Loading...    
   


कैप्टन के बाद गहलोत, क्या कमलनाथ की बारी भी आएगी - MP NEWS

भोपाल
। कांग्रेस पार्टी के इतिहास में बहुत लंबे समय बाद गांधी परिवार ने यह बता दिया है कि वही हाईकमान है। तमाम लॉबिंग के बावजूद नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब का प्रदेश अध्यक्ष बनाकर सोनिया गांधी ने क्लियर कर दिया है कि वह रबर स्टैंप नहीं है। पंजाब के बाद अब राजस्थान को अशोक गहलोत के चंगुल से मुक्त कराने की बात चल रही है। सवाल यह है कि क्या कमलनाथ की भी बारी आएगी। मध्यप्रदेश के मामले में भी गांधी परिवार स्वतंत्र रूप से फैसला ले पाएगा।

क्षेत्रीय क्षत्रपों के बीच अपनी ताकत बताना भी जरूरी था

कांग्रेस के राजस्थान प्रभारी अजय माकन के एक Retweet ने राजस्थान में राजनीतिक सरगर्मी बढ़ा दी है। अजय माकन ने एक पत्रकार के ट्वीट को रीट्वीट किया है, अपने ट्वीट में पत्रकार ने लिखा था कि सिद्धू को पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष नियुक्त करके पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने सही किया है क्योंकि शीर्ष नेतृत्व को कांग्रेस के क्षेत्रीय क्षत्रपों के बीच अपनी ताकत बताना भी जरूरी था। किसी भी राज्य में कोई क्षत्रप अपने दम पर नहीं जीतता है। गांधी नेहरू परिवार के नाम पर ही गरीब, कमजोर वर्ग, आम आदमी का वोट मिलता है। मगर चाहे वह अमरिन्द्र सिंह हों या गहलोत या पहले शीला या कोई और! मुख्यमंत्री बनते ही यह समझ लेते हैं कि उनकी वजह से ही पार्टी जीती।

मध्यप्रदेश में कांग्रेस यानी कमलनाथ हो गए हैं 

मध्य प्रदेश कांग्रेस की राजनीति में कमलनाथ सन 2018 में आए और आज स्थिति यह है कि मध्यप्रदेश में कांग्रेस यानी कमलनाथ हो गए हैं। उनके मनमाने फैसलों के खिलाफ आवाज उठाने वाले नेताओं को अनुशासन के नाम पर दबा दिया गया। गांधी के हत्यारे गोडसे की पूजा करने वाले नेता को कमलनाथ ने स्वागत के साथ कांग्रेस पार्टी में शामिल किया। विचारधारा जैसी कोई चीज ही नहीं। 

राहुल गांधी तक मध्यप्रदेश के मामले में कोई डिसीजन नहीं ले पाते। शक्ति का संतुलन मध्यप्रदेश में भी जरूरी है। देखना रोचक होगा कि 'ऑपरेशन पंजाब' के पीछे गांधी परिवार का टारगेट क्या था। खुद को हाईकमान समझ बैठे नेताओं को डराना या फिर सचमुच पार्टी में जमीनी स्तर पर सुधार करना।

20 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

मध्यप्रदेश में मानसून के इंतजार में 31 जिले झुलस रहे हैं, किसान बर्बादी के कगार पर
MP EMPLOYEE NEWS- मंत्रालय में हड़ताल का ऐलान, डीए के लिए डटकर लड़ेंगे कर्मचारी
मध्य प्रदेश मानसून- 11 जिलों में भारी वर्षा की चेतावनी, येलो अलर्ट
MP TRIBAL स्कूलों में अतिथि शिक्षकों की भर्ती के आदेश जारी
BHOPAL NEWS- भिंड में पकड़ी गई लेडी डॉन, भोपाल में दहशत
MP NEWS- मामू का जाना तय, दिग्विजय सिंह ने कहा, नरोत्तम मिश्रा ने जवाब दिया
मध्य प्रदेश मानसून- ज्योतिष के अनुसार जुलाई में 5, अगस्त में 4​ दिन वर्षा का योग
MP BY-ELECTION- 5 जिलों में 3 साल पुराने अधिकारियों को हटाने के आदेश
GWALIOR NEWS- ऑनलाइन क्लास में कपड़े उतारने वाला शिवपुरी का छात्र गिरफ्तार
कमलनाथ का मैनेजमेंट फिर फेल, दिल्ली से कैप्टन की लड़ाई हारकर लौटे - MP NEWS
MP NEWS- पटवारियों की संविलियन नीति 2021 के बारे में स्पष्टीकरण

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiपुष्पक विमान किस ईंधन से चलता था, पेट्रोल और बैटरी तो उस समय होते नहीं थे
GK in Hindiआवारा गाय सड़क के बीच क्यों बैठतीं हैं, क्या सुसाइड करना चाहतीं हैं 
गुरु पूर्णिमा कब मनाई जाएगी, 23 को या 24 जुलाई को - GURU PURNIMA 2021 ACTUAL DATE
GK in Hindiपहले भारतीय आईसीएस अफसर का नाम और सफलता की कहानी 
GK in Hindi- मादा कोयल की आवाज मधुर नहीं होती, वह तो अपराधी होती है
GK in Hindi- हिटलर की मूछें टूथब्रश जैसी क्यों थी, योद्धाओं जैसी क्यों नहीं, पढ़िए
GK in Hindiभारत के किस रेलवे स्टेशन का नाम, सबसे बड़ा है, इसमें अंग्रेजी के कुल कितने अक्षर आते हैं 
GK in Hindiसड़क किनारे वृक्षों पर सफेद पेंट क्यों किया जाता है, वैज्ञानिक कारण 
GK in Hindiबर्फ का टुकड़ा पानी में तैरता है तो फिर शराब में क्यों डूब जाता है 
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here