PM Awas Yojana के नियमों में संशोधन, सभी पर लागू

नई दिल्ली।
प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत भारत में गरीबों को दिए जा रहे मकान के मामले में केंद्र सरकार ने नियमों में संशोधन किया है। एक बात बिल्कुल स्पष्ट कर दी गई है कि सरकार द्वारा गरीबों को स्वयं रहने के लिए लीज पर मकान आवंटित किए जा रहे हैं। लीज का रजिस्टर्ड एग्रीमेंट, संपत्ति की रजिस्ट्री नहीं है। पात्र व्यक्ति जीवन भर उसमें रह सकता है परंतु नियमों का उल्लंघन करने पर अथवा पात्रता के समाप्त हो जाने पर लीज-आवंटन रद्द हो जाएगा। 

पीएम आवास योजना के नए नियमों में क्या लिखा है 

संशोधन के बाद लागू किए गए नए नियमों के अनुसार निर्धन नागरिकों को रहने के लिए घर देने के पांच साल बाद तक यह देखेगी कि आप उस घर में रह रहे हैं या नहीं। अगर आप उस घर में ठीक तरीके से रह रहे हैं तो आपका एग्रीमेंट लीज डीड में बदल जाएगा और आप आगे भी उसी घर में रह सकेंगे। ऐसे लोगों का आवंटन रद्द कर दिया जाएगा जो आवंटित मकान में नहीं रहे बल्कि कहीं और रह रहे हैं। जिन्होंने अपना निजी मकान बना लिया है अथवा आवंटित मकान को किराए पर दे दिया है। 

कानपुर से हुई शुरुआत- 5 साल की लीज

कानपुर विकास प्राधिकरण में रजिस्टर्ड एग्रीमेंट टू लीज के तहत लोगों को आवास दिए जा रहे हैं। पहले चरण में 60 लोगों के साथ एग्रीमेंट किया गया है। यहां अभी 10900 से ज्यादा मकानों का आवंटन इसी एग्रीमेंट के जरिए किया जाएगा। कानपुर के बाद बाकी जगहों पर भी ऐसे ही एग्रीमेंट के जरिए पांच साल के लिए घर दिए जाएंगे और लाभार्थियों की समीक्षा के बाद उन्हें लीज डीड दी जाएगी या उनसे घर छीन लिया जाएगा।

लीज पर ही रहेंगे फ्लैट

पहले सरकार पात्र लोगों को स्थायी तौर पर घर देती थी। इस वजह से कई लोग अपना सरकारी घर किराए पर देकर खुद कहीं और रहते थे और सरकारी योजना का दुरुपयोग करते थे। अब नए नियमों के अनुसार कोई भी फ्लैट स्थायी तौर पर किसी को भी नहीं दिया जाएगा। सभी लाभार्थियों को लीज में ही मकान मिलेंगे। इस वजह से कोई भी अपना मकान किराए पर नहीं दे पाएगा।

क्या है नियम
नए नियमों में यह साफ किया गया है कि जिस व्यक्ति को घर आवंटित हुआ है, उसकी मौत होने पर उसके परिवार के सदस्यों को ही यह घर मिलेगा। किसी दूसरे परिवार के सदस्य को घर आवंटित नहीं होगा। साथ परिवार के लोगों को इस घर में 5 साल गुजारना होगा तभी उनकी लीज आगे बढ़ेगी और उनके घर छोड़ने पर मकान से उनका लीज एग्रीमेंट भी खत्म हो जाएगा।

26 सितम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

MP PEB EXAM CALENDAR 2021-22 UPDATE- दिसंबर में चार परीक्षाएं, शेष अगले साल
REAL INSPIRATIONAL STORY- पिता मोटर वाइंडिंग करते हैं, बेटा कलेक्टर बनकर सिस्टम ठीक करेगा 
चयनित शिक्षक NEWS- मुख्यमंत्री ने कहा- पूरा प्रयास कर रहा हूं, चिंता मत करो
MP NEWS- मंत्री विश्वास सारंग से अमित शाह नाराज, मामला भोपाल में चालीसा का
REAL INSPIRATIONAL STORY- GWALIOR के इलेक्ट्रीशियन की बेटी कलेक्टर बनेगी, UPSC पास
MP PWD NEWS- सब-इंजीनियरों को 3600 ग्रेड पे के लिए हाई कोर्ट का नोटिस जारी
AIIMS BHOPAL NEWS- डिप्टी डायरेक्टर गिरफ्तार, CBI की कार्रवाई, भ्रष्टाचार का आरोप
MP NEWS- तहसीलदार संजय वाघमारे को 4 साल जेल की सजा, भ्रष्टाचार के दोषी पाए गए
MP EMPLOYEE NEWS- 40% से ज्यादा दिव्यांग कर्मचारी के ट्रांसफर पर हाई कोर्ट का स्टे
मध्य प्रदेश मानसून- बंगाली गुलाब की हवाएं मध्य प्रदेश की सीमाओं में, मौसम बदला

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiपानी की टंकी ऊपर तो पेट्रोल टैंक जमीन के नीचे क्यों बनाते हैं
GK in Hindiक्या इनवर्टर से चार्ज करने पर मोबाइल खराब हो जाता है
GK in Hindiपितृपक्ष में कौए को भोजन क्यों कराते हैं, संदेशवाहक कबूतर को क्यों नहीं
GK in Hindiध्रुव तारा की दिशा क्यों नहीं बदलती, हमेशा उत्तर में ही क्यों दिखता है
GK in Hindiदुर्योधन की पत्नी कौन थी, किसकी पुत्री थी और कैसे विवाह हुआ
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com