Loading...    
   


GWALIOR के लोग शताब्दी और हमसफर ट्रेनों में यात्रा नहीं कर रहे - MP NEWS

ग्वालियर
। ट्रेनों का किराया ज्यादा होने से शताब्दी और हमसफर ट्रेनों में लोग यात्रा करने से परहेज कर रहे हैं। जबकि दीवाली में इन्हीं ट्रेनों में नोरुम की स्थिति देखी जाती थी। इसका कारण कोरोना संक्रमण भी बताया जा रहा है। आलम यह है कि सामान्य ट्रेनों में जहां सीट वेटिंग में है तो स्पेशल ट्रेनें खाली चल रही हैं। 

शताब्दी और हमसफर ट्रेनों में भी सीटें नहीं भर पा रही हैं। हालांकि रेलवे को उमीद है कि दीपावली के त्योहार पर ट्रेनों में बुकिंग फुल हो जाएगी। रेलवे ने कोरोना संक्रमण के बाद कई ट्रेनों को कोविड स्पेशल के नाम से चलाना शुरू किया था। इसके बाद हाल ही में नवरात्र और दीपावली को लेकर पूजा और त्योहार स्पेशल को ट्रैक पर लाया गया। भोपाल शताब्दी और हमसफर ट्रेनों को चलाया गया। रेलवे को उम्मीद थी कि त्योहार ट्रेनों में अधिक भीड़ रहेगी। लेकिन मौजूद समय में कोविड स्पेशल ट्रेनों में लंबी वेटिंग है, लेकिन पूजा स्पेशल ट्रेनें खाली चल रही हैं। 

बताया जाता है कि पूजा स्पेशल ट्रेनों का किराया कोविड स्पेशल ट्रेनों से काफी अधिक है। इसके चलते यात्री इन ट्रेनों में रिर्जवेशन कराने से बच रहे हैं। वहीं भोपाल शताब्दी और हमसफर एसप्रेस भी खाली चल रही हैं। शताब्दी एसप्रेस में तो 200 सीटें तक खाली होती हैं।

जानकारी अनुसार भोपाल शताब्दी, हमसफर, झांसी-बांद्रा स्पेशल, ग्वालियर-बरौनी, ओखा-गोरखपुर, एर्नाकुलम-बरौनी, मुंबई-गोरखपुर, पुणे-गोरखपुर, छपरा स्पेशल, इंदौर-राजेंद्र नगर साप्ताहिक, विशाखा पट्नम-हजरत निजामुद्दीन त्योहार स्पेशल, छाीसगढ़ त्योहार स्पेशल, उप्र संपर्क क्रांति, छाीसगढ़ संपर्क क्रांति ट्रेन हैं।

प्लेटफार्म पर बेवजह घूम रहे दो युवक गिरफ्तार

ग्वालियर। कोविड काल के चलते प्लेटफार्म पर केवल आरक्षित टिकट से ही रेल से सफर करने वाले यात्रियों को एंट्री दी जा रही है। बीती रात प्लेटफार्म पर बिना टिकट के घूम रहे दो युवकों को गश्त कर रहे आरपीएफ के जवानों ने एंट्री प्रतिबंधित होने का हवाला देकर बाहर जाने को कहा। 

आरपीएफ के उपनिरीक्षक एचके वैद्य प्लेटफार्म नंबर एक पर गश्त कर रहे थे। तभी स्वचलित सीढिय़ों के पास दो युवक उन्हें दिखे तो एसआई ने दोनों युवकों से आरक्षित टिकट दिखाने को कहा। युवकों ने कहा कि वे तो प्लेटफार्म पर घूमने के लिए आए हैं। यह बात सुनते ही उप निरीक्षक वैद्य ने तत्काल प्लेटफार्म से बाहर जाने को कहा। लेकिन युवकों को यह बात इतनी बुरी लगी कि दोनों ने प्लेटफार्म से बाहर जाने से इनकार कर दिया और जवानों से भिड़ गए, विवाद का पता चलते ही अन्य जवानों को मौके पर बुलाकर प्लेटफार्म पर आवारागर्दी कर रहे महेन्द्र सिंह व रामू शाक्य को रेलवे एक्ट के तहत गिरफ्तार कर हवालात पहुंचा दिया। 

31 अक्टूबर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here