Loading...    
   


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास कितनी संपत्ति और कितना लोन, यहां पढ़िए - Narendra Modi property and loan in Hindi

नई दिल्ली।
भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने अपनी संपत्तियों और देनदारियों की जानकारी सार्वजनिक कर दी है। पिछले 1 साल में उनकी संपत्ति में इजाफा हुआ है। बैंक एफडी के कारण उन्हें फायदा हुआ है जबकि शेयर बाजार के कारण अमित शाह को नुकसान हुआ है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कितना लोन है

70 साल के प्रधानमंत्री पर कोई कर्ज नहीं है। उनके पास 31 हजार 450 रुपए नकद हैं। बैंक खाते में 3.38 लाख रुपए हैं। 31 मार्च 2019 को उनके बैंक खाते में सिर्फ 4,143 रुपए थे। SBI की गांधीनगर शाखा में उनकी BANK FD में 1 करोड़ 60 लाख 28 हजार 39 रुपए हैं। एक साल पहले यह रकम एक करोड़ 27 लाख 81 हजार 574 रुपए थी।

पीएम मोदी टैक्स सेविंग करते हैं क्या

मोदी 8 लाख 43 हजार 124 रुपए के नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट के जरिए टैक्स सेविंग करते हैं। अपने जीवन बीमा के लिए 1 लाख 50 हजार 957 रुपए की प्रीमियम चुकाते हैं। उनके पास नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट के 7 लाख 61 हजार 646 रुपए थे। जीवन बीमा प्रीमियम के रूप में 1 लाख 90 हजार 347 रुपए का पेमेंट किया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बैंक का एफडी में फायदा हुआ

भारतीय स्टेट बैंक की गांधीनगर शाखा में उनकी फिक्स डिपॉजिट की रकम 30 जून 2020 तक बढ़कर 1 करोड़ 60 लाख 28 हजार 39 रुपए हो गई है, जो कि पिछले फाइलेंशियल ईयर में 1 कराड़ 27 लाख 81 हजार 574 रुपए थी। 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए दिए हलफनामे में उन्होंने यह जानकारी दी थी।

पीएम नरेंद्र मोदी के पास कौन सी कार है

ताजा रिपोर्ट के मुताबिक, पीएम मोदी की अचल संपत्ति में कोई खास बदलाव नहीं हुआ है। उनके नाम पर गांधीनगर में एक मकान है, जिसकी कीमत 1.1 करोड़ रुपए है। इस परिवार का मालिकाना हक मोदी और उनके परिवार को है। उनके पास सोने की चार अगूठियां हैं। पीएम मोदी के पास कोई कार नहीं है।

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का वेतन कितना है

मोदी की मासिक तनख्वाह दो लाख रुपए है। कोरोना वायरस से प्रभावित हुई अर्थव्यवस्था को देखते हुए पीएम मोदी ने राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, कैबिनेट सदस्यों और सांसदों के साथ अपनी तनख्वाह में 30% की कटौती की है। इसकी शुरुआत अप्रैल महीने से हुई थी। पीएम मोदी की संपत्तियों में यह बढ़ोतरी उनकी तनख्वाह की बचत और एफडी के ब्याज से हुई है।

15 अक्टूबर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here