Loading...    
   


शिक्षकों को कोरोना ड्यूटी पर लगाया, PPE और INSURANCE की मांग | EMPLOYEE NEWS

इंदौर। समग्र शिक्षक संघ ने मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान एवं मुख्य सचिव श्रीपाल सिंह बैंस के नाम एक ज्ञापन मेल किया है। शिक्षक संघ की मांग रखी मध्यप्रदेश में जहां-जहां भी शिक्षकों की ड्यूटी कोरोनावायरस संक्रमित क्षेत्र में लगाई गई है, ऐसे शिक्षकों को PPE किट एवं कोरोना ड्यूटी कर रहे दूसरे शासकीय कर्मचारियों की तरह ₹5000000 का बीमा कवर प्रदान किया जाए।

समग्र शिक्षक संघ के प्रदेश महामंत्री संजय तिवारी का कहना है कि प्रदेश के अनेक जिलों में शिक्षकों की ड्यूटी कोरोना संक्रमित क्षेत्र जिन्हे एरिया कंटोनमेंट घोषित किया, आंगनवाड़ी, आशा कार्यकर्ताओं के साथ शिक्षको की भी ड्यूटी लगाई है, इंदौर के शिक्षकों का आरोप है कि इस बाबत न तो शिक्षको को कोई पूर्व प्रशिक्षण दिया गया है और न ही उन्हें सुरक्षा किट प्रदान दी गई है, न ही शासन स्तर से शिक्षकों को विशेष बीमा सुरक्षा सुविधा दी है। जबकि राज्य शासन द्वारा राहत और बचाव से जुड़े प्रत्येक स्वास्थ्य और पुलिस विभाग के अधिकारियों कर्मचारियों को 50 लाख तक का विशेष बीमा कवर प्रदान किया है विशेष प्रशिक्षण के साथ साथ मेडिकल सुरक्षा किट प्रदान की गई है, यहां तक कि सम्बन्धित कर्मचारियों के परिवारों को संक्रमण से बचाने के लिए उन्हें ड्यूटी स्थल पर रुकने की समुचित व्यवस्था का प्रावधान किया गया है। 

श्री तिवारी का कहना है कि इंदौर जैसे एरिया कंटोनमेंट घोषित क्षेत्रों में भी शिक्षको और उनके साथ संलग्न कर्मचारियों के लिए ऐसी कोई सुविधा उपलब्ध न कराया जाना, 55 वर्ष से अधिक आयु, तथा बीमार शिक्षकों कर्मचारियों को संलग्न किया जाना ना केवल चिंताजनक है, बल्कि डब्ल्यूएचओ के दिशा निर्देशों का भी उल्लंघन है!

समग्र शिक्षक संघ ने लिखा सीएम और सीएस को पत्र

समग्र शिक्षक संघ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और मुख्य सचिव मध्यप्रदेश शासन को पत्र मिलकर आग्रह किया है कि देशसेवा से संबंधित किसी भी प्रकार की ड्यूटी करने से शिक्षकों को कोई गुरेज नहीं है, लेकिन यह प्रश्न सम्बन्धित शिक्षको/ कर्मचारियों के साथ साथ उनके परिवारों की सुरक्षा से जुड़ा है, ऐसे में डब्ल्यूएचओ की गाइडलाइन के अनुसार 55 वर्ष से अधिक आयु के शिक्षकों/कर्मचारियों के अलावा हृदय रोग, शुगर, ब्लड प्रेशर, का इलाज ले रहे शिक्षकों कर्मचारियों को ड्यूटी से छूट देते हुए आपदा से जुड़े संबंधित शिक्षकों कर्मचारियों को स्वास्थ्य और पुलिस विभाग के अधिकारियों, कर्मचारियों की भांति बीमा कवर ट्रेनिंग, सुरक्षा किट तथा घर से बाहर रहने की सुविधा मुहैया कराई जाए उसके बाद ही कोरोना प्रभावित क्षेत्रों में शिक्षकों की सेवाएं ली जाए।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here