Loading...    
   


MP CORONA: 24 घंटे में 33 मौतें लेकिन कई दिनों बाद डिस्चार्ज मरीजों की संख्या पॉजिटिव से ज्यादा - UPDATE NEWS

भोपाल
। संचालनालय स्वास्थ्य सेवाएं द्वारा जारी कोरोनावायरस वीडियो बुलेटिन में कई दिनों के बाद थोड़ी सी राहत वाले आंकड़े दिखाई दे रहे हैं। हालांकि मरीजों की मौतों की संख्या कम नहीं हुई है, 24 घंटे में 33 नागरिकों की दर्दनाक मौत हो गई लेकिन संतोषजनक यह है कि कई दिनों के बाद आज डिस्चार्ज हुए मरीजों की संख्या पॉजिटिव पाए गए नागरिकों से ज्यादा है। इतना ही नहीं कल की रिपोर्ट में नजर आया जानलेवा 16% पॉजिटिविटी रेट आज की रिपोर्ट में घटकर 9.3% रह गया। यह मध्य प्रदेश के शुरुआती पॉजिटिविटी रेट से ज्यादा है परंतु इस महीने ज्यादातर दिनों में पाए गए पॉजिटिविटी रेट से कम है। 

MADHYA PRADESH CORONA BULLETIN 17 SEPTEMBER 2020

संचालनालय स्वास्थ्य सेवाएं, मध्य प्रदेश द्वारा जारी कोरोनावायरस मीडिया बुलेटिन दिनांक 17 सितंबर 2020 (शाम 6:00 बजे तक) के अनुसार पिछले 24 घंटे में:- 
25 596 सैंपल की जांच की गई।
109 सैंपल रिजेक्ट हो गए।
23205 सैंपल नेगेटिव पाए गए।
2391 सैंपल पॉजिटिव पाए गए।
33 मरीजों की मौत हो गई।
2863 मरीज डिस्चार्ज किए गए।
मध्यप्रदेश में संक्रमित नागरिकों की कुल संख्या 97906 
मध्यप्रदेश में कोरोनावायरस से मरने वालों की संख्या 1877 
मध्यप्रदेश में कोरोनावायरस से स्वस्थ हुए नागरिकों की संख्या 74398 
17 सितंबर 2020 को संक्रमित नागरिकों की संख्या 21631
17 सितंबर 2020 को मध्यप्रदेश में संक्रमित इलाकों की संख्या 7707 

mp corona status today and update 

मध्यप्रदेश में एक्टिव केस की संख्या 21663 है। इसका 10000 के नीचे होना बहुत जरूरी है नहीं तो अस्पतालों में मरीजों के साथ लूट जारी रहेगी। 
मध्य प्रदेश के कई जिलों से समाचार प्राप्त हुए हैं कि कोविड-19 की लैब रिपोर्ट गलत है। शिवपुरी में एक व्यक्ति के एक साथ दो सैंपल कलेक्ट किए गए। एक पॉजिटिव और दूसरा नेगेटिव पाया गया। 
कोविड-19 की जांच करने वाली लैब को विश्वसनीयता बनाए रखना बहुत जरूरी है। लैब की गलत रिपोर्ट लोगों को लापरवाह बनाती है और महामारी के दिनों में लापरवाही जानलेवा होती है। 
प्राइवेट अस्पतालों की शिकायतें लगातार बढ़ रही हैं। कोरोनावायरस पॉजिटिव मरीजों को अस्पतालों में कैदी की तरह व्यवहार किया जा रहा है। सरकारी अस्पतालों में मोबाइल फोन छीन लिए गए हैं। सरकार को इस तरह की शिकायतों पर कार्यवाही के लिए डायल 100 जैसी व्यवस्था करनी चाहिए।




17 सितम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here