Loading...    
   


BU : कुलपति और रजिस्ट्रार में छिड़ा युद्ध,असिस्टेंट प्रोफेसरों का नियमतिकरण बना मुद्दा / BHOPAL NEWS

भोपाल। मध्य  प्रदेश की राजधानी भोपाल में बरकतउल्ला विश्वविद्यालय में छह साल पहले नियुक्त हुए 11 असिस्टेंट प्रोफेसरों और एक असिस्टेंट डायरेक्टर की जांच रिपोर्ट गुरुवार को हुई कार्य परिषद की बैठक में रखी गई। इस रिपोर्ट को लेकर कुलपति और रजिस्ट्रार जमकर भिड़ गए। कुलपति प्रो. आरजे राव रिपोर्ट के आधार पर निरस्त हो चुकी नियुक्तियों को सही कराना चाहते थे। 

उधर, ईसी सदस्यों और रजिस्ट्रार ने इस रिपोर्ट को विराधाभासी बताते हुए राजभवन को सौंपे जाने का निर्णय ले लिया। इसके बाद हंगामा शांत हुआ। इस फर्जीवाड़े में तत्कालीन कुलपति प्रो. एमडी तिवारी हट चुके हैं और रजिस्ट्रार एलएस सोलंकी को भी निलंबित किया गया था।

नियुक्यिों को सही ठहराने वाली रिपोर्ट को ईसी से पास कराने के लिए रखा गया था, लेकिन जब जांच रिपोर्ट की सच्चाई ईसी सदस्यों के सामने आई, तो सदस्यों ने हाथ खड़े कर दिए। सदस्यों का साफ कहना था कि जिन नियुक्तियों के आधार पर कुलपति को हटाया जा चुका है और रजिस्ट्रार को सस्पेंड किया गया था, उसकी जांच रिपोर्ट को ईसी से पास कराकर ईसी सदस्यों को भी फंसाने का काम किया जा रहा है। रजिस्ट्रार ने भी ईसी में जांच रिपोर्ट को रखे जाने का विरोध किया। इसके बाद इसे राजभवन को सौंपे जाने का निर्णय हुआ।

ईसी में रखी गई जांच रिपोर्ट पर बीयू रजिस्ट्रार डॉ. बी भारती का कहना है कि राजभवन द्वारा कराई गई जांच रिपोर्ट में विरोधाभास है। जांच रिपोर्ट कहती है कि नियुक्तियों में गड़बड़ी हुई, छानबीन समिति ने सही काम नहीं किया और बाद में नियुक्यिों को सही ठहरा दिया जाता है। ऐसे में इस रिपोर्ट को सभी ईसी सदस्यों की सहमति से राजभवन को सौंपे जाने का निर्णय हुआ है।

इन नियुक्तियों में एक ही दिन में उम्मीदवारों के साक्षात्कार कर लिए थे। कई उम्मीदवारों के दस्तावेजों में भी गड़बड़ी मिली थी। साक्षात्कार होने के बाद रजिस्ट्रार सोलंकी ने रातों-रात उम्मीदवारों के नियुक्ति पत्र जारी किए थे। उस समय गोहिल ने कुलपति डॉ. मुरलीधर तिवारी के साथ रजिस्ट्रार सोलंकी सहित कई अधिकारी और कर्मचारियों के बयान दर्ज किए थे। इस मामले की जांच रिपोर्ट वर्ष 2016 में ही पूरी हो गई थी, लेकिन रिपोर्ट सामने नहीं आ रही थी। जब रिपोर्ट ईसी में रखी गई, तो सदस्यों ने इस पर हंगामा कर दिया।


11 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

ग्वालियर से विकास दुबे के कनेक्शन पान मसाला व्यापारी पांडे बंधु गिरफ्तार
शिक्षक, कोरोना के बाद स्कूल ड्यूटी पर आ गए, कमिश्नर DPI ट्रांसफर पॉलिसी नहीं बना पाईं 
यदि कहीं कोहनी टकरा जाए तो करंट सा क्यों लगता है
पंखा चलाने से धूल उड़ती है तो फिर पंखुड़ी पर क्यों चिपक जाती है
भोपाल में माँ ने BF से चैटिंग करने मना किया तो इंपीरियल हारमनी की छठवीं मंजिल से कूदी छात्रा, मौत
जबलपुर अपर आयुक्त की बेटी के विवाह में कोरोना फैला, अब तक 10 पॉजिटिव
सरकारी नोटिस का पालन नहीं किया तो FIR भी हो सकती है, पढ़िए कैसे
इंदौर में 17 साल छोटे बॉयफ्रेंड ने 45 साल की ब्यूटी पार्लर संचालिका की हत्या की
BIG NEWS! जबलपुर में पटरी पर सफलतापूर्वक दौड़ी बैटरी वाली बड़ी यात्री ट्रेन
IAS बनना है तो निबंध के साथ एक बात और याद रखें: UPSC टॉपर वैशाली सिंह ने बताया
राज्य शिक्षा केन्द्र: व्यापमं पास कर्मचारियों की फिर से परीक्षा ले रहा है
भोपाल का एक इलाका 12 से 19 जुलाई तक लॉकडाउन, कलेक्टर के आदेश
संदेशवाहक कबूतर प्राप्तकर्ता का पता कैसे खोज लेते थे, पढ़िए मजेदार रहस्य की बात
विकास दुबे: देखिए किस गाड़ी में सवार था कौन सी पलटी, शिवपुरी में तो मुस्कुरा रहा था
पहले कह रहे थे जिंदा क्यों पकड़ लिया, अब पूछ रहे हैं मर कैसे गया: गृह मंत्री मध्यप्रदेश
मध्य प्रदेश कोरोना: एक्टिस केस की संख्या 3500 के पार, 5 जिलों में 100 से ज्यादा


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here