RAJGARH में पैथालॉजी और सैलून संचालक 2 दोस्तों ने 1 दिन में सुसाइड किया, लेकिन आरोपी एक

राजगढ़।
राजगढ़ में दो दोस्तों ने अलग-अलग जगहों पर सुसाइड कर ली। दोनों की खुदकुशी की वजह एक ही बताई जा रही है। एक की पैथालॉजी लैब है और दूसरे का सैलून है। मामला सूदखोरी से जुड़ा हुआ है। एक दोस्त ने अपने हाथ पर एक व्यक्ति का नाम लिखा है। लेकिन यह नाम दूसरे दोस्त की सुसाइड नोट पर भी है। सुसाइड नोट में लिखा है कि इसे तो फांसी होना चाहिए। दोनों ने इस व्यक्ति से सूद पर कर्ज लिया था। 

ब्यावरा के आनंद होटल के एक कमरे में बोड़ा थाना क्षेत्र के हरलाय गांव निवासी युवक नारायण सिंह ने जहर खाकर आत्महत्या कर ली। शव के पास सुसाइड नोट मिला है। इधर पचोर में उसी के दोस्त रामबिलास सेन ने रेलवे की पटरी के पास जाकर जहर खाकर आत्महत्या कर ली। इसके हाथ पर एक नाम लिखा हुआ है। पुलिस के अनुसार पचोर में आत्महत्या करने वाले युवक के हाथ पर राजेश भारतीय का नाम लिखा है। वही नाम ब्यावरा में सुसाइड करने वाले उसके दोस्त नारायण सिंह के सुसाइड नोट में भी लिखा हुआ है।

दोनों ही घटनाओं में मोटा ब्याज वसूलने वाले दो लोगों के नाम की बात कही जा रही है। सुसाइड नोट में जो नाम है, उनके बारे में बताया जा रहा है कि मोटी दर पर ब्याज पर कुछ रुपए देकर बदले में साप्ताहिक दर का ब्याज लगाकर रकम वसूलने का धंधा करता है। मामले में ब्यावरा पुलिस ने मामला दर्ज कर सूदखोर आरोपी राजेश उर्फ हरीश भारती को गिरफ्तार कर लिया है। इधर पचोर पुलिस ने भी जीरो पर मामला दर्ज कर जीआरपी ब्यावरा को केस सौंप दिया है।
 
पचोर के सुस्तानी काॅम्प्लेक्स में मृतक नारायण सिंह की पैथालॉजी लैब एवं मृतक रामबिलास सेन का सैलून है। आरोपी राजेश भारती ने दोनों को कर्ज दे रखा था। बताया जा रहा आरोपी अष्ट चक्रीय ब्याज वसूलता था। इसमें दस रुपए प्रति सैकड़ा प्रतिमाह की दर से जोड़कर प्रति डेढ़ माह में ब्याज की राशि मूलधन में जोड़ देता था। इससे एक डेढ़ वर्ष में ही मूलधन दोगुना हो जाता था। ऐसे ही मामले में पचोर में कई मौतें हो चुकी हैं।

सिर्फ और सिर्फ मेरी मौत का जिम्मेदार हरीश कुमार भारतीय उर्फ राजेश भारतीय निवासी पचोर है। ये व्याजखोर है। पहले भी इसके कारण एक व्यक्ति जहर खाकर मर चुका है। मैं भी इसके कारण ही जान दे रहा हूं। इसे तो फांसी होना चाहिए। मैं मेरे परिवार से बहुत प्यार करता हूं। भाई फूल सिंह मेरे बच्चों का ध्यान रखना। मेरे समधी (व्याईजी) दिनेश नागर खोडियाखेड़ी वाले बहुत अच्छे व्यक्ति हैं। मुझे माफ करना, मैं आपसे आपबीती बयान नहीं कर पाया। लेकिन आज से मेरी बेटियां आपकी बेटियां हैं। आप ध्यान रखना। उनका संबंध (सगाई-शादी) करवाना। मुझे किसी का कर्ज नहीं देना है। मुझे राजेश भारतीय ने फंसा रखा है।

पचोर मे सुसाइड करने वाले रामबिलास सेन ने अपने हाथ पर पेन से लिखा, मौत का कारण राजेश भारतीय है। बारिश के कारण हाथ पर लिखा आधा साफ हो गया, लेकिन राजेश भारतीय लिखा हुआ साफ दिख रहा है। पचोर पुलिस के अनुसार मर्ग कायम कर विवेचना जीआरपी पुलिस को सौंपी दिया है।

29 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

MP COLLEGE REOPEN- नए शिक्षा सत्र का कैलेंडर तैयार
MP NEWS- शिवराज सिंह 2023 के चुनाव में भाजपा का चेहरा नहीं होंगे!
MP NEWS- दूसरा डोज नहीं लगवाने वाले कर्मचारी पर डिपार्टमेंटल एक्शन होगा
MP NEWS- वेरीफाइड शिक्षकों ने नियुक्ति के लिए अभियान चलाया
BHOPAL NEWS- किसानों के लिए नई एडवाइजरी जारी
MP EDUCATION NEWS- मंत्री समूह की बैठक का आधिकारिक प्रतिवेदन
BHOPAL NEWS- HOTEL नूर-उस-सबा में युवती से दुष्कर्म, मुंबई के व्यापारी पर FIR
KHARGONE NEWS- जनपद CEO का शव फांसी पर लटका मिला

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK IN HINDI- इंटरनेट डाटा का उत्पादन कहां और कैसे होता है 
Click Here: G-Shala App Download for Class 1 to 12 
Click Here: Rail Suraksha App यहां से Download करें, चलती ट्रेन में रेलवे पुलिस की हेल्प मिलेगी 
GK in Hindi- यदि चंद्रमा पर खड़े होकर पृथ्वी पर गोली चलाएंगे तो क्या होगा
GK in Hindi- नया शिक्षा सत्र 1 जुलाई से क्यों शुरू होता है 1 जनवरी से क्यों नहीं
HEALTH TIPS IN HINDI- मात्र ₹20 में पेट का पॉइजन खत्म, 20 से ज्यादा बीमारियां नहीं होंगी 
RASHIFAL- 12 में से 6 राशि वालों के लिए गुड न्यूज़
GK IN HINDI- BIKE का इंजन CC में क्यों होता है, हॉर्स पावर में क्यों नहीं होता
GK IN HINDI- ATM से थर्मल पेपर की पर्ची क्यों निकलती है, सादा कागज क्यों नहीं है
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com 


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here