MP EMPLOYEE NEWS- हाईकोर्ट ने पटवारियों की हड़ताल अवैध घोषित की

भोपाल
। पिछले 18 दिन से चल रही पटवारियों की हड़ताल बिना किसी नतीजे के समाप्त हो गई। हाईकोर्ट ने हड़ताल को अवैध घोषित करते हुए पटवारियों से काम पर लौटने के लिए कहा था। इसी के साथ पटवारियों ने अपनी हड़ताल समाप्त कर दी। पटवारी काम पर लौट आए हैं।

हड़ताल कर रहे पटवारियों को एक दिन पहले ही तहसीलदारों ने भी समर्थन दिया था। यह भी कहा था कि पटवारियों की मांगों का निराकरण नहीं किया गया तो हड़ताल में शामिल होना पड़ेगा। इतना ही नहीं, सरपंच संघ, राजस्व निरीक्षक संघ और भारतीय किसान संघ ने भी समर्थन दे दिया था। प्रदेश भर के पटवारी गृह जिलों में तबादला करने, अनुकंपा नियुक्ति के प्रकरणों में तेजी लाने, ग्रेड पे बढ़ाने, वरिष्ठता प्राप्त पटवारियों को पदोन्नति देने, खाली पदों को भरने जैसी मांगें कर रहे हैं।

कोरोना टीकाकरण महाअभियान का किया था बहिष्कार

पटवारियों ने दो दिन तक चले कोरोना टीकाकरण महाभियान का बहिष्कार कर दिया था। यह अभियान 25 व 26 जुलाई को बड़े पैमाने पर किया गया था। इसमें लाखों लोगों को कोरोना से बचाव टीके लगाए गए हैं। प्रदेश भर में पटवारियों के 19 हजार से अधिक पद हैं। इनमें से 17 हजार पदों पर पटवारी काम कर रहे हैं। बाकी के पद खाली हैं, जिन्हें भरने की मांग पटवारी लगातार कर रहे हैं। इनका कहना है कि पद खाली होने के कारण उन्हें अतिरिक्त काम करना पड़ रहा है। शासन ने इस संबंध में उचित कार्रवाई करने का भरोसा दिया है।

बाढ़ प्रभावित जिलों में हड़ताल से ज्यादा परेशानी हुई

पटवारियों की हड़ताल के कारण ग्वालियर, शिवपुरी, भिंड जैसे बाढ़ प्रभावित जिलों में लोगों को ज्यादा परेशान होना पड़ा है। यहां बाढ़ से हुए नुकसान के सर्वे में पटवारियों की सबसे ज्यादा जरूरत थी। उसी समय पटवारियों की हड़ताल हुई और अनेक प्रभावित लोगों का नाम सर्वे सूची में नहीं जुड़ पाया। हालांकि प्रशासन ने सर्वे के लिए दूसरी टीमें लगाई थीं, लेकिन पटवारी द्वारा किए जाने वाला सर्वे ही मान्य होता है। सर्वे के तकनीकी बिंदुओं को वे ही अधिक समझते हैं और ठीक से नुकसान का आकलन कर पाते हैं।

पटवारियों पर हो सकती थी कार्रवाई

हड़ताल को लेकर हाईकोर्ट का आदेश नहीं आता तो पटवारियों को कार्रवाई का सामना भी करना पड़ सकता था। अब ऐसी स्थिति नहीं बनेगी। सरकार को भी हाईकोर्ट के आदेश के बाद पटवारियों की मांगों पर उचित कार्रवाई कर सूचित करना होगा। 

27 अगस्त को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

मध्य प्रदेश मानसून- बंगाली बदलियों और भादों के बादलों का मिलन होगा, पानी बरसेगा
MP SCHOOL OPEN NEWS- मध्यप्रदेश में कक्षा 1 से 12 तक सभी स्कूल खोलने की तैयारी
MP EDUCATION DEPT- जिला शिक्षा अधिकारियों की तबादला सूची जारी
MP NEWS- सीएम राइज स्कूलों के लिए शिक्षकों की चयन प्रक्रिया शुरू
GK IN HINDI- दुनिया का पहला मोबाइल किस इंजीनियर ने बनाया
INDORE NEWS- कुल 4 SMS से हुआ खुलासा, कल्याणी की शादी क्यों टूटी, फांसी पर क्यों झूली
MP OBC आरक्षण- 6 विभागों को छोड़ सबमें 27% लागू कर सकते हैं
BU BHOPAL NEWS- स्टूडेंट्स एडमिशन को तैयार नहीं, 4098 में से सिर्फ 405 ने फीस जमा की
MP NEWS- कमलनाथ ने सरकारी अधिकारी-कर्मचारियों को फिर धमकाया
MP NEWS- मध्यप्रदेश में कब तक 100% वैक्सीनेशन हो जाएगा, मुख्यमंत्री ने फाइनल डेट बताई

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiएक गांव जहां कोबरा सांप और इंसान साथ-साथ रहते हैं, अच्छे पडोसियों की तरह
GK in Hindi- दवाई वाली गोली- गोल क्यों होती है, मेडिसिन टेबलेट का आकार चौकोर क्यों नहीं होता
GK in Hindiक्या भगवान को प्रसाद में चॉकलेट चढ़ा सकते हैं, पहली चॉकलेट कहां बनी थी
GK in Hindiबिस्किट्स में छोटे-छोटे छेद क्यों होते हैं, सिर्फ डिजाइन है या कोई टेक्नोलॉजी
GK in Hindi- ताश की गड्डी का चौथा राजा सुसाइड क्यों कर रहा है
GK in Hindiएक पौधा जिसे खाने से महीने भर भूख-प्यास नहीं लगती
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here