Loading...    
   


मध्यप्रदेश में सिर्फ शिक्षकों को कोरोना अवकाश नहीं दिया गया: कर्मचारी संघ | MP NEWS

भोपाल। नोवल कोरोना (COVID-19) के गुणात्मक फैलाव ने विश्व स्तर पर मानवता जाति के लिए खतरे की घंटी बजाई है। मप्र तृतीय वर्ग शास कर्म संघ के प्रांतीय उपाध्यक्ष कन्हैयालाल लक्षकार ने कहा कि मध्यप्रदेश शासन सामान्य प्रशासन विभाग भोपाल के अपर मुख्य सचिव श्री के के सिंह ने दिनांक 19 मार्च को कोरोना की रोकथाम के लिए सभी विभाग प्रमुखों एवं कलेक्टरों को एडवायजरी जारी कर स्वास्थ्य, पेयजल, विद्युत आपूर्ति, साफ-सफाई, अग्निशमन, दूरसंचार सेवाओं को छोड़कर सभी विभाग अपने तृतीय व चतुर्थ श्रेणी के आधे अमले को रोस्टर बनाकर 31 मार्च तक एक दिन छोड़ कर बुलाया जावे। 

माननीय प्रधानमंत्री जी ने अपने संबोधन में बगैर वेतन काटे कर्मचारियों को घर पर रखने की सलाह दी है । "मप्र तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ" मांग करता है कि सभी विभाग इसके अनुपालन में  विभागीय आदेश जारी कर पालन सुनिश्चित करने का कष्ट करे। 

शिक्षा विभाग ने बच्चों की उपस्थिति पूर्णतः प्रतिबंधित की है, लेकिन प्रदेश का आधा अमला लगभग पांच लाख शिक्षकों को अभी भी बुलाया जा रहा हैं जो गलत है। संपर्क से फैलने वाले वायरस को रोकने के लिए बड़ी संख्या  में  शिक्षकों का अवकाश मील का पत्थर साबित होगा । संपर्क से दूरी ही कोरोना वायरस पर विजय के लिए कारगर साबित होगी।

21 मार्च 2020 को सबसे ज्यादा पढ़ी गई खबरें

सिर्फ मादा मच्छर इंसानों का खून क्यों पीती है, जबकि महिलाएं हिंसा पसंद नहीं करती 
कोरोना वायरस: ग्वालियर कलेक्टर गाइडलाइन जारी 
जबलपुर अस्पताल में कोरोना के नाम पर लोगों को कैद कर दिया गया (वीडियो देखें)
ग्वालियर में विदेश से लौटा युवक कोरोना की जांच के लिये भटकता रहा
जबलपुर की सीमाएं सील, बसों की आवाजाही पर प्रतिबंध 
जबलपुर में कोरोना वायरस के 4 मरीज, रिपोर्ट पॉजिटिव
कमलनाथ के आंसू सोशल मीडिया पर वायरल
सिंधिया समर्थक सभी विधायकों ने भाजपा की सदस्यता ली, उप चुनाव लड़ेंगे
क्या ट्रक की तरह ट्रेन को धक्का देकर चालू किया जा सकता है, पढ़िए 
बचे हुए mobile data का रात में क्या उपयोग करें, यहां पढ़िए


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here