्थिर | कोरोना बुलेटिन
रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म पर बनेगी एक विशेष सुरंग 
लॉक डाउन के बीच मंत्री नरोत्तम मिश्रा के भाई कुलसचिव नियुक्त 
मध्य प्रदेश में राष्ट्रपति शासन की मांग, सांसद विवेक तन्खा ने पत्र लिखा 
छिंदवाड़ा में पहचान छुपा कर रह रहे थे चार जमाती
पंचायत सचिवों ने भी 50 लाख का बीमा और PPE KIT मांगे 
मध्य प्रदेश: 12वीं की परीक्षा नहीं हुई फिर भी कॉलेज में एडमिशन मिलेगा 
कोरोना फाइटर वंदना तिवारी की दर्दनाक मौत, DM से लेकर CM तक किसी ने मदद नहीं की 
मध्यप्रदेश: हे! सरकार, प्रसिद्धि के अवसर बाद में भी आयेंगे 
आरक्षक आनंद कोरोना ड्यूटी करने 450km पैदल चलकर जबलपुर पहुंचे 
भिंड में जनधन के 5-5 सौ लेने गई महिलाएं 10-10 हजार का मुचलका भरके छूटीं (वीडियो देखें) 




भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here