BHOPAL CORONA- ये हैं हमीदिया और जेपी के बच्चा वार्ड, तीसरी लहर आ गई तो फिर मरेंगे

भोपाल
। डॉक्टरों के लिए मौत एक सामान्य बात है। वह हर रोज मरीजों को मरते हुए देखते हैं लेकिन माता-पिता के लिए बच्चे की मौत सामान्य कैसे हो सकती है लेकिन भोपाल के दोनों सबसे बड़े सरकारी अस्पताल जेपी और हमीदिया के बच्चा वार्ड देखने के बाद कोई भी कह सकता है कि क्षेत्र में तीसरी लहर आ गई तो बिल्कुल वही हालात बनेंगे जो दूसरी लहर के समय बने थे। 

जब तक तीसरी लहर नहीं आएगी तब तक वार्ड तैयार नहीं होंगे

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दूसरी लहर के कमजोर पड़ते ही तीसरी लहर की तैयारियों के लिए निर्देश जारी कर दिए थे। बजट की कमी नहीं है। यदि अपील करेंगे तो भोपाल के समाजसेवी दोनों अस्पतालों को गोद ले लेंगे लेकिन इच्छाशक्ति और ईमानदारी का दान तो नहीं किया जा सकता ना। जेपी अस्पताल में अभी फाॅल सीलिंग और वायरिंग का काम चल रहा है। हमीदिया में एक महीने बाद भी नए भवन की बिल्डिंग में बिजली का लोड बढ़ाने का काम भी नहीं हो पा रहा। 

तीसरी लहर में बच्चों को खतरा, इसलिए मामला बेहद संवेदनशील

कोरोना की दूसरी लहर झेलने के बाद अब अगस्त अंत तक तीसरी लहर की आशंका है। इसमें बच्चों को ज्यादा खतरा बताया जा रहा है। इसके लिए सरकार अस्पतालों में बच्चों के लिए बेड बढ़ा रही है। जयप्रकाश जिला अस्पताल में 20 बेड का आईसीयू तैयार किया जा रहा है। इसमें अभी फाल्स सीलिंग और बिजली वायरिंग का काम चल रहा है। वहीं, एमपी नेशनल हेल्थ मिशन से 4 वेंटिलेटर, बेड साइट मॉनिटर, पल्स ऑक्सीमीटर, ईसीजी मशीन की डिमांड भेजी गई है।

इसके अलावा, एनएचएम से 6 डॉक्टर, 20 स्टाफ नर्स, 6 लैब टेक्निशियन, 10-10 वार्ड ब्वाॅय, सफाई कामगार, सुरक्षा गार्ड की मांग की गई है। जिम्मेदारों का कहना है, 15 अगस्त तक वार्ड का काम पूरा हो जाएगा। हालांकि उपकरण और स्टाफ को लेकर अभी एनएचएम से अस्पताल को जवाब नहीं मिला है। जानकारों का कहना है, वर्तमान स्थिति को देखते हुए सितंबर से पहले वार्ड तैयार होने की संभावना कम लग रही है।

हमीदिया अस्पताल में 80 बेड का वार्ड तैयार किया जा रहा है। इसमें 30 बेड का आईसीयू और 50 ऑक्सीजन बेड डी ब्लॉक में तैयार किए जा रहे हैं। यहां भी अभी बिजली का लोड बढ़ाने के लिए लालघाटी के फीडर से कनेक्शन ही नहीं हो पा रहा। अस्पताल में भी उपकरण खरीदी की प्रक्रिया ही चल रही है।

जयप्रकाश अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ. राकेश श्रीवास्तव ने बताया, 90% काम पूरा हो गया है। 15 अगस्त तक वार्ड तैयार हो जाएगा। हमने उपकरण और अस्पताल के लिए एनएचएम को लिखा है। 

हमीदिया अस्पताल के अधीक्षक डॉ. लोकेन्द्र दवे ने बताया, बिजली के लोड बढ़ाने के लिए कनेक्शन जोड़ने की कागजी प्रक्रिया पूरी हो गई है। इसके बाद वार्ड की फिनिशिंग होने के बाद बच्चों का वार्ड तैयार हो जाएगा। अभी वार्ड में 45 बेड लगा दिए गए हैं।

06 अगस्त को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

मध्य प्रदेश मानसून- गुड न्यूज़, कोई रेड अलर्ट नहीं लेकिन 12 जिलों में भारी वर्षा की चेतावनी
MP COLLEGE ADMISSION- नियमों में संशोधन आदेश जारी
MP RES TRANSFER LIST- पंचायत विभाग की ट्रांसफर लिस्ट
अतिथि शिक्षक NEWS- पुलिस ने नीलम पार्क में ताले जड़े, RSS कार्यालय में धरना दिया
GWALIOR NEWS- बाढ़ पीड़ितों के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की घोषणाएं
INDORE NEWS- सड़क पर पिस्तौल बेचने खड़ी 23 वर्षीय लड़की गिरफ्तार
MP NEWS- चयनित शिक्षकों ने मुर्गा बनकर माफी मांगी
MP NEWS- हद कर दी, रेस्क्यू के नाम पर पर्यटन कर रहे थे SDM, SDOP, जनपद CEO और एक अन्य
MP NEWS- ब्रेकफास्ट पॉलिटिक्स से फ्री हुए दिग्विजय सिंह, 5 दिन बाद बाढ़ के बारे में कुछ बोला
GWALIOR-CHAMBAL में मूसलाधार बारिश क्यों हो रही है, पढ़िए बादलों का विज्ञान
INDORE NEWS- प्राइवेट स्कूल संचालक और पेरेंट्स दोनों तैयार नहीं, ऑनलाइन क्लास चलेंगी

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiशराब में आग क्यों लगती है, पानी में क्यों नहीं लगती, सरल हिंदी में समझिए 
GK in Hindiअंधेरा होने पर भी मच्छरों को हमारी लोकेशन कैसे मिल जाती है 
GK in Hindiरत्ती भर शर्म में, रत्ती से क्या तात्पर्य होता है, पढ़िए मजेदार जानकारी
GK in Hindi- वह कौन सी संख्या है जिसे रोमन में नहीं लिखा जा सकता
GK in Hindiरानियों के रेशमी वस्त्र किससे धुलते थे, वाशिंग पाउडर तो था नहीं
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here