Loading...    
   


संसद के मानसून सत्र की तैयारियां पूरी, 14 से शुरू होगा, पढ़िए इस बार क्या होगा / NATIONAL NEWS

नई दिल्ली। भारत के सर्वोच्च सदन संसद (लोकसभा एवं राज्यसभा) के मानसून सत्र की तैयारियां पूरी कर ली गई है। अधिसूचना जारी नहीं हुई है परंतु सूत्र बताते हैं कि 14 सितंबर से सत्र की शुरुआत होगी। इस बार का मानसून सत्र, पिछले वर्षों की तुलना में काफी अलग होगा। सांसदों को सत्र शुरू होने के 72 घंटे पहले रिपोर्ट करना होगा। सभी सांसदों का कोरोनावायरस टेस्ट किया जाएगा। पॉजिटिव पाए जाने वाले सांसदों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

सभी सांसदों के स्टाफ और परिवार का भी कोविड-19 टेस्ट करवाया जाएगा

लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला के मुताबिक, सभी सांसदों के स्टाफ और परिवार का भी टेस्ट किया जाएगा। इसके अलावा संसद सत्र के दौरान भी रैंडम टेस्ट किए जाएंगे। सभी सांसदों के टेस्ट करवाने की व्यवस्था संसद परिसर में ही करवाई जाएगी, ये टेस्ट सत्र शुरू होने से पहले ही किए जाएंगे। संसद का सत्र शुरू होने से पहले सेंट्रल हॉल के लिए सभी पास कैंसल कर दिए गए हैं।

संसद में सुरक्षा के अलावा स्वास्थ्य के लिए भी विशेष सतर्कता

शुक्रवार को ओम बिड़ला ने मॉनसून सत्र से संबंधित तैयारियों को अंतिम रूप देने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय, AIIMS, ICMR, DRDO एवं दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग के विशेषज्ञों के साथ बैठक की। बैठक के दौरान बिड़ला ने निर्देश दिया कि संसद के मॉनसून सत्र के मद्देनजर स्वास्थ्य सुरक्षा को लेकर विशेष सतर्कता बरती जाए और संसद परिसर में भी स्वास्थ्य जांच के लिए व्यापक इंतजाम किए जाएं।

हर रोज संसद भवन का सैनिटाइजेशन किया जाएगा

संसद सत्र के दौरान संसद परिसर तथा संसद भवन में प्रवेश के समय थर्मल गन और थर्मल स्कैनर से तापमान की जांच की जाएगी। इसके अतिरिक्त संसद परिसर में सैनिटाइजेशन की व्यवस्था की जाएगी। यहां 40 स्थानों पर टचलैस सैनिटाइजर लगाए जाएंगे तथा इमरजेंसी मेडिकल टीम और एम्बुलेंस की व्यवस्था रहेगी। पूरे परिसर में COVID-19 से बचाव के दिशा-निर्देशों को सख्ती से पालन किया जाएगा। 

सिर्फ जरूरी कर्मचारियों की तैनाती की जाएगी

सांसदों के अलावा मॉनसून सत्र के दौरान अधिकारियों और कर्मचारियों की स्वास्थ्य जांच की व्यवस्था भी की जाए। इस संदर्भ में, कर्मचारियों के लिए विस्तृत गाइडलाइन बनाई जा रही हैं, जरूरत होने पर कर्मचारियों की संख्या भी कम की जा सकती है। 

इस बार मात्र 100 पत्रकारों को संसद की रिपोर्टिंग की अनुमति दी जाएगी

सदन में सत्र के दौरान लोकसभा व राज्यसभा के मीडियाकर्मियों की अधिकतम संख्या 100 रहेगी, साथ ही हर मीडियाकर्मी का कोरोना टेस्ट होगा। गौरतलब है कि मार्च में कोरोना वायरस संकट आने के बाद पहली बार संसद का सत्र शुरू हो रहा है, जिसके लिए कई तरह की विशेष व्यवस्थाएं की गई हैं।

मानसून सत्र में कुल 18 बैठकें होंगी

आपको बता दें कि इस बार के सेशन में कई तरह की सावधानियां कोरोना वायरस संकट के चलते बरती जा रही हैं। 14 सितंबर से शुरू होने वाला सत्र 1 अक्टूबर तक चलेगा। इस दौरान संसद की कुल 18 बैठकें होनी हैं।

लोकसभा और राज्यसभा को शिफ्ट के हिसाब से चलाया जाएगा

इस दौरान दोनों सदनों को शिफ्ट के हिसाब से चलाया जाएगा। हर दिन के पहले 4 घंटे राज्यसभा काम करेगी और अगले 4 घंटे लोकसभा। हालांकि सत्र के शुरुआती दिन पहले हॉफ में लोकसभा की बैठक होगी। क्योंकि नियमों के मुताबिक, स्पीकर ओम बिड़ला को औपचारिक रूप से सदन के सदस्यों से अनुमति लेनी होगी ताकि अपने कक्ष का इस्तेमाल किसी अन्य प्रायोजन के लिए किया जा सके।

सांसदों को छुट्टी नहीं दी जाएगी, शनिवार रविवार को भी कामकाज होगा

इस दौरान किसी तरह की छुट्टी नहीं होगी, यानी शनिवार-रविवार को भी सदन चल सकता है। संसदीय मंत्री के मुताबिक, अगर हफ्ते के अंत में छुट्टी होती है तो सांसद बाहर यात्रा पर निकल सकते हैं जिससे खतरा बढ़ सकता है।

28 अगस्त को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

1 सितंबर से स्कूल/कॉलेज खुलेंगे या नहीं, भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया
सऊदी अरब में बारिश क्यों नहीं होती है 
BF ने शादी से मना किया, रेप केस दर्ज / लड़का बोला ब्लैकमेल कर रही है
मध्य प्रदेश के 6 जिलों में वज्रपात की संभावना, नागरिक सावधान रहें
ज्योतिरादित्य सिंधिया के नागपुर प्रवास के बाद कमलनाथ और शिवराज सिंह मिले
दूध को दही बनाने वाले चमत्कारी पत्थर में क्या खास है, कहां मिलता है, नाम क्या है
सिंधिया के मोदी कैबिनेट में शामिल होने के आसार
स्कूल फीस मामले में CBSE ने मध्यप्रदेश हाईकोर्ट में जवाब पेश किया
क्या आप एक शब्द में भारत की सभी विश्व सुंदरियों के नाम बता सकते हैं, यहां पढ़िए
MPPEB द्वारा स्थगित प्रवेश परीक्षाएं कब से आयोजित की जाएंगी, यहां पढ़िए
पेट में गुटर गुटर क्यों होती है ?
मोबाइल फोन में नंबर डायल करने का सुपर फास्ट तरीका कौन सा है, यहां पढ़िए
भोपाल में ऑनलाइन गेम में हारने पर नाबालिग ने सुसाइड कर लिया
MP IAS TRANSFER LIST / मप्र आईएएस अफसरों के तबादले
इंदौर के 37 कॉलेजों में 50 करोड़ का स्कॉलरशिप फ्रॉड
मध्यप्रदेश में छोटे उपभोक्ताओं का 31 अगस्त तक बिजली बिल माफ
COLLEGE EXAM: जनरल प्रमोशन पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला पढ़िए
ग्वालियर में बिजली कंपनी ने ऊर्जा मंत्री की भाभी को एक करोड़ का फायदा पहुंचाया!
मध्यप्रदेश में महिला कर्मचारियों से नाइट ड्यूटी कराई जाएगी
कर्मचारी को तंग करने जारी अटैचमेंट आदेश पर हाईकोर्ट का स्टे
आरक्षण BREAKING / राज्य सरकार को SC/ST में क्रीमी लेयर बनाने का अधिकार: सुप्रीम कोर्ट


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here