नाबालिग लड़की ने विवाहित सहेली का अपहरण कर 90 हजार में बेच दिया / JABALPUR NEWS

जबलपुर। मध्य प्रदेश के जबलपुर शहर में संजीवनी नगर थाना 24 वर्षीय महिला का क्षेत्र में रहने वाली किशोरी ने अपने साथी के साथ अपहरण किया और उसे दमोह व टीकमगढ़ के दो युवकों को 90 हजार में बेच दिया। महिला के साथ आरोपितों ने दुष्कर्म किया और बंधक बनाए रहे। किसी तरह से महिला आरोपितों के चंगुल से निकली और थाने में शिकायत दर्ज कराई गई। पुलिस ने तीन आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है।

जबलपुर। संजीवनी नगर टीआई भूमेश्वरी चौहान ने बताया कि विवाहित युवती की एक तीन वर्ष की बेटी है। बीते 24 जुलाई को वह पैसे निकालने धनवंतरी नगर स्थित बैंक गई थी। वहां से घर लौटते समय उसी की मोहल्ले में रहने वाली 15 वर्षीय किशोरी भूकम्प कॉलोनी निवासी सुनील रजक के साथ मिली। दोनों कार से थे। किशोरी ने महिला को घर छोडऩे की बात कह कार में बिठा लिया। दोनों युवती को उसके घर की बजाय गलियों से होते हुए कहीं और ले जाने लगे। युवती ने कार से कूदने का प्रयास किया तो किशोरी और सुनील ने उसकी बेटी की हत्या की धमकी दी।

आरोपित किशोरी और उसके साथी सुनील ने महिला को तेजगढ़ दमोह रोड के जंगल में ले गए। जहां महिला को दमोह निवासी नरेंद्र सिंह लोधी और टीकमगढ़ निवासी दशरथ लोधी को बेच दिया। आरोपित नरेंद्र और दशरथ महिला को खरीदने के बाद बेडिया गांव ले गए। जहां उसे एक घर में बंधक बनाकर दुष्कर्म किया। 9 अगस्त को महिला मौका मिलते ही भागी और जंगल में छिप गई। वहीं एक व्यक्ति की मदद से महिला ने अपने स्वजन को फोन किया। उसके स्वजन उसे 10 अगस्त की रात को शहर ले आए। आरोपित किशोरी, सुनील रजक और नरेंद्र को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं दशरथ की तलाश की जा रही है।

इसके बाद गुरुवार को दोनों थाने पहुंचे और पूरे वाकए की जानकारी दी। संजीवनी नगर पुलिस ने मामले में धारा 366, 376 (2)(एन), 370 ए, 506, 34 भादवि का प्रकरण दर्ज कर लिया। आरोपियों से पूछताछ में पता चला कि 90 हजार रुपए में किशोरी को सुनील ने 10 हजार रुपए दिए थे। जबकि सुनील और नरेंद्र ने 40-40 हजार रुपए लिए थे। किशोरी ने पांच हजार रुपए के कपड़े और पांच हजार रुपए का मोबाइल खरीदा है। पुलिस ने सुनील व नरेंद्र को रिमांड पर लिया है।

15 अगस्त को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार