Loading...    
   


कोरोना पॉजिटिव का 10 हॉस्पिटल ने नहीं किया इलाज, एंबुलेंस में मौत / INDORE NEWS

इंदौर। कोरोना पॉजिटिव एक बुजुर्ग मरीज ने शुक्रवार शाम अस्पताल के बाहर दम तोड़ दिया। 65 साल का यह मरीज तीन दिन से गोकुलदास अस्पताल में भर्ती था। गुरुवार रात आई कोरोना जांच रिपोर्ट में पॉजिटिव होने का पता चला। इस पर उसे अरबिंदो अस्पताल शिफ्ट करने के लिए रवाना कर दिया गया। वहां बुजुर्ग से कहा गया कि इलाज की फाइल नहीं है, ऐसे में भर्ती नहीं किया जा सकता। अंततः इंतजार में अस्पताल के बाहर ही मरीज ने दम तोड़ दिया। बुजुर्ग के परिवार में 22 लोग हैं। आधे से ज्यादा सदस्य बुखार और खांसी से पीड़ित हैं। उन्होंने शुक्रवार शाम वाट्सएप ग्रुप पर वीडियो जारी कर मदद की गुहार लगाई।    

माणिकबाग रोड स्थित नंदनवन कॉलोनी में रहने वाले बुजुर्ग के परिवार के लोग वीडियो में गुहार लगाते दिखे कि घर में कई लोग बुखार और खांसी से पीड़ित हैं। प्रशासन की ओर से कोई आकर मदद करे। इसके बाद शाम करीब 7 बजे उनके घर पर स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंची। टीम ने परिवार के लोगों से जानकारी लेते हुए दवाइयां दीं और क्वारंटाइन रहने की हिदायत की। परिवार के एक सदस्य के मुताबिक टीम के साथ आई एक मैडम हमें नंबर देकर गई है कि तकलीफ बढ़े तो फोन करना। तब तक उन्होंने क्वारंटाइन में रखने के लिए कहीं व्यवस्था करने की बात कही है।

परिवार के सदस्य अस्पतालों की बेरुखी और घर के एक सदस्य की मौत से घबरा गए हैं। एक सदस्य ने बताया कि  कि हमारे बाबा (मृतक) को चार दिन पहले बुखार था। हम उन्हें लेकर शहर के करीब 10 अस्पतालों में गए। सभी ने इलाज करने से मना कर दिया। शाम को लौटे तो बाबा हिम्मत हार चुुके थे। अगले दिन एक परिचित डॉक्टर की सिफारिश पर गोकुुलदास अस्पताल में भर्ती किया गया। तीन दिन वहीं इलाज चलता रहा। गुरुवार रात पॉजिटिव रिपोर्ट आई तो एंबुलेंस में अरबिंदो अस्पताल शिफ्ट होने के लिए रवाना कर दिया गया। वहां कहा गया कि जब तक फाइल नहीं होगी, अंदर नहीं लेंगे। आधा घंटे बाद उन्होंने एंबुलेंस में दम तोड़ दिया। हमें समझ नहीं आ रहा है कि गोकुलदास से उन्हें भेजा गया था तो फाइल वहां कैसे रह गई।



25 अप्रैल को सबसे ज्यादा पढ़ी जा रहीं खबरें

रेलवे स्टेशन और रेलवे जंक्शन में क्या अंतर है, एक स्टेशन कब जंक्शन बन जाता है 
E-GRAM SWARAJ App Download यहां से करें, पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा ग्राम पंचायतों के लिए लांच
ज्योतिरादित्य सिंधिया: बीजेपी ज्वाइन करने के बाद भी कांग्रेस के कनेक्शन में क्यों हैं 
स्वामित्व योजना क्या है, इससे क्या फायदा होगा, यहां पढ़िए 
कार की स्टीयरिंग बीच सेंटर में क्यों नहीं होती, साइड क्यों होती है 
लॉकडाउन: सभी प्रकार की दुकानें खोलने के आदेश जारी, शर्तें लागू 
सहकारी समितियां किसानों से कर्जवसूली कर रहीं हैं, रोकिए शिवराज
ज्योतिरादित्य सिंधिया को उनके गढ़ में धूल चटाने कमलनाथ की कोर टीम तैयार 
लॉक डाउन में अमूल ने दाम घटाए, बिक्री बढ़ी, आइसक्रीम नहीं पनीर खा रहे हैं लोग 
मध्य प्रदेश: 159 नए मामले, टोटल 1846, संक्रमित जिलों की लिस्ट से 3 नाम घटे 
SLAP KINGS बना दुनिया का सबसे लोकप्रिय मोबाइल गेम, PUBG और Call Of Duty को पीछे छोड़ा
बेईमान राशन विक्रेता का वीडियो बनाकर भेजें: कलेक्टर 
ग्वालियर 10 मंजिला एमके सिटी में आग, लोग चौथी मंजिल से कूदे 
लॉकडाउन ने उजाड़ा पूरा परिवार, बेटी की हत्या कर माँ ने सुसाइड किया 
SC-ST के धनाढ्य लोगों को आरक्षण का लाभ नहीं मिलना चाहिए: सुप्रीम कोर्ट 
जबलपुर में आर्मी ऑफिसर और उसकी पत्नी ने आत्महत्या की 
भोपाल में 8 माह के बच्चे सहित 1 ही परिवार 4 लोग कोरोना पॉजिटिव 
शिवराज सरकार ने घुटने टेके, पेरेंट्स को स्कूल संचालकों के सामने लावारिस छोड़ दिया


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here