Loading...    
   


पानी कितने प्रकार का होता है, पानी के बारे में मजेदार बातें - GK IN HINDI

विश्व जल दिवस / World water Day

यह तो हम हमेशा से सुनते ही आ रहे हैं कि हमें जल का संरक्षण करना चाहिए, जल को बचाना चाहिए, जल ही जीवन है। यह भी सभी जानते हैं कि हमारी पृथ्वी पर तीन चौथाई (approx 71%) हिस्से पर जल ही है और सिर्फ एक चौथाई हिस्से पर ही जमीन (लैंड, Land) है और हमारे शरीर में भी लगभग 70% पानी है। सवाल यह है कि इतना सारा पानी होने के बावजूद विशेषज्ञ जल संकट की चेतावनी क्यों देते हैं। आइए आज अपन इसका पता लगाते हैं:- 

पानी के बारे में कुछ खास और मजेदार बातें

• पृथ्वी पर जो तीन चौथाई पानी है वह मनुष्यों के उपयोग के लिए योग्य नहीं है।
• पृथ्वी पर उपलब्ध कुल पानी का मात्र 0.5% ही मनुष्यों के उपयोग के लिए योग्य है।
• 0.5% पानी में से भी सिर्फ 0.003% पानी ही हमारे पीने योग्य (Potable water) है।
• बाकी का पानी महासागरों, समुद्रों, खाड़ियों, नदियो, तालाबों ,झीलों, झरनों, बर्फ, हिमखंडों, हिमनदों  के रूप में है जो कि हमें उपलब्ध नहीं होता।

पानी कुल कितने प्रकार का होता है Types of water

1. केशिका जल (Capillary water) - यह पानी मिट्टी के कणों के बीच में फंसा होता है। इसे निचोड़ कर मिट्टी से अलग नहीं किया जा सकता। इसलिए मानव के लिए उपलब्ध नहीं है लेकिन पेड़ पौधों पौधों के लिए सबसे ज्यादा उपयोगी यही पानी होता है क्योंकि पेड़ पौधे पौधे इसी पानी को अपनी जड़ों द्वारा खींच पाते हैं। इसी को मृदा जल (soil water) भी कहा जाता है।

2 भूमिगत जल (underground water) -

पृथ्वी के नीचे जो पानी उपलब्ध होता है उसे ही अंडर ग्राउंड वाटर कहा जाता है। यह जमीन में इतने नीचे होता है कि पेड़-पौधों की जड़ें इस जल क्षेत्र तक नहीं पहुंच पाती। मनुष्य द्वारा भूमिगत जल को ट्यूबवेल एवं इस तरह के उपकरण द्वारा निकाला लिया जाता, जोकि प्रकृति के संचालन के सिद्धांत के विरुद्ध है।

3. Run-away water - 

बहुत तेज बारिश होने की स्थिति में जिस पानी को धरती अवशोषित नहीं कर पाती और वह बरसाती नाले के रूप में वह कर आगे चला जाता है, कभी-कभी बाढ़ का कारण बन जाता है, इसी पानी को Run-away water कहा जाता है। 

मीठा पानी और खारे पानी में क्या अंतर है

पानी के स्वाद के अनुसार वह मीठा (sweet) और खारा (Saline) होता है परंतु विज्ञान की भाषा में ऐसा पानी जिसमें कम मात्रा में अशुद्धियां जैसे-  कैल्शियम, मैग्नीशियम, सोडियम के लवण कम पाए जाते हैं उसे मृदु जल (सॉफ्ट वाटर) कहते हैं जो कि स्वाद में अच्छा होता है इस कारण से मीठा जल कहते हैं।
जबकि ऐसा पानी जिसमें अधिक मात्रा में अशुद्धियां होती हैं कठोर जल (हार्ड वॉटर) कहलाता है। यह स्वाद में थोड़ा नमकीन सा होता है इस कारण इसे खारा जल (salty water) कहते हैं।
आमतौर पर जो पानी नदियों से हमारे घर में नलों द्वारा (Tap water) आता है उसे हम मीठा पानी कहते हैं और जो पानी हमें ट्यूबेल के माध्यम से प्राप्त होता है उसे खारा पानी कहा जाता है। खारा पानी मनुष्य के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है।

इसके अतिरिक्त जैव जल ( Biological water), दलदली पानी (Swamp water),  खनिज वाला पानी (Mineral water) आदि भी हैं। Notice: this is the copyright protected post. do not try to copy of this article 

सामान्य ज्ञानः कुछ मजेदार जानकारियां

(current affairs in hindi, gk question in hindi, current affairs 2019 in hindi, current affairs 2018 in hindi, today current affairs in hindi, general knowledge in hindi, gk ke question, gktoday in hindi, gk question answer in hindi,)


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here